एनजेसीएस सब-कमेटी बैठक से पहले प्रबंधन पर दबाव, वेतन समझौते को लेकर ठेका मजदूर संग सड़क पर उतरे नियमित कर्मी

सीटू ने तमाम ठेका श्रमिक व नियमित कर्मियों को भगीदारी कर 25 मई के आंदोलन को सफल बनाने का आह्वान किया गया।

सूचनाजी न्यूज, भिलाई। सेल के करीब 84 हजार ठेका मजदूरों के सम्मानजनक वेतन समझौता के लिए नियमित कर्मचारी भी सड़क पर उतर चुके हैं। भिलाई के ठेका मजदूरों के समर्थन में नियमित कर्मचारी की साथ में दिखे। ठेका श्रमिको का सम्मानजनक वेतन समझौता सहित अन्य मांगों पर 25 मई का धरना-प्रदर्शन होना है। इसे सफल करने के लिए शुक्रवार को बीएसपी के मेन गेट पर पर्चा वितरण किया गया।

ये खबर भी पढ़ें:सेल कर्मचारियों को लगी एक और चपत, एसईएसबीएफ की ब्याज दर 8.65% से घटकर हुई 8.30%

एसडब्ल्यूएफ़आई के आह्वान पर ठेका श्रमिकों का सम्मान जनक वेतन समझौता सहित अन्य मांगों पर 25 मई को धरना-प्रदर्शन सफल बनाने हिंदुस्तान इस्पात ठेका श्रमिक यूनियन सीटू के निर्णय-निर्धारित कार्यक्रम के अनुसार मेन गेट में पर्चा वितरण किया गया। इस पर्चा वितरण के दौरान हिंदुस्तान स्टील एम्प्लाइज यूनियम सीटू ने भी भागदारी की।

ठेका श्रमिकों को एस-1 ग्रेड के बराबर न्यूनतम वेतन देने, सामाजिक सुरक्षा कार्यस्थल में सुरक्षा रोजगार गारंटी, समान काम-समान वेतन, ठेका श्रमिकों को भी रात्रि पाली भत्ता आदि की मांग की जा रही है।

ठेका मजदूरों में है आक्रोश: सोनी

महासचिव योगेश सोनी ने बताया कि भिलाई इस्पात संयंत्र सहित सेल की तमाम इकाइयों में 80 हजार से ज्यादा ठेका श्रमिक कार्यरत हैं, जिनकी तादाद नियमित कर्मियों से ज्यादा है। ठेका मजदूर से वर्तमान में नियमित कर्मियों के बराबर का काम लिया जा रहा है। इस्पात के निर्माण में तमाम कुशल, अतिकुशल कार्यों में ठेका श्रमिकों की नियमित कर्मियों की तरह बराबर की भागीदारी रही है।

संयंत्र के उत्पादन निर्माण में बराबर की भागीदारी रखने वाले ठेका श्रमिकों को न्यूनतम वेतन, बेवजह छंटनी, हक अधिकार की बात करने पर गेट पास छीन लेना, वेतन भुगतान के पश्चत दबाव पूर्वक वेतन से उगाही, दो से तीन माह में वेतन भुगतान मिलना सहित तमाम अन्य समस्याओं से जूझना पड़ रहा है, जिसके कारण ठेका श्रमिकों में जबरदस्त आक्रोश है।

ये खबर भी पढ़ें:कर्मचारियों के निलंबन और ट्रांसफर की उठी बात, प्रबंधन ने एक कान से सुनी, दूसरे से निकाली, प्रमोशन पॉलिसी पर चर्चा तक नहीं…

तीन बैठक बेनतीजा

अध्यक्ष शांतनु मरकाम ने बताया कि ठेका श्रमिकों का सम्मानजनक वेतन व श्रमिकों से सम्बंधित अन्य मुद्दों पर एनजेसीएस सब-कमेटी की तीन बैठक हो चुकी है, पर प्रबंधन की ओर से अब तक कोई प्रस्ताव नहीं आया। तीनों बैठक बेनतीजा साबित हुई। आगामी 26 मई को दिल्ली में बैठक आयोजित है। बैठक के पूर्व धरना-प्रदर्शन के माध्यम से उच्च प्रबंधन तक मजदूरों की आवाज पहुंचाने की कोशिश है। उसके बावजूद सेल प्रबंधन ठेका मजदूरों के मुद्दों को अनदेखी करता है तो यूनियन बड़े आंदोलन करने मजबूर होगा।

ये खबर भी पढ़ें:दुर्गापुर स्टील प्लांट में बायोमेट्रिक को लेकर सुलग रहीं यूनियनें, इधर-मेडिकल में जल्द मिलेगी ऑनलाइन सुविधा

पर्चा वितरण में यह थे शामिल

मेन गेट पर सुबह 8 बजे से 9 बजे तक पर्चा वितरण किया गया। इस दौरान हिंदुस्तान इस्पात ठेका श्रमिक यूनियन सीटू के अध्यक्ष शान्तनु मरकाम, महासचिव योगेश सोनी, सचिव तुहेन्द्र, उपाध्यक्ष प्रशांत विश्वकर्मा, विकास गायकवाड़, नीरज, प्रदीप गेडाम, वेणु गोपाल, सोमेश सहित महिला कर्मी शामिल थीं। वहीं, हिंदुस्तान स्टील इम्प्लाइज यूनियन सीटू की अध्यक्ष सविता मालवीय, महासचिव एसपी डे, कार्यकारी अध्यक्ष-अशोक खातरकर, संगठन सचिव डीवीएस रेड्डी, जगन्नाथ त्रिवेदी सहित सीटू राज्य के उपाध्यक्ष शांत कुमार व अन्य शामिल थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!