भिलाई स्टील प्लांट के आवास में हादसा, बाल-बाल बची कर्मी के परिवार की बची जान

सूचनाजी न्यूज, भिलाई। भिलाई स्टील प्लांट के कर्मचारी के परिवार की जान बाल-बाल बच गई। जर्जर आवास का प्लास्टर टूटकर गिर गया। सेक्टर-1 स्ट्रीट नंबर-31 आवास संख्या 3/A के रसोई घर का प्लास्टर टूटकर गिर गया। गनिमत था कि जिस वक्त घटना हुई, उस वक्त परिवार के सदस्य दूसरे कमरे में थे। अन्यथा बड़ा हादसा हो सकता था। रसोई में रखा सामान भी खराब हो गया।

सूचनाजी.कॉम में खबर प्रकाशित होते ही नगर सेवाएं विभाग के इंजीनियरिंग डिपार्टमेंट के महाप्रबंधक संजय कुमार खुद मौके पर पहुंचे। मातहत अधिकारियों को निर्देशित किया कि तत्काल यहां की सफाई करने के बाद मरम्मत कार्य शुरू किया जाए। चंद घंटे के अंदर ही पूरा विभाग सक्रिय हो गया। इसी बीच सीटू के पदाधिकारी डीवीएस रेड्‌डी और जोगा राव भी मौके पर पहुंचे। परिवार से जानकारी ली और विभागीय अधिकारियों के साथ चर्चा की।

बीएसपी वर्कर्स यूनियन के अध्यक्ष उज्जवल दत्ता ने भी मौका मुआयना किया। उन्होंने बताया कि बीएसपी के ज्यादातर मकानों की हालत जर्जर है। बार-बार नगर प्रशासन विभाग के साथ बैठक में यूनियन ने इस संबंध में उन्हें तत्काल कार्यवाही करने हेतु आग्रह किया है। परंतु नगर प्रशासन विभाग द्वारा इस संबंध में किसी प्रकार की अभी तक कार्रवाई नहीं किया गया है। इस कारण से ज्यादातर कर्मचारियों की जान ही खतरे में आ गई है।

ये खबर भी पढ़ें: सेल का कर्मचारी गांव से घर लौटा तो पत्नी के साथ कमरे में मिला कोई और, मारपीट में कर्मी जख्मी, किसी तरह बची जान, अस्पताल में भर्ती

भिलाई इस्पात संयंत्र के कर्मी मकानों में सिविल मेंटेनेंस एवं टारफेल्टिंग के लिए लगातार नगर प्रशासन विभाग का चक्कर लगाते हैं, उनका काम होना तो दूर वरन कर्मियों के साथ दुर्व्यवहार किया जाता है। जिसकी शिकायत नगर प्रशासन विभाग से लगातार की जा रही है। परंतु इस पर भी कोई कार्रवाई अभी तक नहीं हो रही है

ये खबर भी पढ़ें: सेल कर्मचारियों को डी-मोटिवेट करता नॉन फाइनेंसियल मोटिवेशन स्कीम, पीआरपी की रकम दबा दिए, कर्मचारियों के गिफ्ट में बंटवारा

बीएसपी वर्कर्स यूनियन ने भिलाई इस्पात संयंत्र प्रबंधन से मांग किया कि तत्काल बीएसपी कर्मी के मकान का मेंटेनेंस किया जाए और जब तक कार्य चल रहा है, कर्मी को अन्य मकान उपलब्ध कराया जाए। कर्मियों को मकान लेने में जो सीनियरिटी के नाम पर बाधा बनाकर रखा गया है, उसे हटाया जाए।

ये खबर भी पढ़ें: नई प्रमोशन पॉलिसी को लेकर ट्रेड यूनियनों में बढ़ी तकरार, एचएमएस का जुबानी हमला, कहा-बगैर लाभ कर्मचारियों की बढ़ेगी जिम्मेदारी

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!