BMS ने नवरात्रि के पहले दिन लिया मान्यता का प्रमाण-पत्र, प्रबंधन से कहा-निष्ठापूर्वक समर्पित होकर अनुशासन के दायरे में करेंगे काम, युवा कर्मी नदारद, चढ़ी भौं

0
Bhilai BMS Recognized Union Certificate 1
बीएसपी के डायरेक्टर इंचार्ज अनिर्बान दासगुप्ता के हाथों यूनियन पदाधिकारियों को मिला प्रमाण-पत्र। यूनियन ने प्रबंधन से सहयोग मांगा।
AD DESCRIPTION

प्रमाण पत्र शनिवार को ही भिलाई आ गया था, लेकिन यूनियन ने नवरात्रि के पहले दिन इसे लेने का फैसला किया था।

सूचनाजी न्यूज, भिलाई। भिलाई स्टील प्लांट में इतिहास रचने वाले भिलाई इस्पात मजदूर संघ-बीएमएस को अब मान्यता प्राप्त यूनियन का दर्जा हासिल हो गया है। मान्यता प्रमाण पत्र सोमवार को सौंप दिया गया है। नवरात्रि के पहले दिन डायरेक्टर इंचार्ज अनिर्बान दासगुप्ता के हाथों यूनियन पदाधिकारियों ने प्रमाण पत्र हासिल किया है। इसी के साथ बीएमएस का मीटर अब भिलाई स्टील प्लांट में चालू हो गया है। प्रबंधन से वार्ता और समझौता करने का अधिकार है। प्रबंधन ने बेहतर तालमेल और यूनियन ने निष्ठापूर्वक समर्पित होकर अनुशासन के दायरे में काम करने का वादा किया है।

वहीं, कार्यक्रम में युवा कर्मचारियों के नदारद रहने का मुद्दा अब तूल पकड़ रहा है। चुनाव में युवाओं ने पूरी ताकत झोंक कर बीएमएस को जीत दिलाई,लेकिन जब प्रमाण पत्र की बारी आई तो ये चेहरे साइड कर दिए गए हैं। युवा कर्मचारियों ने खुद सूचनाजी.कॉम को फोन कर अपना दुखड़ा सुनाया और नई लकीर खींचने का संकेत तक दे दिया है।

AD DESCRIPTION AD DESCRIPTION

केंद्रीय श्रम मंत्रालय की ओर से मुख्य श्रमायुक्त केंद्रीय, नई दिल्ली ने भिलाई इस्पात श्रमिक मंच (बीएमएस) को दो वर्षों की अवधि के लिए मान्यता प्रदान करने के निर्देश जारी कर दिए है। इसके अनुसार भिलाई इस्पात संयंत्र की ओर से मान्यता सम्बन्धी पत्र निदेशक प्रभारी, भिलाई इस्पात संयंत्र अनिर्बान दासगुप्ता के द्वारा इस्पात भवन में निदेशक प्रभारी के सभागार में प्रदान किया गया। बीएसपी आइआर विभाग के महाप्रबंधक जेएन ठाकुर ने कार्यक्रमम का संचालन किया।

जानिए महामंत्री रविशंकर सिंह क्या बोले…

बीएमएस की ओर से महामंत्री रविशंकर सिंह ने प्रबंधन को यूनियन की ओर से सहयोग मिलने के लिए आश्वस्त किया और कहा कि बीएमएस संयंत्र के लिए निष्ठापूर्वक समर्पित होकर अनुशासन के दायरे में कार्य करेगी। प्रबंधन को कार्मिकों की आवश्यकताओं पर समय-समय पर अवगत कराने और जायज मांगों को प्रकाश में लाने का कार्य करेगी।

उल्लेखनीय है कि भिलाई इस्पात संयंत्र में मान्यता प्राप्त यूनियन के निर्धारण के लिए केंद्रीय श्रम मंत्रालय की देख-रेख में 30 जुलाई, 2022 को यूनियनों की सदस्यता का सत्यापन गुप्त मतदान की प्रक्रिया से किया गया। मंत्रालय को उप श्रमायुक्त केंद्रीय रायपुर द्वारा मतदान के विवरण भेजे गए थे। सम्पूर्ण प्रक्रिया पूर्ण होकर केंद्रीय श्रम मंत्रालय की ओर से मुख्य श्रमायुक्त केंद्रीय नई दिल्ली ने भिलाई इस्पात श्रमिक मंच (बीएमएस) को दो वर्षों की अवधि के लिए मान्यता प्रदान करने के निर्देश जारी कर दिया है।

ये खबर भी पढ़ें:SAIL बोनस पर बवाल: दुर्गापुर स्टील प्लांट के दोनों गेट सीटू ने किए जाम, गाड़ियों के आगे लेटे कर्मचारी, कल से संयुक्त आंदोलन

केंद्रीय श्रम मंत्रालय की ओर से प्रमाण पत्र शनिवार को ही भिलाई आ गया था, लेकिन यूनियन ने नवरात्रि के पहले दिन इसे लेने का फैसला किया था। इस्पात भवन में समारोह आयोजित किया गया, जहां सभी ईडी, सीजीएम और जीएम स्तर के अधिकारी मौजूद रहे। बता दें कि 30 जुलाई को चुनाव हुआ था। पूर्व मान्यता प्राप्त यूनियन इंटक को 400 वोटों से हराकर बीएमएस ने चुनाव जीता था।

ये खबर भी पढ़ें:बोनस मीटिंग में सेल चेयरमैन सोमा मंडल के न बैठने पर उठा सवाल, जानिए और क्या लग रहे आरोप

इस अवसर पर संयंत्र प्रबंधन की ओर से कार्यपालक निदेशक (सामग्री प्रबंधन) एके भट्टा, कार्यपालक निदेशक (वर्क्स) अंजनि कुमार, कार्यपालक निदेशक (कार्मिक एवं प्रशासन) एमएम गद्रे, कार्यपालक निदेशक (वित्त एवं लेखा) डाक्टर. एके पंडा, कार्यकारी कार्यपालक निदेशक (परियोजनाएं) अशोक कुमार, मुख्य स्वास्थ्य अधिकारी प्रभारी डाक्टर. एम रविन्द्रनाथ, मुख्य महाप्रबधक (कार्मिक) निशा सोनी, महाप्रबंधक (कार्मिक-वर्क्स) शिजा मैथ्यू, महाप्रबंधक (औद्योगिक संबंध एवं कांट्रेक्ट सेल) ज्योतेन्द्र नाथ ठाकुर सहित अन्य अधिकारीगण उपस्थित थे।

ये खबर भी पढ़ें:तो क्या बोनस न मिलने से SAIL स्वर्ण जयंती का उपहार बिक रहा OLX पर, मचा हड़कंप…

कार्यक्रम में अध्यक्ष आईपी मिश्र, कार्यकारी अध्यक्ष चन्ना केशवलू, महामंत्री रविशंकर सिंह, देवेंद्र कौशिक, एके माहौर, सोम भारती, महेंद्र सिंह, हरिशंकर चतुर्वेदी, राजेश चौहान, उमेश मिश्र, शारदा गुप्ता, एविसन वर्गीश, कैलाश सिंह, रामजीत सिंह, सन्नी इप्पन, वशिष्ठ वर्मा, संजय प्रताप सिंह, धर्मेंद्र धामू, प्रवीण माडिकर, प्रदीप पाल, श्रीनिवास मिश्र, राजेश मिश्र, गंगा राम चौबे आदि मौजूद रहे।

AD DESCRIPTION AD DESCRIPTION

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here