जिस स्कूल से पढ़े-बढ़े वहीं चीफ गेस्ट बनकर पहुंचे राउरकेला स्टील प्लांट के डायरेक्टर इंचार्ज अतनु भौमिक, खो गए बचपन की यादों में

राउरकेला सेंट पॉल स्‍कूल के 1981 बैच के एक विशिष्‍ट पूर्व छात्र अतनु भौमिक ने 29 जून को स्‍कूल के ऑडिटोरियम में आयोजित एक समारोह में शामिल हुए। सभा को संम्‍बोधित किया। जहां कभी छात्र हुआ करते थे वहां, अतिथि बनकर पहुंचे।

सूचनाजी न्यूज, राउरकेला। सेल-राउरकेला इस्पात संयंत्र के निदेशक प्रभारी अतनु भौमिक बचपन की यादों में खो गए। साल 1981 के दौर में पहुंचे और एक-एक पल को स्कूल की चहारदीवारी में याद किया। राउरकेला सेंट पॉल स्‍कूल के 1981 बैच के एक विशिष्‍ट पूर्व छात्र अतनु भौमिक ने 29 जून को स्‍कूल के ऑडिटोरियम में आयोजित एक समारोह में शामिल हुए। सभा को संम्‍बोधित किया। जहां कभी छात्र हुआ करते थे वहां, अतिथि बनकर पहुंचे।

ये खबर भी पढ़ें: BSP Union Election 2022: भिलाई स्टील प्लांट के 13400 कर्मचारी 30 जुलाई को चुनेंगे मान्यता प्राप्त यूनियन, रिटायर्ड कर्मी भी डालेंगे वोट, देर रात आएगा रिजल्ट, आचार संहिता लागू

कहा – ‘अनुशासन, समानुभूति और ज्ञान की कामना सफलता की कुंजी है, जो सेंट पॉल स्कूल द्वारा छात्रों में अंतर्निविष्ट की गई है। मैं अपने प्रारंभिक वर्षों को गढ़ने के लिए अपने विद्यालय का बहुत आभारी हूं।’ सम्‍मान समारोह में दीपिका महिला संघति की अध्‍यक्षा सीमा भौमिक, संत पॉंल स्‍कूल के प्रिंसिपल, फादर जोसेफ, संत पॉल स्‍कूल के पूर्व प्रिंसिपल, फादर जॉय मन्‍नन और स्‍कूल के अन्‍य पूर्व विशिष्‍ट छात्र उपस्थित थे।

ये खबर भी पढ़ें: भिलाई स्टील प्लांट में 57 साल के एचएसएलटी मजदूर की मौत, मचा हड़कंप

प्रतिष्ठित शैक्षणिक संस्थान की दशकों पुरानी शानदार शैक्षणिक यात्रा की सराहना करते हुए, डीआईसी ने कहा, ‘संत पॉल स्कूल उन छात्रों में आंतरिक नैतिक मूल्यों को स्थापित करता है, जिससे उनमें प्रेम, करुणा और राष्ट्रवाद का भावना जागता है। स्कूल पाठ्यचर्या, सह-पाठ्यचर्या और पाठ्येतर गतिविधियों के माध्यम से छात्रों के समग्र विकास पर ध्यान केंद्रित कर रहा है।

ये खबर भी पढ़ें: सेल देने जा रहा दो किस्तों में 39 माह का बकाया एरियर, पहली किस्त में जारी होगा 600 करोड़, अगस्त में भुगतान संभव

मैं अपनी सारी सफलता का श्रेय अपने विद्यालय को देता हूं। डी.आई.सी. ने अपने स्कूली जीवन को याद किया और उनके स्कूली करियर में उनके शिक्षकों के अपार योगदान के बारे में बताया। फादर जॉय ने अपने संबोधन में स्कूल में छात्रों द्वारा आत्मसात किए गए समृद्ध मूल्यों के बारे में बताया जो उन्हें जीवन में सफल होने में मदद करते हैं। उन्होंने श्री भौमिक के निरंतर प्रयासों द्वारा सफलता के शिखर पर पहुंच कर स्कूल को गौरवान्वित करने के लिए बधाई दी। शिक्षक प्रतिनिधि एसएन नंदा और संत पॉल के पूर्व छात्र एके.साबत ने श्री भौमिक की शानदार यात्रा और उपलब्धियों के बारे में बताया।

ये खबर भी पढ़ें: SAIL Gratuity Ceiling: कोलकाता हाईकोर्ट में किसी भी केस की दो दिन नहीं होगी सुनवाई, चार दिन के भीतर सीटू की याचिका को सुनेगा सिंगल बेंच

डीआईसी को संस्थान के एक विशिष्ट पूर्व छात्र के रूप में सम्मानित किया गया और उन्हें एक शॉल एवं सम्मान स्‍वरूप एक स्क्रॉल भेंट की गई। इस अवसर पर सीमा भौमिक को भी सम्मानित किया गया। बाद में उन्होंने छात्रों से बातचीत की और उनके सवालों के जवाब दिए।

डी.आई.सी. ने अन्य गण्यमान्यों के साथ परिसर में पौधारोपण किया। उन्होंने स्कूल के खेल मैदान में ओएफए फुटबॉल लीग के फाइनल राउंड का भी उद्घाटन किया। गेंद को किक कर भौमिक ने उद्घाटन मैच की शुरुआत की।

ये खबर भी पढ़ें: सेल कार्मिकों के हाथों घरों में पहुंच रहा वॉटर बॉटल, लंच कैरियर बॉक्स और इलेक्ट्रिक कैटल

प्रारंभ में कार्यक्रम की शुरुआत स्कूल गायन मण्डली द्वारा प्रस्तुत संत पॉल स्‍कूल गान के साथ हुई। इसके बाद संस्था के छात्रों द्वारा स्वागत स्वरुप ओडिसी नृत्य प्रस्तुत किया गया। फादर जोसेफ ने स्वागत भाषण दिया। छात्रों द्वारा प्रस्तुत एक आकर्षक सांस्कृतिक कार्यक्रम समारोह का मुख्‍य आकर्षण था। फादर जोसफ ने सभा का स्वागत किया। कार्यक्रम का समापन राष्ट्रगान के साथ हुआ। संत पॉल स्कूल की शिक्षिका सुप्रीता चौधरी ने समारोह का संचालन किया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!