ग्रामीण लोक कला महोत्सव 2022: भिलाई स्टील प्लांट ने छत्तीसगढ़ी कलाकारों को दिया मंच, प्रतिभाओं के निकले पंख

तीन बेजोड कलाकारों हेमलाल कौशल, नविन देशमुख, नरेश यादव की प्रस्तुति ने रातभर दर्शकों का मनोरंजन किया।

सूचनाजी न्यूज, भिलाई। आजादी के अमृत महोत्सव के अवसर पर भिलाई इस्पात संयंत्र ने ग्रामीण लोक कला महोत्सव के जरिए स्थानीय कलाकारों को मंच मुहैया कराया। निगमित सामाजिक उत्तरदायित्व विभाग की ओर से दुर्ग जिले के चेटुआ में नवोदित स्थानीय कलाकारों की प्रतिभा को आगे लाने, लोक कलाकारों को मंच देने एवं ग्रामीणों में लोक कला के प्रति जागरुकता लाने ग्रामीण लोक कला महोत्सव 2022 का रंगारंग आगाज किया गया। इस परिप्रेक्ष्य में आयोजित ग्रामीण लोकोत्सव में 6 कला दलों ने रंगारंग प्रस्तुति दी।

ये खबर भी पढ़ें:सेक्टर-9 हॉस्पिटल में 15 और डाक्टरों की होगी भर्ती, ऑनलाइन होगी मेडिकल रिपोर्ट और प्रतिपूर्ति का भुगतान भी

इस आयोजन में 6 दलों ने भाग लिया। देवार कर्मा-रंग छत्तीसा लोक कला मंच, प्रस्तुति-पूनम तिवारी (अंतरराष्ट्रीय कलाकार) राजनांदगांव, पण्डवानी-हंस वाहिनी पण्डवानी दल, प्रस्तुति-रूही साहू (नवोदित कलाकार) भिलाई, लोकनृत्य-रिंगि चिंगी डंडा एवं रामधुनी पार्टी, प्रस्तुति-द्वारिका प्रसाद साहू (राज्य स्तरीय कलाकार), मेडेसरा, गम्मत नाचा-राग अनुराग कला मंच, प्रस्तुति-हेमलाल कौशल (छत्तीसगढ़ी फिल्मी कलाकार), दुर्ग, लोक गीत एवं नृत्य-स्वर धारा लोक कला समिति, प्रस्तुति सुकृत साहू (राज्य स्तरीय लोकप्रिय कलाकार), अहिवारा, जस झांकी-जय बाबा रुखड़नाथ शीतला सेवा झांकी परिवार (राज्य स्तरीय कलाकार) जेवरा सिरसा एवं नारधा दुर्ग शामिल रही।

Rourkela Steel Plant: खेल की पाठशाला में निखार रहे एक-एक बच्चे को, भारतीय हॉकी टीम में शामिल होने का चढ़ा जुनून

इस आयोजन में अंतरराष्ट्रीय वरिष्ठ कलाकार पूनम तिवारी ने देवार कर्मा की प्रस्तुति के साथ स्वर्गीय जीपी रजक को श्रद्धांजलि देते हुए गीत ‘चोला माटी के है राम’ की प्रस्तुति देकर लोगों के दिलों को बांधे रखा।

सुवा, करमा, रामधुनी ने किया आकर्षित

तीन बेजोड कलाकारों हेमलाल कौशल, नविन देशमुख, नरेश यादव की प्रस्तुति ने रातभर दर्शकों का मनोरंजन किया। वहीं सुकृत साहू, लीलाधर साहू की रंगारग स्वरधारा लोक मंच प्रस्तुति ने दर्शकों को जोड़े रखा। स्वर्गीय जीपी रजक के तुलसी चौरा के गीतों व शीर्षक गीत को गाकर लोकमंच तुलसी चौरा की याद दिलायी गई।

द्वारिका साहू, लक्ष्मी साहू के संयोजन में सुवा, करमा, रामधुनी की प्रस्तुति द्वारा नवोदित कलाकारों को मंच पर लाने का प्रयास सराहनीय रहा और इसी मंच पर नयी कलाकार रूही साहू एवं साथियों ने पण्डवानी गायन की प्रस्तुति के साथ कार्यक्रम का शुभारंभ किया। कार्यक्रम में नवोदित एवं युवा दल, नारधा की जस झांकी रुखड़नाथ शीतला सेवा समिति की आकर्षक प्रस्तुति ने लोगों का मन मोह लिया। इस लोकोत्सव का ग्राम चेटुआ एवं समीपस्थ ग्रामों के दर्शकों ने भरपूर आनन्द उठाया।

ये खबर भी पढ़ें:सेल के पंक्चर की दुकान से कर्मचारियों-अधिकारियों को मिली राहत, बढ़ रहे ग्राहक, जानिए रेट लिस्ट और दुकान खुलने का समय


लोकोत्सव में ये रहे शामिल

इस कार्यक्रम के मुख्य अतिथि महाप्रबंधक (सीएसआर) शिवराजन, विशिष्ट अतिथि के रूप में वरिष्ठ प्रबंधक (कार्मिक) केके साहू-उप महाप्रबंधक (इंस्ट्रूमेंटेशन), एसके धनकर एवं राजभाषा अधिकारी जीतेन्द्र मानिकपुरी उपस्थित रहे। इस अवसर पर प्रबंधक सुशील कुमार कामडे, सहायक प्रबंधक विवेक मिश्रा ने प्रतिभागी कलाकारों का स्मृति चिन्ह से स्वागत किया एवं मानदेय राशि प्रदान कर कलाकारों को प्रोत्साहित किया। इस लोकोत्सव में ग्राम प्रमुख सरपंच आत्माराम गजपाल, पंचायत प्रतिनिधियों एवं ग्रामवासियों का सहयोग प्रशंसनीय रहा। कार्यक्रम का संचालन राष्ट्रपति पुरस्कार प्राप्त रजनी रजक द्वारा किया गया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!