67th National Railway Awards 2022: 156 रेलकर्मियों को उत्कृष्ट सेवा सम्मान, राजस्व, सुरक्षा और प्रोजेक्ट पर बेहतर काम करने वालों का बढ़ा मान, मंत्री ने बड़े लक्ष्य पर दिलाया ध्यान

क्षेत्रीय रेलवे, उत्पादन इकाइयों और सार्वजनिक उपक्रमों के बीच दक्षता के लिए दिया 21 शील्ड। पश्चिम मध्य रेलवे जबलपुर ने समग्र दक्षता के लिए पंडित गोविंद बल्लभ पंत शील्ड प्राप्त किया।

सूचनाजी न्यूज, जबलपुर: 67वें राष्ट्रीय रेल पुरस्कार समारोह-2022 का आयोजन इस बार पूर्व तट रेलवे के तत्वावधान में रेलवे सभागार भुवनेश्वर में किया गया है। केंद्रीय रेल, संचार और इलेक्ट्रॉनिक्स और सूचना प्रौद्योगिकी मंत्री अश्‍व‍िनी वैष्णव ने मुख्य अतिथि के रूप में इस अवसर की शोभा बढ़ाई।

उत्कृष्ट रेलकर्मियों और क्षेत्रीय रेलवे, उत्पादन इकाइयों और सार्वजनिक उपक्रमों को सेवा और दक्षता में उनके समर्पण के लिए सम्मानित किया। इससे पहले रेलवे बोर्ड के अध्यक्ष और सीईओ वीके.त्रिपाठी ने अपने स्वागत भाषण में हाल के दिनों में परिवर्तन के साथ भारतीय रेलवे के विकास के बारे में बताया।

ये खबर भी पढ़ें: Paradip Port: माल ढुलाई की लागत घटेगी, स्टील निर्यात को मिलेगा बढ़ावा और कोयले का आयात होगा सस्ता

देश भर के विभिन्न क्षेत्रीय रेलवे के 156 रेल अधिकारीयों एवं कर्मचारियों ने रेल मंत्री से उत्कृष्ट प्रमाण पत्र और पुरस्कार प्राप्त किए। इसके अलावा विभिन्न रेलवे, उत्पादन इकाइयों और रेलवे सार्वजनिक उपक्रमों को उनके उत्कृष्ट प्रदर्शन और दक्षता के लिए 21 शील्ड भी दिए गए।

पूर्वोत्तर रेलवे के छह अधिकारियों-कर्मचारियों को मिला पुरस्कार

रेल मंत्री ने पूर्वोत्तर रेलवे के कुल 06 अधिकारियों/कर्मचारियों को पुरस्कार प्रदान कर सम्मानित किया। इन पुरस्कार प्राप्तकर्ताओं में उप महाप्रबन्धक/सामान्य कृष्ण चन्द्र सिंह, वरिष्ठ मंडल यांत्रिक इंजीनियर रण विजय प्रताप, टेक्निषियन ग्रेड-।।। राम प्रीत, इलेक्ट्रिकल सिगनल मेन्टेनर ग्रेड-। वेद प्रकाश, निरीक्षक, रेलवे सुरक्षा बल, अनिरूद्व राय, सीनियर सेक्शन इंजीनियर/कार्य मनीष यादव सम्मिलित है। इन अधिकारियों एवं कर्मचारियों को तकनीकी उन्नयन, खर्चों में मितव्ययिता हेतु प्रभावी कदम, उत्पादन में सुधार आदि कार्य के साथ ही गाड़ी संचलन, सुरक्षा एवं संरक्षा में सराहनीय योगदान, उत्कृष्ट अनुरक्षण एवं संसाधनों के बेहतर उपयोग लिये रेल मंत्री द्वारा पुरस्कार प्रदान किया गया है।

जानिए कौन-कौन सी श्रेणी में मिला पुरस्कार

इस पुरस्कार समारोह में संरक्षा और सुरक्षा श्रेणी में 10 ट्रैकमैन, जिनमें 08 सुरक्षा श्रेणी और 02 संचालन शामिल हैं को सम्मानित किया गया है। 28 रेलकर्मियों को व्यक्तिगत बहादुरी के सराहनीय कार्य के लिए पुरस्कृत किया गया, जिससे रेलवे में जान-माल की सुरक्षा हो सके। 42 रेलकर्मियों को परिचालन में सुधार, संरक्षा और सुरक्षा, बेहतर रखरखाव और परिसंपत्तियों के उपयोग के लिए किए गए अनुकरणीय कार्यों के लिए सम्मानित किया गया।

