Bonus आंदोलन: नेताओं को चार्जशीट थमाने का मामला गरमाया, CITU ने SAIL चेयरमैन सोमा मंडल को लिखी चिट्‌ठी, कहा-शांति कायम कराएं अशांति नहीं…

0
sail bonus tapan sen
बोनस को लेकर दुर्गापुर स्टील प्लांट के कर्मचारी 26 सितंबर से लगातार आंदोलन कर रहे हैं। संयुक्त रूप से आंदोलन किया जा रहा है।
AD DESCRIPTION

बोनस को लेकर दुर्गापुर स्टील प्लांट के कर्मचारी 26 सितंबर से लगातार आंदोलन कर रहे हैं। संयुक्त रूप से आंदोलन किया जा रहा है।

सूचनाजी न्यूज, भिलाई। स्टील अथॉरिटी ऑफ इंडिया लिमिटेड-सेल के कर्मचारियों के बोनस को लेकर विवाद गहराता जा रहा है। दुर्गापुर स्टील प्लांट में आंदोलन चलाने वाले कर्मचारियों के खिलाफ चार्जशीट जारी करने का मामला सेल चेयरमैन सोमा मंडल तक पहुंच चुका है। सेंटर ऑफ इंडियन ट्रेड यूनियन-सीटू के जनरल सेक्रेटरी एवं पूर्व सांसद तपन सेन ने सोमा मंडल को चिट्‌ठी लिखकर मामले में हस्तक्षेप करने की मांग की है और आक्रोश को शांत करने की सलाह दी है।

ये खबर भी पढ़ें…बोनस न मिलने का गुस्सा बीएमएस के केंद्रीय नेता डीके पांडेय पर उतरा, गमछा-बनियान में ही पदाधिकारियों ने घेरा, देखिए वायरल वीडियो

AD DESCRIPTION AD DESCRIPTION

चिट्‌ठी में लिखा गया है कि प्रबंधन कर्मचारियों के वेतन संशोधन से संबंधित अन्य मुद्दों के साथ-साथ नियमित और अनुबंध श्रमिकों दोनों के बोनस/एसपीआईएस मुद्दों पर यूनियनों के तर्कों से सहमत नहीं हो सकता है। लेकिन इसका मतलब यह नहीं है कि प्रबंधन संवैधानिक तरीकों से अपनी राय और असहमति की सामूहिक अभिव्यक्ति के अधिकार के प्रति असहिष्णु और प्रतिशोधी हो जाए।

ये खबर भी पढ़ें… प्रशासन की नाक के नीचे शिक्षक भर्ती के नाम पर ठगी का धंधा, माकपा ने की कार्रवाई की मांग

इस्पात संयंत्रों का पूरा कार्यबल हमेशा एक अत्यंत कठिन परिस्थिति से सेल की ऐतिहासिक रूप से उच्च लाभप्रदता को संभव बनाने के लिए परिचालन उत्पादकता और दक्षता में निरंतर सुधार के लिए पूरी तरह से समर्पित है। डीएसपी प्रबंधन द्वारा यूनियनों के नेताओं और कार्यकर्ताओं को निराधार आरोपों पर कारण बताओ नोटिस जारी किया गया है।

ये खबर भी पढ़ें… Barnawapara Sanctuary: छत्तीसगढ़ में पर्यटन का मजा लेना है तो बारनवापारा अभ्यारण जरूर आइए, तेंदुआ संग देखिए वन्य प्राणी

अब तक सीटू, एचएमएस और बीएमएस के सिमंत चटर्जी, राणा मजूमदार, गौतम चट्टोपाध्याय, मानस चट्टोपाध्याय को चार्जशीट दिया गया है। जबकि डीएसपी में कार्यरत सभी सात यूनियनों द्वारा संयुक्त रूप से कार्यक्रम हुआ था। तपन सेन ने कहा कि मैं दृढ़ता से कहना चाहता हूं कि कार्यक्रम बिल्कुल अनुशासित और संवैधानिक तरीके से आयोजित किए गए थे। प्रबंधन द्वारा लगाए गए आरोप “कर्मचारियों की आवाजाही को संयंत्र परिसर में प्रवेश करने से रोक रहे हैं”…जिससे सामान्य यातायात आंदोलन प्रभावित हुआ और परिणामस्वरूप ड्यूटी के लिए रिपोर्ट करने में ड्यूटी वाले कर्मचारियों की देरी आदि गलत है।

ये खबर भी पढ़ें… मेक इन इंडिया डिजिटल प्रोजेक्ट: 500 दिनों में लगेंगे 25,000 नए टावर, 36,000 करोड़ स्वीकृत

सेल चेयरमैन से आग्रह किया गया है कि कृपया हस्तक्षेप करें, ताकि डीएसपी प्रबंधन को औद्योगिक संबंधों में ऐसी प्रतिशोधी संस्कृति का अभ्यास करने से रोका जा सके। सभी वैध विरोधों को रोकने के लिए श्रमिकों और उनकी यूनियनों को आतंकित करने के एकमात्र इरादे से कामगारों को चार्जशीट देना गलत है। जारी सभी कारण बताओ नोटिस को वापस लिया जाए।

ये खबर भी पढ़ें… Coal India News: कोल इंडिया का प्रोडक्शन बढ़ा, कोयला आधारित बिजली उत्पादन 2021 की तुलना में सितंबर-22 में 13.40% ज्यादा

AD DESCRIPTION AD DESCRIPTION

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here