बीएमएस पदाधिकारियों ने सेक्टर-10 स्कूल व टीए बिल्डिंग के कर्मचारियों से लिया फीडबैक, प्रबंधन को सौंपा मांग पत्र

सूचनाजी न्यूज, भिलाई। भिलाई इस्पात मजदूर संघ के पदाधिकारियों ने अपने जनसंपर्क कार्यक्रम के तहत सेक्टर-10 स्कूल व नगर प्रशासन विभाग के कर्मचारी से मुलाकात की। उनकी समस्याओं से अवगत हुए। इसी संबंध में पदाधिकारियों ने टाउनशिप के महाप्रबंधक (प्रभारी) से भी मीटिंग की, जिसमें उनसे टाउनशिप क्षेत्र में विभिन्न समस्याओं की ओर उनका ध्यान आकर्षित करवाया। भारतीय मजदूर संघ की मांगों पर महाप्रबंधक प्रभारी ने जल्द से जल्द कार्रवाई का आश्वासन सभी पदाधिकारियों को दिया। बैठक में मुख्य रूप से कार्यकारी अध्यक्ष चन्ना केशवलू, महामंत्री रवि शंकर सिंह, उपाध्यक्ष हरि शंकर चतुर्वेदी, उमेश मिश्रा, एविसन वर्गीस, संयुक्त महामंत्री सन्नी ईप्पन, अशोक माहोर, महेंद्र सिंह, संयुक्त सचिव टाउनशिप अरविंद पांडे, सचिव सुरेंद्र चौहान, आरडी पांडे, भूपेंद्र बंजारे, नवनीत हरदैल, केआर सिंह, संदीप पांडे, अशोक कुमार आदि थे।

ये खबर भी पढ़ें: क्रेडिट सोसाइटी के आप भी बन सकते हैं मालिए, बस करना होगा ये काम

कर्मचारियों की समस्याओं के समाधान के लिए सौंपा ज्ञापन, ये हैं मांग

  1. पीने का स्वच्छ पानी
    2.टार फेल्टिंग का कार्य बरसों से लंबित है, उसे प्राथमिकता के आधार पर शीघ्र करवाया जाए, जिससे बरसात में रहवासियों को परेशानी से छुटकारा मिले है।
  2. समय पर बैक लाइन की सफाई न होने के कारण बरसात में सीवर जाम की समस्या बढ़ जाती है, जल्द से जल्द सफाई कराई जाए।
  3. रिटेंशन में जो आवास दिए जा रहे हैं, उन्हें देने की प्रक्रिया सरल की जाए, जिससे किसी का आवेदन निरस्त ना हो।
  4. आवास आवंटन के बाद 1 वर्ष तक डिबार कर दिया जाता है, उसे खत्म किया जाए।
  5. घरों में बढ़ते लोड के कारण लो वोल्टेज की समस्या से निपटने हेतु सभी आवासों में थ्री फेज कनेक्शन दिया जाए।
  6. आवास आवंटन पूर्व की भांति दो चक्र में किया जाए।
  7. सब्जेक्ट् टू वैकेशन में 2 ग्रेड ऊपर तक का आवास आवंटित किया जाए।
  8. बड़े आवास आवंटन में 3 वर्ष शेष नौकरी की बाध्यता खत्म की जाए।
  9. ठेकेदारों की संख्या बढ़ाकर टार फेल्टिंग का कार्य तीव्र गति से किया जाए।

ये खबर भी पढ़ें: राउरकेला स्टील प्लांट ने भरा दम, कहा-ग्राहकों को राजा स्वरूप मानेंगे हम, खर्च करेंगे कम

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!