बायोमेट्रिक से आपकी हो रही अटेंडेंस को सतर्क हो जाएं, ड्यूटी देरी से आने और जल्दी जाने वालों का कटेगा वेतन, अब देना होगा कार्यस्थल पर पूरा समय

बीएसपी जनसंपर्क विभाग का कहना है कि ट्रायल के रूप में काम चल रहा है। पे-स्केल और पर्क्स आदि कार्य की वजह से इसका काम कुछ समय के लिए प्रभावित हो रहा है। पूरी कोशिश की जा रही है कि इसी महीने से इसको अनिवार्य कर दिया जाए।

सूचनाजी न्यूज, भिलाई। स्टील अथॉरिटी ऑफ इंडिया लिमिटेड-सेल के कर्मचारियों सतर्क हो जाएं। हर यूनिट में बायोमेट्रिक को लेकर कवायद तेज हो चुकी है। भिलाई स्टील प्लांट के नॉन वर्क्स एरिया में बायोमेट्रिक से अटेंडेंस पहले से हो रही है। अब इस पर और सख्ती का रास्ता प्रबंधन अपना चुका है। देरी से ड्यूटी आने और समय से पहले घर लौट जाने वाले कर्मचारियों पर नकेल लगाने के लिए प्रबंधन ने सैलरी काटने का फैसला किया है।

ये खबर भी पढ़ें:…2 करोड़ राजस्व बकाया व 11 करोड़ की जमीन पर महालक्ष्मी ट्रेडिंग और चंद्रा हैवी लिफ्टर्स की थी कब्जे की सल्तनत, थाने से निकलने के बाद 100 लोगों को पता चला कि दोनों फर्म करना है सील

भिलाई स्टील प्लांट में पायलट प्रोजेक्ट के रूप में बायोमेट्रिक को पे-रोल से जोड़ दिया गया है। इसकी रिकॉर्डिंग हो रही है। संभावना जताई जा रही है कि इसी महीने से इसे अनिवार्य कर दिया जाएगा। बीएसपी जनसंपर्क विभाग का कहना है कि ट्रायल के रूप में काम चल रहा है। पे-स्केल और पर्क्स आदि कार्य की वजह से इसका काम कुछ समय के लिए प्रभावित हो रहा है। पूरी कोशिश की जा रही है कि इसी महीने से इसको अनिवार्य कर दिया जाए। यानी सितंबर में आने वाली सैलरी में अटेंडेंस का असर दिख सकता है।

ये खबर भी पढ़ें:…बीएमएस का बदला बयान, कहा-कैफेटेरिया पर्क्स 26.5% के लिए करें साइन, वरना हो जाएगा आर्थिक नुकसान, प्रॉविजनल के लिए सेल पर बनाएं दबाव

बता दें कि ड्यूटी आने में अगर, 15 मिनट की देरी होती है तो प्रबंधन उसे स्वीकार करता है। रियायती समय के बाद उसे स्वीकार नहीं किया जाता। समय से पहले कार्यस्थल छोड़ने की अनुमति नहीं है। बीएसपी के दफ्तरों में फिलहाल, बायोमेट्रिक लगाया गया है। इसे प्लांट के सभी कर्मचारियों और अधिकारियों के लिए भी अनिवार्य कर दिया जाएगा। प्रक्रिया चल रही है।

ये खबर भी पढ़ें:…बीडब्ल्यूयू का बीएमएस पर तंज, कहा-कर्मियों को पहले से मिल रहा पर्क्स, लेने दें टैक्स में छूट, बहकाएं नहीं, बोनस फॉर्मूला बनवाएं

धीरे-धीरे एक-एक विभागों को इसके जद में लाया जा रहा है। वाहनों के लिए आरएफआइडी को लागू कर दिया गया है। इसी से कार्मिकों पर नजर रखने का सिलसिला शुरू हो रहा है। अगले, चरण में प्लांट के अंदर भी बायोमेट्रिक को अनिवार्य कर दिया जाएगा। राउरकेला स्टील प्लांट में पहले से ही यह लागू है।

ये खबर भी पढ़ें:…राउरकेला स्टील प्लांट के हॉट स्ट्रिप मिल-2 ने स्वतंत्रता दिवस पर ही तोड़ा उत्पादन रिकॉर्ड, कर्मचारियों की पीठ थपथपाने पहुंचे डायरेक्टर इंचार्ज

बताया जा रहा है कि अब तक कोई देरी से आया या समय से पहले कार्यस्थल से गया तो विभागीय अधिकारी उसकी अटेंडेंस को प्रमाणित कर देते थे, जिससे उसे पूरी सैलरी मिलती थी। अब एक-एक कर्मचारियों का ब्यौरा विभाग प्रमुख को देना होगा। बायोमेट्रिक को पे-रोल से कनेक्ट करने की वजह से कर्मचारियों की लेटलतीफी पर लगाम लगाने का दावा किया जा रहा है।

कर्मचारियों का पूरा डाटा पे-रोल के पास पहले नहीं जाता था। अब सीधे पे-रोल में जाएगा। अगर, कोई छुट्‌टी पर है या देरी से आया तो उसका कारण एचओडी को बताना होगा। अगर, ये नहीं बता पाए, तो कार्मिक को गैर हाजिर मानते हुए सैलरी काट ली जाएगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!