एसीसी-अंबूजा सीमेंट को टेकओवर करते छंटनी करने जा रहा अडानी ग्रुप!

सूत्रों का कहना है कि मौखिक आदेश को लेकर हर तरफ बेचैनी बढ़ी हुई है। होल्सिम कंपनी में अच्छी सैलरी मिलती थी। अडानी ग्रुप द्वारा टेकओवर करने के बाद सैलरी कम करने के लिए छंटनी का सहारा लिया जा सकता है।

सूचनाजी न्यूज, भिलाई। एससीसी (ACC) और अंबूजा सीमेंट्स (Ambuja Cements) को खरीदने वाले अडानी ग्रुप (Adani Group) के बारे में दावा किया जा रहा है कि छंटनी का दौर शुरू होने जा रहा है। पहली गाज कारपोरेट आफिस में बैठने वाले अधिकारियों पर गिरने जा रही है। इसके बाद यह सिलसिला नीचे तक आएगा। इस खबर को लेकर छत्तीसगढ़ के कर्मचारियों में बेचैनी बढ़ गई है। इस बाबत एसीसी के वरिष्ठ कार्मिकों का कहना है कि यह महज अफवाह है। वहीं, ज्यादातर कार्मिक इसे गंभीरता से ले रहे हैंं। फिलहाल, अडानी ग्रुप की ओर से आधारिक पुष्टि होने के बाद ही सच्चाई सामने आ सकेगी।

छंटनी को लेकर कहीं कोई आधारिक पुष्टि नहीं की गई है। एसीसी के अधिकारियों के मुताबिक दिल्ली में बैठने वाले वरिष्ठ अधिकारी को मौखिक रूप से बोल दिया गया है कि कहीं और नौकरी तलाश लें। सूत्रों का कहना है कि मौखिक आदेश को लेकर हर तरफ बेचैनी बढ़ी हुई है। होल्सिम कंपनी में अच्छी सैलरी मिलती थी। अडानी ग्रुप द्वारा टेकओवर करने के बाद सैलरी कम करने के लिए छंटनी का सहारा लिया जा सकता है। वहीं, जिन अधिकारियों को मौखिक रूप से जवाब दिया गया है-वे होल्सिम कंपनी के संपर्क में बताए जा रहे हैं।

बता दें कि पिछले दिनों छत्तीसगढ़ के एसीसी सीमेंट प्लांट का दौरा करने के लिए गौतम अडानी के बेटे करण अडानी खुद भिलाई पहुंचे थे। सीमेंट प्लांट का दौरा करने के बाद अधिकारियों के साथ बैठक में फीडबैक लिया था। करण अडानी ने बड़ा ख्वाब देखने का सबक दिया था। खदान आवंटन और अन्य प्रक्रिया की जानकारी लेते ही करण ने अधिकारियों को कहा था कि जब लीज आवंटन की प्रक्रिया करा रहे थे तो कम क्यों कराया। ज्यादा की उम्मीद क्यों नहीं रखी गई। ज्यादा के लिए कोशिश करनी चाहिए। इससे कंपनी और कार्मिकों का भला होता है।

करण अडानी ने दुर्ग जिले के जामुल एसीसी सीमेंट प्लांट का दौरा किया था। सीमेंट उत्पादन प्रक्रिया को करीब से देखा और अधिकारियों के साथ बैठक की थी। करण अडानी ने डायरेक्टर्स और वरिष्ठ अधिकारियों के साथ आगे की प्लानिंग पर भी चर्चा की थी। अडानी पोर्ट्स एंड सीईजेड लिमिटेड के सीईओ करण अडानी के दौरे को काफी महत्वपूर्ण माना जा रहा है। एसीसी सीमेंट को टेक ओवर करने के बाद करण अडानी ही इसे देख रहे हैं।

सीमेंट ग्रुप में पहली बार अडानी ने कदम रखा है। उम्मीद जताई जा रही है कि जल्द ही दोबारा दौरा होगा और सामूहिक रूप से कर्मचारियों से संवाद करेंगे। बता दें कि अडानी ग्रुप ने एससीसी और अंबूजा सीमेंट्स को खरीद लिया है। इस तरह अडानी ग्रुप देश में सीमेंट उत्पादन के मामले में दूसरे नंबर पर आ गया है। अडानी ग्रुप ने स्विट्जरलैंड के होल्सिम ग्रुप से इन दो सीमेंट कंपनियों को खरीदा है। रिपोर्ट्स के मुताबिक यह सौदा 10.5 अरब डॉलर यानी करीब 82,000 करोड़ रुपये में हुआ है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!