Breaking News: भिलाई स्टील प्लांट के नए ईडी पीएंडए एमएम गद्रे के ब्रेन में आया ब्लड, आईसीयू में भर्ती

अज़मत अली, भिलाई। स्टील अथॉरिटी ऑफ इंडिया लिमिटेड (SAIL) के भिलाई स्टील प्लांट (BSP) के नए ईडी पीएंडए एममए गद्रे की तबीयत खराब हो गई है। बुधवार सुबह सिर में दर्द की शिकायत पर वह अकेले ही सेक्टर-9 अस्पताल पहुंचे। चिकित्सक से परामर्श लेकर मीटिंग में जाने की तैयारी में थे। हालत देखकर डाक्टर को शक हुआ। सिटी स्कैन किया गया तो ब्रेन में ब्लड नजर आया। यह देखते ही आनन-फानन में उन्हें बेड पर लेटा दिया गया। तत्काल आईसीयू में भर्ती किया गया।

ये खबर भी पढ़ें: Rourkela Steel Plant: स्टील मेल्टिंग शॉप-2 के चौथे स्लैब कास्टर और लैडल फर्नेस की पड़ी नींव, भारत-जर्मनी मिलकर करेगा कंस्ट्रक्शन

भर्ती करने के बाद चिकित्सक ने बीएसपी के वरिष्ठ अधिकारियों और परिवार को सूचना दी। काफी देर तक जांच-पड़ताल के बाद तय किया गया कि ईडी पीएंडए को एमएमआई नारायणा सुपर स्पेशियलिटी हॉस्पिटल रायपुर में भर्ती कराया जाए। बीएसपी प्रबंधन हरकत में आया और उन्हें रायपुर लेकर रवाना हो गया। बुधवार शाम तक स्थिति सामान्य बताई गई। नारायणा में कई टेस्ट किए गए। गुरुवार को भी कुछ और टेस्ट किए जाएंगे। इसके बाद ही स्थिति और स्पष्ट हो सकेगी।

ये खबर भी पढ़ें: 10 मिनट में तीन लाख तक इमरजेंसी और आधे घंटे में लीजिए 10 लाख का सामान्य लोन

बताया जा रहा है कि ईडी पीएंडए एमएम गद्रे को अकेले देख चिकित्सकों के भी होश उड़ गए। बतौर ईडी पीएंडए एक सामान्य मरीज की तरह वह पहुंच थे। पहले ईसीजी कराया गया, तभी वह आफिस जाने की बात बार-बार बोल रहे थे। मीटिंग में शामिल होने के लिए वह काफी सक्रिय दिख रहे थे। सिर में दर्द की बात को डाक्टर हल्के में नहीं लिए। पांच मिनट में जांच कराने की बात बोलकर उनका सिटी स्कैन कराया गया। रिपोर्ट आने के बाद हड़कंप मच गया। आईसीयू में ले जाने तक ईडी पीएंडए को ब्रेन में ब्लड आने की बात की जानकारी नहीं दी गई थी।

ये खबर भी पढ़ें: डिप्लोमा इंजीनियर्स को साथ लेकर खदान का सेफ्टी रूल्स प्लांट में लागू करे सेल, वर्कमैन इंस्पेक्टर से थम जाएंगे हादसे

बता दें कि बीएसपी के सीजीएम इंचार्ज मिल्स के रूप में एमएम गद्रे ने 13 जून को ईडी पीएंडए पद के लिए इंटरव्यू दिया था।। सेल के 30 सीजीएम व सीजीएम इंचार्ज ईडी के रूप में चयनित हुए थे, जिसमें एमएम गद्रे भी शामिल हैं। चार दिन पूर्व में उन्होंने ईडी पीएंडए का कार्यभार संभाला था।

ये खबर भी पढ़ें: BSP Union Election 2022: नेताजी ये बताइए…प्रबंधन या विभाग जूनियर इंजीनियर पदनाम में आगे आता है तो आप रोड़ा क्यों अटकाते हैं?

भिलाई स्टील प्लांट के नए ईडी पीएंडए एमएम गद्रे का नाम जाना-पहचाना है। उत्पादन में कीर्तिमान रचने वाले विभागों की कमान संभालने वाले गद्रे हमेशा पर्दे के पीछे ही रहे। ग्लैमर से दूर रहने वाले नए ईडी पीएंडए रिटायरमेंट से करीब नौ माह पूर्व प्लांट से बाहर आए। प्लेट मिल से कॅरियर की शुरुआत की और रेल मिल में अपनी छाप छोड़ी। रेल-सेल के रिश्ते को मजबूती देने लिए उत्पादन में लंबी छलांग लगवाई।

ये खबर भी पढ़ें: बोकारो स्टील प्लांट के ईडी वर्क्स बीके तिवारी, ईडी पीएंडए संजय कुमार और ईडी कोलियरीज अनूप ने संभाला पदभार

रेल मिल में एमएम गद्रे के आने के बाद रेल का उत्पादन बढ़ना शुरू हुआ। इतना ही नहीं, लगातार लगभग 7 महीने तक रिकॉर्ड रेल उत्पादन हुआ, जो उनके नेतृत्व क्षमता को दर्शाता था। कोरोना काल में भी रेलवे की डिमांड के हिसाब से रेल का उत्पादन होता रहा। लेकिन इसके बाद उन्हें प्लेट मिल का अतिरिक्त कार्यभार दिया गया था। एक तरह से प्लेट मिल उनका मदर यूनिट था।

ये खबर भी पढ़ें: भिलाई टाउनशिप की 19 किलोमीटर की सड़क होगी फोर लेन, चौड़ाई 15 मीटर तक

वहां, उन्होंने कुछ ही महीनों में प्लेट का उत्पादन लगभग 2 गुना या 100000 टन से ऊपर तक पहुंचा दिया था। इसके बाद उन्हें सीजीएम मिल्स का कार्यभार दिया गया। वहां पर भी उन्होंने अपनी नेतृत्व क्षमता का प्रदर्शन करते हुए सभी मिलों का उत्पादन बढ़ाया। साथ ही उन्होंने सुरक्षा के प्रति मिल्स में लगातार काम किया और उसका परिणाम भी सामने आने लगा। बताया जा रहा है कि एमएम गद्रे हाइड्रोलिक एक्सपर्ट हैं। अब बतौर ईडी पीएंडए नई पाली शुरू कर चुके हैं। माना जा रहा है कि जल्द ही वह ठीक होकर कामकाज संभाल लेंगे।

ये खबर भी पढ़ें: Exclusive News: घरों की मस्त कराइएगा रंगाई-पोताई, सेल से 55 हजार तक वापस लीजिएगा मेरे भाई

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!