बीएसपी के 38 अधिकारियों और कर्मचारियों ने 200 नारे से बयां किया सेल के गौरवशाली 50 वर्ष में हिंदी का योगदान

0
Slogan Competition Award Ceremony Concluded 1
समारोह के मुख्य अतिथि भिलाई इस्पात संयंत्र के कार्यकारी कार्यपालक निदेशक (कार्मिक एवं प्रशासन संदीप वी नंदनवार थे।
AD DESCRIPTION

नारा प्रतियोगिता का पुरस्कार समारोह संपन्न। प्रथम, द्वितीय, तृतीय एवं तीन प्रोत्साहन पुरस्कार प्रदान किए गए।

सूचनाजी न्यूज, भिलाई। भिलाई इस्पात संयंत्र, राजभाषा विभाग द्वारा आयोजित “सेल के गौरवशाली 50 वर्ष-हिंदी का योगदान” विषय पर संयंत्र स्तरीय नारा प्रतियोगिता का पुरस्कार वितरण समारोह इस्पात भवन में हुआ। समारोह के मुख्य अतिथि भिलाई इस्पात संयंत्र के कार्यकारी कार्यपालक निदेशक (कार्मिक एवं प्रशासन संदीप वी नंदनवार थे।

ये खबर भी पढ़े …सेल एग्रीमेंट के शब्द में बदलाव होते ही अब सभी कर्मी बोनस के लिए पात्र

AD DESCRIPTION AD DESCRIPTION

नारा प्रतियोगिता की निर्णायक महाप्रबंधक (शिक्षा) शिखा दुबे एवं महाप्रबंधक (कार्मिक-चिकित्सा) आर रंजनी थी। प्रतिभागियों को निर्णायक मंडल के द्वारा की अनुशंसा के आधार पर प्रथम, द्वितीय, तृतीय एवं तीन प्रोत्साहन पुरस्कार प्रदान किए गए।

ये खबर भी पढ़े …इस्पात मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया व फग्गन सिंह कुलस्ते पहुंचे सेल कारपोरेट आफिस, आलमारी तक खंगाला, जानें और क्या हुआ…

निर्णायक अभियुक्ति प्रस्तुत करते हुए महाप्रबंधक (शिक्षा) शिखा दुबे ने कहा कि नारा लेखन अत्यंत चुनौतीपूर्ण कार्य होता है, जिसमें नारे के विषय को ध्यान में रखते हुए शब्द सीमा के साथ ही साथ प्रभावोत्पादकता, प्रवाह और काव्यात्मकता का भी विशेष ध्यान रखना पड़ता है। अतः वे प्रतिभागी जो पुरस्कृत ना हो सके, वे भी सराहना और बधाई के पात्र हैं।

ये खबर भी पढ़े …घर पर ही हो इलाज, मुख्यमंत्री शहरी स्लम स्वास्थ्य योजना के साथ, ढाई लाख श्रमिकों की भी सुधरी सेहत

ये खबर भी पढ़े …नाइट एलाउंस और बकाया एरियर पर अब आई बात, डायरेक्टर पर्सनल केके सिंह बोले-दीपावली बाद शुरू होगी मीटिंग, इसी साल बढ़ेगा रात्रि भत्ता

मुख्य अतिथि कार्यकारी कार्यपालक निदेशक (कार्मिक एवं प्रशासन) संदीप वी नंदनवार ने कहा कि नारा लेखन एवं अन्य विविध प्रतियोगिताओं में भाग लेने से कार्मिक साथियों की सृजनशीलता और कल्पनाशक्ति में सार्थक वृद्धि होती है। जो कि उनके जीवन में सकारात्मक परिवर्तन लाने के लिए लाभकारी होता है। नारा प्रतियोगिता के समस्त प्रतिभागी श्रेष्ठ हैं और बधाई के पात्र तथा विजेता हैं। राजभाषा विभाग की प्रतियोगिताएं न केवल भाषा के दृष्टिकोण से वरन व्यक्तिगत विकास के लिए भी अत्यंत उपयोगी होती हैं। अतएव प्रत्येक कार्मिक को इन प्रतियोगिताओं सहित समस्त कार्यक्रमों में अवश्य भाग लेना चाहिए।

ये खबर भी पढ़े … शेयर मार्केट की आंधी में उड़ गए Adani, कोल इंडिया, SAIL, JSW और बैंकिंग सेक्टर के भाव, निवेशकों को भारी नुकसान

उप महाप्रबंधक (संपर्क व प्रशासन एवं प्रभारी राजभाषा) सौमिक डे ने बताया कि भारत सरकार, गृह मंत्रालय, राजभाषा विभाग के दिशा-निर्देशों के तहत राजभाषा विभाग हिंदी के प्रचार-प्रसार व हिंदी के प्रगामी प्रयोग में निरंतर गुणात्मक वृद्धि के लिए सतत प्रयासरत है और इसी के अनुरूप प्रत्येक माह एक प्रतियोगिता का आयोजन करने के लिए प्रतिबद्ध है।

ये खबर भी पढ़े …सेल कर्मचारियों व ट्रेनीज के खाते में 21 या 22 अक्टूबर को आएगी बोनस की रकम

कार्यक्रम का संचालन करते हुए सहायक प्रबंधक (संपर्क व प्रशासन-राजभाषा) जितेन्द्र दास मानिकपुरी ने बताया कि नारा प्रतियोगिता में कुल 38 प्रतिभागियों ने अपनी प्रविष्टियां दी थी, जिनके माध्यम से 200 से अधिक नारे प्राप्त हुए। पुरस्कार विजेताओं में शामिल हैं प्रथम-स्मिता जैन, सहायक महाप्रबंधक (वित्त एवं लेखा), द्वितीय-हरीश कुमार देवांगन, सीनियर टेक्नीशियन (मार्स-2), तृतीय-विटेश्वर नाथ, सहायक प्रबंधक (एसपी-3), सांत्वना पुरस्कार-नेहा रानी, प्रबंधक (वित्त एवं लेखा), केके नशीने, एमओसीटी (आरएमपी-3) एवं मिथिलेश कुमार सोनबोइर, मास्टर टेक्नीशियन (एसपी-3)। कार्यक्रम में धन्यवाद ज्ञापन मनोज सोनी (कनिष्ठ अनुवादक सह समन्वयक) राजभाषा विभाग ने किया।

ये खबर भी पढ़े …बोनस मीटिंग के ये दो नेता हैं सेल कर्मचारी, बंगाल पड़ा सब पर भारी…

AD DESCRIPTION AD DESCRIPTION

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here