बीएसपी की ऑनलाइन भाषण प्रतियोगिता में आज़ादी की गाथा बयां करने वाली अनामिका, अमृता और इंद्रजीत कौर ने जीते पुरस्कार

सूचनाजी न्यूज, भिलाई। भिलाई इस्पात संयंत्र ने महिलाओं के लिए संयंत्र स्तरीय ऑनलाइन भाषण प्रतियोगिता के विजेताओं को पुरस्कृत किया है। विजेताओं में प्रथम पुरस्कार अनामिका कुमारी-प्रचालक (रेल एवं स्ट्रक्चरल मिल) रहीं। द्वितीय पुरस्कार अमृता गंगराडे-उप महाप्रबंधक (सीएंडआईटी) और तृतीय पुरस्कार इंदरजीत कौर-स्वास्थ्य शिक्षिका (एनओएचएस) को सौंपा गया। प्रोत्साहन पुरस्कार विजेताओं में अर्चना अतिका सिंह-सहायक प्रबंधक (एसएमएस-3), श्री सीमा फिलिप-व्याख्याता (शिक्षा विभाग) एवं खिलांजली टेमरे-मास्टर टेक्नीशियन (आरसीएल) रहीं।

हाउस मेंटेनेंस के लिए सेल देता है 1050 से 1750 रुपए तक, इसे 25000 करने की उठी मांग

राजभाषा विभाग द्वारा आजादी के अमृत महोत्सव के क्रम में महिला कार्मिकों के लिए “भारत की आजादी में महिलाओं का योगदान” विषय पर प्रतियोगिता आयोजित की गई थी। इस्पात भवन स्थित द्वितीय तल सभागार में समारोह आयोजित किया गया। समारोह में मुख्य अतिथि के रूप में भिलाई इस्पात संयंत्र की महाप्रबंधक (कार्मिक-संकार्य) शीजा पी मैथ्यू उपस्थित थीं।

समारोह में प्रतियोगिता की निर्णायक पुष्पा एम्ब्रोस, महाप्रबंधक (विभागीय सुरक्षा अधिकारी), एसएमएस-3, अनुपमा कुमारी, महाप्रबंधक (विद्युत), वायर रॉड मिल एवं अनुराधा सिंह, महाप्रबंधक (कार्मिक-नियमन, एचआरआईएस) तथा विजयी महिला प्रतिभागी उपस्थित थी।

मुख्य अतिथि का स्वागत उप महाप्रबंधक (संपर्क व प्रशासन एवं प्रभारी राजभाषा) सौमिक डे ने किताब भेंट कर किया। निर्णायकों के स्वागत के उपरान्त जितेन्द्र दास मानिकपुरी-सहायक प्रबंधक (संपर्क एवं प्रशासन-राजभाषा) ने प्रतियोगिता की संक्षिप्त रूपरेखा प्रस्तुत की।

Pension Fund: कोल इंडिया के तर्ज पर सेल भी जोड़े प्रति टन 10 रुपए स्टील का भाव, कर्मचारियों-अधिकारियों को मिलेगा फायदा

मुख्य अतिथि शीजा पी मैथ्यू-महाप्रबंधक (कार्मिक-संकार्य) ने प्रतियोगिता के विजेताओं को बधाइयां दी। कहा, आप सभी ने अपने कार्यक्षेत्र की अपार व्यस्तताओं, घर-परिवार के दायित्वों के बावजूद इस प्रतियोगिता के लिए तैयारी कर भाग लिया, विजेता बनीं, आप सब निस्संदेह विशिष्ट हैं। उन्होंने निर्णायकगण की सराहना करते हुए कहा कि आपने मूल्यांकन व निर्णय देने का बहुत ही चुनौतीपूर्ण कार्य सफलतापूर्वक संपन्न किया, जो कि अत्यंत दायित्वपूर्ण व श्रमसाध्य कार्य है।

किसी भी प्रतियोगिता में निर्णायकगणों की भूमिका बेहद महत्वपूर्ण होती है। कार्यक्रम का संचालन राजभाषा विभाग के जितेन्द्र दास मानिकपुरी, सहायक प्रबंधक (संपर्क व प्रशासन-राजभाषा) ने तथा आभार प्रदर्शन मनोज सोनी-कनिष्ठ अनुवादक-सह-समन्वयक ने किया।

तो क्या इस्पात मंत्री को सौंपा ज्ञापन डस्टबिन में ही गया, कर्मचारी बने बेवकूफ, ये है पूरा मामला

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!