Bhilai Steel Plant: कैंटीनों के खाने में मिल रही इल्ली, सभी ठेका निरस्त कर कैंटीन संचालकों पर बैन लगाने की मांग

0
Demand for cancellation of canteen contract of Bhilai Steel Plant
बीएमएस ने कैंटीन में भारी अव्यवस्था के कारण सभी कैंटीनों का ठेका रद्द करने की मांग की है। गंभीर खामियां पाई गई ।
AD DESCRIPTION

निम्न स्तर के तेल,चावल और अन्य सामग्रियों का प्रयोग किया जा रहा है, जोकि कर्मचारियों के स्वास्थ्य के लिए हानिकारक है।

सूचनाजी न्यूज, भिलाई। भिलाई इस्पात मजदूर संघ-बीएमएस ने भिलाई इस्पात संयंत्र के कैंटीन की व्यवस्था के खिलाफ आवाज उठाई है। महाप्रबंधक अरविंद रतन के नाम ज्ञापन देकर कहा गया है कि कैंटीन में व्याप्त अव्यवस्था के कारण सभी कैंटीनों का टेंडर निरस्त किया जाए।

ये खबर भी पढ़े… SAIL Bonus: तो क्या अन्ना हजारे की तरह दिल्ली में अनशन पर बैठेंगे संजीवा रेड्‌डी

AD DESCRIPTION AD DESCRIPTION

कार्यकारी अध्यक्ष चन्ना केशवलू ने कहा कि भिलाई इस्पात इस्पात मजदूर संघ के पदाधिकारियों ने संयंत्र के विभिन्न कैंटीनों का दौरा किया, जिसमें गंभीर खामियां पाई गई है, जिसे बर्दाश्त नहीं किया जा सकता। खाने में इल्ली पाई जा रही हैं। कैंटीन के संचालन के ठेका शर्तों में जिस गुणवत्ता की खाद्य सामग्री का उल्लेख किया गया है, उसका स्पष्ट उल्लंघन किया जा रहा है।

ये खबर भी पढ़े… Share Market की पाठशाला है Intraday स्टॉक, नए निवेशक करें कमाई की शुरुआत

निम्न स्तर के तेल,चावल और अन्य सामग्रियों का प्रयोग किया जा रहा है, जोकि कर्मचारियों के स्वास्थ्य के लिए हानिकारक है। कैंटीन में खाद्य सामग्री और चाय का जो मूल्य निर्धारित किया गया है, उससे अधिक मूल्य कर्मचारियों से वसूला जा रहा है। कर्मचारियों के लिए जो न्यूनतम 10 रुपये में खाना देने का अनुबंध है, उसे पालन नहीं किया जा रहा है।

ये खबर भी पढ़े… भिलाई स्टील प्लांट के ईडी वर्क्स और सीजीएम में टकराव, छुट्‌टी पर गए CGM, इस्तीफे की चर्चा…!

महामंत्री रवि सिंह ने कहा कि न्यूनतम 10 रुपये का खाना किसी भी कैंटीन में 10 मिनट में खत्म कर दिया जा रहा है और उससे अधिक दर पर खाना बेचा जा रहा है। कैंटीनों की सफाई व्यवस्था निम्न स्तर की है। पानी पीने की जगह पर इतनी गंदगी है कि वहां पानी पी पाना संभव नहीं है। सभी कैंटीनों को बंद कर काफी हाउस की तर्ज पर सब्सिडी प्रदान कर कैंटीनों का संचालन किया जाए।

ये खबर भी पढ़े…NJCS कमेटी मीटिंग-मीटिंग खेलना करे बंद और PBT के 5% पर BONUS फार्मूला बनाएं, इधर-643 करोड़ बंटेगा PRP

बीएसपी के अधिकारी कैंटीन के संचालक के लिए बैठते हैं। वहां के बेस कैंटीन का भी हाल संतोषजनक नहीं है। वहां भी खाद्य पदार्थों का हमेशा अभाव रहता है। कैंटीन के ठेकेदारों ने एक से अधिक कैंटीनों का ठेका लेकर खुद ना संचालन करते हुए किराए पर देकर रखा हुआ, जिस कारण कैंटीन संचालक को उन्हें भी किराया देना पड़ रहा है, जिसका असर खाद्य सामग्री और गुणवत्ता पर पड़ता है।

ये खबर भी पढ़े…सेल-भिलाई स्टील प्लांट में दुनिया की सबसे लंबी रेल पटरी बनाते समय हादसा, बाल-बाल बचे कर्मचारी

कैंटीन में हीटर और इंडक्शन चल रहा, कर्मचारियों को सब्सिडी दें

बीएमएस नेताओं ने कहा कि कैंटीन में हीटर इस्तेमाल की ठेका शर्तों में मनाही है। इसके बाद भी सभी कैंटीन में इंडक्शन और बड़े-बड़े हीटर लगे हुए हैं, जो सेवा शर्तों का उल्लंघन है, जिससे संयंत्र को लाखों का नुकसान उठाना पड़ रहा है। सेक्टर-9 स्थित कैंटीन मे खाद्य सामग्री की क्वालिटी अत्यंत घटिया है। अतः सेक्टर-9 की कैंटीन को बंद कर कॉफी हाउस में संयंत्र कर्मचारियों को सब्सिडी देकर इस्पात भवन की तर्ज पर खाद्य सामग्री दी जाए, क्योंकि सेक्टर-9 में हजारों की संख्या में संयंत्र के कर्मचारी अपना इलाज कराने पहुंचते हैं और लगभग 500 से अधिक अस्पताल के कर्मचारी कार्य करते हैं।

ये खबर भी पढ़े…CITU Rajhara Conference: 83 सदस्यीय समिति गठित, सिमैया-अध्यक्ष, प्रकाश क्षत्रिय-सचिव और ज्ञानेंद्र बने कार्यकारी अध्यक्ष

ठेका निरस्त और संचालक प्रतिबंधित किए जाएं

कार्यकारी अध्यक्ष चन्ना केशवलू ने कहा कि बीएमएस द्वारा निरीक्षण में जो खामियों पाई गई है, वह कर्मचारियों के स्वास्थ्य के लिए हानिकारक है। कैंटीन की व्यवस्था सेवा शर्तों के विपरीत है, जिसे यूनियन किसी भी शर्त पर स्वीकार नहीं किया जाएगा। बीएमएस की मांग है कि सभी कैंटीनों का ठेका निरस्त कर नए सिरे से ठेका आवंटित किया जाए। ऐसे कैंटीन संचालकों को प्रतिबंधित किया जाए। ज्ञापन सौंपने वाले में प्रमुख रूप से कार्यकारी अध्यक्ष चन्ना केशवलू, महामंत्री रवि सिंह, उपाध्यक्ष हरिशंकर चतुर्वेदी, शारदा गुप्ता, विनोद उपाध्याय, वशिष्ठ वर्मा, सनी इप्पन, उमेश मिश्रा, अशोक माहोर, प्रदीप पाल, प्रवीण मार्डीकर सहित प्रमुख कार्यकर्ता उपस्थित थे।

ये खबर भी पढ़े…सेल बोनस की चौथी मीटिंग अब 18 अक्टूबर को, 1400 को 14 हजार में कन्वर्ट कराना टेढ़ी खीर, डेढ़ घंटे तक जब्त रहा फोन…

AD DESCRIPTION AD DESCRIPTION

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here