28 रेलकर्मियों को नए नवाचारों, प्रक्रियाओं में खर्च में मितव्ययिता, उत्पादकता में सुधार, इत्यादि के लिए सम्मानित किया गया। आय में वृद्धि और बिना टिकट यात्रा एवं चोरी रोकने के लिए 11 रेलकर्मियों को सम्मानित किया गया। 12 रेलकर्मियों को रिकॉर्ड समय में परियोजनाओं को पूरा करने के लिए, 01 कर्मचारी को खेल के क्षेत्र में उत्कृष्ट प्रदर्शन के लिए और 33 रेलकर्मियों को अन्य क्षेत्रों में उत्कृष्ट प्रदर्शन के लिए सम्मानित किया गया।

ये खबर भी पढ़ें: कोयले की बोली लगाने और एक्सचेंज में बिजली बेचने वाले निजी उत्पादकों के लिए आयातित कोयले के साथ 10 प्रतिशत की ब्लेंडिंग अनिवार्य

पश्चिम मध्य रेल के महाप्रबंधक सुधीर कुमार ने हासिल किया शील्ड

रेल मंत्री से पश्चिम मध्य रेल के महाप्रबंधक सुधीर कुमार गुप्ता एवं अपर महाप्रबंधक शोभन चौधुरी ने समग्र दक्षता के लिए पंडित गोविन्द बल्लभ पंत शील्ड प्राप्त की। इसके साथ ही महाप्रबंधक एवं प्रमुख मुख्य मैकेनिकल इंजीनियर ने व्यक्तिगत तौर पर पर रोलिंग स्टॉक शील्ड एवं प्रमुख मुख्य चिकित्सा निदेशक ने व्यापक स्वास्थ देखभाल शील्ड, प्रमुख मुख्य कार्मिक अधिकारी ने कार्मिक प्रबंधन शील्ड और प्रमुख मुख्य भण्डार प्रबंधक ने बिक्री प्रबंधन शील्ड सयुंक्त रूप सहित कुल पांच शिल्ड प्राप्त किया गया। इसके अलावा पमरे 01 अधिकारी एवं 05 कर्मचारियों ने व्यक्तिगत तौर पर उत्कृष्ट प्रमाण पत्र और पुरस्कार प्राप्त किए।

ये खबर भी पढ़ें: टाटा के कर्मचारियों के लिए ‘56 का समझौता’ गीता-बाइबिल और कुरआन के कम नहीं, 94 साल से एक भी हड़ताल नहीं, औद्योगिक शांति ही शांति

मंत्री ने बड़े गोल्स पर किया फोकस

रेल मंत्री ने सम्बोधित करते हुए कहा कि जिन्होंने पुरस्कार जीता, उन सबको बधाई और साथ ही उन्हें भी जिन्होंने इस पुरस्कार को दिलाने अपना सहयोग दिया है। इन सबको उससे ज्यादा बधाई देता हूं। उन्होंने कहा कि हम सब मिलकर मेहनत के साथ-साथ छोटे गोल्स की बजाय बड़े गोल्स पर मेहनत की पराकाष्ठा करेंगे। सम्बोधन के अंत में अपने आनंद वाली भावनाओं को शेयर करते हुए सभी रेल कर्मचारियों एवं रेलवे पेंशनरों सहित करोड़ों लोगों का आभार व्यक्त किया।

रेलवे बोर्ड के अधिकारी भी रहे मौजूद

रेलवे बोर्ड के सदस्य मोहित सिन्हा, सदस्य (वित्त),ओ.पी. सिंह, सदस्य (इन्फ्रास्ट्रक्चर), डीसी. शर्मा, सदस्य (ट्रैक्शन एंड रोलिंग स्टॉक), एसके. मोहंती, सदस्य (संचालन और व्यवसाय विकास) और आरएन. सिंह, सचिव, रेलवे बोर्ड, इस अवसर पर देश के सभी क्षेत्रीय रेलों के महाप्रबंधक, रेलवे की उत्पादन इकाइयां और रेलवे के सार्वजनिक उपक्रमों के साथ उच्च स्तरीय अधिकारी जैसे कार्यकारी निदेशक भी उपस्थित थे।

ये खबर भी पढ़ें: कैम्पस प्लेसमेंट ड्राइव में बोकारो (प्रा.) आईटीआई के 158 बच्चों को दिया गया ऑफर लेटर

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!