BSP हादसा में 85% झुलसे सिखा पर बरसी परमेश्वर की कृपा, 4 माह में 160 बोतल चढ़ा खून, सेक्टर-9 अस्पताल में मना जश्न, इधर-घर में गूंजी किलकारी

0
bsp parmeshwer sikha
एक जून को ब्लास्ट फर्नेस के एसपीजी में कार्य के दौरान ठेका परमेश्वर सिखा झुलस गया था, जबकि एक अन्य मजदूर की मौत हो गई थी।
AD DESCRIPTION

इन 4 महीनों में परमेश्वर के 6 मेजर ऑपरेशन हुए और लगभग 160 बोतल खून लगाया गया। कई बार ऐसा लगा कि अब मरीज का बचना मुश्किल है। सांसे उखड़ने लगती थी

अज़मत अली, भिलाई। जिंदगी की जंग जीत कर घर लौटे परमेश्वर सिखा को नजरों को सामने देख हर कोई हैरान है। बीएसपी के एसजीपी हादसा में 85% झुलसे परमेश्वर को नई जिंदगी मिली है। सेक्टर-9 हॉस्पिटल के बर्न वार्ड के चिकित्सकों ने असंभव को संभव करके दिखाया है। चार माह के कठिन इलाज के दौरान 160 बोतल खून चढ़ाया गया। लाखों रुपए का इंजेक्शन लगाया गया। आखिरकार परमेश्वर को नई जिंदगी मिल गई।

ये खबर भी पढ़ें…अंग्रेजों के जमाने के इस्को बर्नपुर क्रिकेट क्लब के BAR पर सेल प्रबंधन का ताला, नोटिस चस्पा होते ही मचा बवाल

AD DESCRIPTION AD DESCRIPTION

डिस्चार्ज होने से पहले परमेश्वर के घर में किलकारी भी गूंजी। हादसे के समय पत्नी गर्भवती थी। जिंदगी-मौत से जूझने वाले परमेश्वर की पत्नी को लेकर सब बेचैन थे। इधर-डिस्चार्ज होने की तैयारी शुरू हुई। उधर-पत्नी ने घर में एक और खुशियां लौटा दी। भिलाई इस्पात संयंत्र के ब्लास्ट फर्नेस-7 के एसजीपी में एक जून को अग्नि कांड हुआ था। जिसमें एक मजमदूर की मौत हो गई थी, जबकि परमेश्वर दुर्घटना में 85% झुलस गया था।

ये खबर भी पढ़ें…SAIL प्रबंधन और यूनियन ने खींची लकीर, दुर्गा पूजा खत्म होते होगी बोनस मीटिंग, प्रबंधन-यूनियन के लफड़े में नहीं फंसा चाह रहे कर्मचारी

इन 4 महीनों में डाक्टर उदय और उनकी टीम ने परमेश्वर के 6 मेजर ऑपरेशन किए और लगभग 160 बोतल खून चढ़ाया। कई बार ऐसा लगा कि अब मरीज का बचना मुश्किल है। सांसे उखड़ने लगती थी। परंतु भगवान की मर्जी, मरीज परमेश्वर के जीने की इच्छा शक्ति, उच्च प्रबंधन द्वारा त्वरित सहयोग और सीएमओ इंचार्ज डॉ. रविंद्रनाथ और सीएमओ डॉ. प्रमोद बिनायके के मार्गदर्शन में संपूर्ण टीम के सहयोग एवं बर्न विभाग की टीम की तत्परता, कठिन परिश्रम, लगन ने चमत्कार कर दिखाया, क्योंकि 85% जलने पर बचने की संभावना नहीं होती है।

ये खबर भी पढ़ें…सेल के खिलाफ कोर्ट केस का असर, LTC-LLTC की रिकवरी अब आधी से भी कम…

परमेश्वर के डिस्चार्ज होने से पहले बर्न वार्ड में जश्न का माहौल था। एक सक्सेस पार्टी रखी गई। खानपान के पश्चात मरीज परमेश्वर को नया कुर्ता पायजामा, उसके नवजात शिशु के लिए ड्रेस, बर्तन और कुछ नकद राशि बर्न विभाग टीम द्वारा भेंट की गई। बर्न वार्ड से निकलते समय संपूर्ण बर्न विभाग टीम और अन्य मरीजों ने तालियां बजाकर परमेश्वर सिखा का हौसला बढ़ाया। कैजुअल्टी में सीएमओ डॉक्टर प्रमोद बिनायके ने मरीज को शुभकामनाएं देते हुए घर भेजा।

ये खबर भी पढ़ें…बधाई हो! भिलाई स्टील प्लांट के इंस्ट्रूमेंटेशन डिपार्टमेंट ने वाकई सेफ्टी को किया आत्मसात, चार साल से एक भी हादसे नहीं…

AD DESCRIPTION AD DESCRIPTION

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here