Bhilai Lift Accident: चौहान टाउन की लिफ्ट से कटा महिला का पैर, देखने वालों की कांप उठी रूह

सूचनाजी न्यूज, भिलाई। भिलाई में लिफ्ट हादसा हो गया है। लिफ्ट में फंसने की वजह से एक महिला का दोनों पैर कट गया। जख्मी हालत में घंटों में महिला तड़पती रही। किसी तरह मैकेनिक को बुलाकर लिफ्ट का डोर तोड़कर महिला को बाहर निकाला जा सका। लहूलुहान हालत में महिला को अस्पताल में भर्ती कराया गया है, जहां उपचार चल रहा है। इस हादसे की वजह से रहवासियों में काफी आक्रोश है।

ये खबर भी पढ़ें:  बीएमएस की गुहार-मंत्रीजी निलंबित कर्मचारियों की वापसी और प्रोत्साहन के रूप के 50 ग्राम सोना दिलाइए

बताया जा रहा है कि मामला चौहान टाउन का है। घटिया मेंटनेंस का खामियाजा करीब 50 वर्षीय सावित्री बाई को भुगतना पड़ा। ग्राउंड फ्लोर से छठी मंजिल पर जाने के लिए लिफ्ट पर कदम रखते ही वह चल पड़ी। एक पैर बाहर ही था। अचानक से लिफ्ट ऊपर की चलने से चीख उठीं। शोर मचाने लगीं। फर्स्ट फ्लोर पर लिफ्ट जाकर फंस गई, तब तक पैर कट चुका था। खून लगातार बहता जा रहा था। शोर-शराबा सुनकर पड़ोसी भागते हुए जान बचाने के लिए पहुंचे।

ये खबर भी पढ़ें:  इस्पात राज्यमंत्री से अधिकारियों ने कहा-एफएसएनएल को बेचने से बचाइए, मंत्री का जवाब-मामला आगे बढ़ चुका…दिल्ली में करेंगे चर्चा

किसी तरह लिफ्ट का डोर तोड़कर महिला को वहां से निकाला गया। इसके बाद समीप के एक निजी अस्पताल में भर्ती कराया गया है, जहां इलाज चल रहा है। पड़ोसियों ने बताया कि स्थिति नाजुक बनी हुई है। टेक्नीकल प्रॉब्लम को सही नहीं किया जाता है। डोर बंद होने के बाद ही लिफ्ट चलती है। लेकिन यहां कदम रखते ही लिफ्ट ऊपर को ओर चलने लगी। फर्स्ट फ्लोर पर जाकर पैर फंसा और कट गया।

ये खबर भी पढ़ें:   BSP Task Force: 22 करोड़ खर्च करने के बाद भी नहीं थमे हादसे, आफिसर्स एसोसिएशन-यूनियन प्रतिनिधि देंगे दस दिनों में रिपोर्ट, बताएंगे समाधान

चौहान टाउन के लोगों का कहना है कि लगभग 14 साल से यहां लोग रह रहे हैं। बिल्डर द्वारा मेंटेनेंस किया जा रहा है। इतने सालों में सैकड़ों परिवार यहां बस चुके हैं और यहां के साधनों का उपयोग कर रहे हैं। इस साल गर्मी की मार इतनी पड़ी कि भू-जल का स्तर बहुत नीचे चला गया। गया और बिल्डर ऐसे समय में अपनी जिम्मेदारी से पीछे हट गया। यहां की सोसायटी जैसे तैसे टैंकर द्वारा मुश्किल से पानी की भरपायी कर रही है। जो साधन संपन्न वर्ग है, वो खुद की बोरिंग करा रहे हैं। ऐसे में आम रहवासी किस तरफ मदद की गुहार करे। कहना मुश्किल है। अब जनता के प्रतिनिधियों से ही आशा है कि वो यहां की समस्याओं पर ध्यान देकर इसका निवारण करें।

ये खबर भी पढ़ें:   बीएसपी-जिला प्रशासन की ढिलाई, कर्मचारियों की जान खतरें में आई

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!