सीटू के बाद अब बीडब्ल्यूयू आया बीएसपी के राडार पर, अध्यक्ष उज्ज्वल दत्ता व महासचिव खूबचंद वर्मा के खिलाफ कार्रवाई की तैयारी

बीएसपी प्रबंधन की तरफ से कहा जा रहा है कि 25 मई को बिना अनुमति लिए बीएसपी वर्कर्स यूनियन ने आइआर गेट के सामने प्रदर्शन किया था।

सूचनाजी न्यूज, भिलाई। भिलाई स्टील प्लांट प्रबंधन के राडार पर सीटू के बाद बीएसपी वर्कर्स यूनियन आ गया है। प्रबंधन के खिलाफ सड़क पर नारेबाजी और हाय-हाय करने का आरोप लगाया गया है। बीएसपी वर्कर्स यूनियन के अध्यक्ष उज्ज्वल दत्ता और महासचिव खूबचंद वर्मा के खिलाफ नोटिस जारी कर दिया गया है, जिसे इन दोनों नेताओं ने स्वीकार नहीं किया है। बताया जा रहा है कि अगर, नोटिस स्वीकार नहीं करेंगे तो नोटिस बोर्ड पर इसे चस्पा कर दिया जाएगा। साथ ही विभागीय कार्रवाई शुरू हो जाएगी। फिलहाल, मामले को संभालने के लिए यूनियन नेताओं ने उच्च प्रबंधन से संपर्क साधा हुआ है। इस बारे में यूनियन नेताओं ने कुछ भी बोलने से इन्कार कर दिया है। अध्यक्ष का कहना है कि कर्मचारियों के हक के लिए आवाज उठाते हैं और उठाते रहेंगे।

ये खबर भी पढ़ें: बस-आटो में सफर के दौरान मत करना महिलाओं को परेशान, राउरकेला स्टील प्लांट की महिला कार्मिक तोड़ देंगी हडि्डयां श्रीमान

कर्मचारियों का कहना है कि प्रबंधन द्वारा ट्रेड यूनियन नेताओं को नोटिस देने का मामला डिप्टी सीएलसी सेंट्रल आरके पुरोहित के सामने भी उठ चुका है। यूनियन चुनाव की तारीख तय करने के लिए हुई बैठक में इस पर चर्चा की गई थी। यूनियन की तरफ से प्रबंधन पर आरोप लगाया गया कि नोटिस देने की परंपरा प्रबंधन निभा रहा है। यह कर्मचारियों के खिलाफ है। इस पर डिप्टी सीएलसी ने कहा था कि अब वह आब्जर्वर हैं। इसलिए उनके सामने हर चीज आएगी। टेंशन लेने की जरूरत नहीं है। इधर-प्रबंधन की तरफ से कहा जा रहा है कि 25 मई को बिना अनुमति लिए बीएसपी वर्कर्स यूनियन ने आइआर गेट के सामने प्रदर्शन किया था।

ये खबर भी पढ़ें: भिलाई स्टील प्लांट के 31 अधिकारी और 206 कर्मचारी एक साथ रिटायर, बढ़ा काम का दबाव

सेल प्रबंधन हाय-हाय के नारे लगाए गए थे। यातायात को जाम किया गया था। कर्मचारियों को ड्यूटी जाने में दिक्कत हुई। रूट डायवर्ट करना पड़ा था। इसलिए प्रबंधन एक्शन में है। नियम के तहत जो कार्रवाई होगी, की जाएगी। इस पर यूनियन के नेताओं का कहना है कि अनुमति लेकर ही कर्मचारी जुटे थे। 39 माह के एरियर की मांग की जा रही थी। बता दें कि प्रबंधन की ओर से सीटू ठेका यूनियन के महासचिव योगेश सोनी और कमलेश चोपड़ा के खिलाफ भी नोटिस जारी कर विभागीय कार्रवाई की जा रही है।

ये खबर भी पढ़ें: इंटक-मंच आए साथ, तय हुई चुनावी बात, गठबंधन की पहली घोषणा-दिलाएंगे 66 माह का एरियर, एनईपीपी में पदनाम और डिप्लोमा इंजीनियर को जेई

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!