सांसद विजय बघेल के खिलाफ बीएसपी आफिसर्स एसोसिएशन ने खोला मोर्चा, कहा-अधिकारी-कर्मचारी करें बहिष्कार, पूछा-खुद की संपत्ति पर कब्जा करने वालों का सांसद क्या कराएंगे व्यवस्थापन

सूचनाजी न्यूज, भिलाई। भिलाई टाउनशिप में कब्जे की राजनीति अब गरमा गई है। बीएसपी आफिसर्स एसोसिएशन-ओए ने सांसद विजय बघेल के द्वारा सिविक सेंटर चौपाटी में कब्जेदारों की बेदखली कार्यवाही को रोकने की कड़ी निंदा की है। ओए अध्यक्ष नरेन्द्र कुमार बंछोर ने कहा कि अवैध कब्जा करने वाले व उन्हें संरक्षण देने वालों को भिलाई की जनता अब सहन नहीं करेगी। कठोर से कठोर कदम भिलाई प्रबंधन को उठाने चाहिए। शासन व प्रशासन को भिलाई को सुव्यवस्थित करने में पूरा सहयोग देना चाहिए, ताकि भिलाई शहर को अवैध कब्जों से मुक्त कर एक सुंदर, सुव्यवस्थित और सुरक्षित शहर के रूप में पहचान दिलाई जा सके। सिविक सेंटर चौपाटी में अवैध कब्जा की बेदखली की कार्यवाही को रोकवाकर दुर्ग सांसद ने असामाजिक तत्वों को बढ़ावा दिया है, जो भिलाई के शांतिप्रिय लोगों के सुरक्षा के लिए गंभीर खतरा है।

ये खबर भी पढ़ें: इस्को की तर्ज पर किरायेदार बसाने वाले कर्मचारियों और अधिकारियों से एक-एक लाख की वसूली शुरू होते बीएसपी के 10 फीसद मकान हो जाएंगे खाली

स्टील एग्जीक्यूटिव फेडरेशन ऑफ इंडिया-सेफी के चेयरमैन व ओए अध्यक्ष एनके बंछोर ने कहा कि ऐसे नेता एवं जनप्रतिनिधि जो अवैध कब्जेधारियों के लिए राजनीति करते हैं, उनसे भिलाई इस्पात संयंत्र के अधिकारियों एवं कर्मचारियों को दूरी बनाकर रखना चाहिए। उनका बहिष्कार करना चाहिए ताकि भिलाई शहर पुनः अवैध कब्जेधारियों से मुक्त हो सके। नगरवासियों के लिए सभी बाजार स्वच्छ, सुंदर एवं सुरक्षित हो सके। उन्होंने कहा कि ऐसे नेता जो राष्ट्रीय संपत्ति पर अवैध कब्जा करने वाले कब्जेधारियों को व्यवस्थापन की बात करते हैं, क्या वो अपने स्वयं की संपत्ति पर अवैध कब्जा होने पर व्यवस्थापन देंगे? भिलाई व दुर्ग की जनता को ऐसे जनप्रतिनिधियों एवं नेताओं से जो अवैध कब्जों की राजनीति करते हैं, उनसे सावधान रहने की आवश्यकता है।

ये खबर भी पढ़ें: सीटू का दृष्टि पत्र: न किसी यूनियन पर वार, न पलटवार, आपसी एकता को बनाया हथियार…, दो कार्यकाल के कामों को बताया बिंदुवार

ओए-बीएसपी ने अपनी बैठक में प्लांट व टाउनशिप के लिए स्वच्छ, सुंदर एवं सुरक्षित भिलाई का संकल्प लिया है, जिसकी पूर्ति हेतु आवश्यक कदम उठाए जाएंगे। पार्किंग की व्यवस्था सभी मार्केट में सुव्यवस्थित हो, ताकि भिलाई शहर के रहवासी सुरक्षित रहें। शासन व प्रशासन को हर मकान व दुकान में रहने वालों की जानकारी उपलब्ध होनी चाहिए, ताकि अवांछित तत्वों को भिलाई में बसने से रोका जा सके। उन्होंने उम्मीद जाहिर की है कि भिलाई की जनता अवैध कब्जों को हटाने में पूरा सहयोग प्रदान करेगी।

ये खबर भी पढ़ें: सेल कार्मिकों की आवाजाही की कुंडली अगले महीने से रखेगा प्रबंधन, ट्रायल शुरू, कार-बाइक के लिए क्यूआर कोड का आदेश जारी, व्हीकल गेट पास ऐसे बनाएं ऑनलाइन…

ओए ने नेताओं, ठेकेदारों और कब्जेदारों के खिलाफ निंदा प्रस्ताव किया पारित

बीएसपी के नगर सेवाएं विभाग द्वारा शहर के विभिन्न स्थानों पर किए जा रहे अवैध निर्माण व कब्जों के खिलाफ बड़े पैमाने पर निरंतर मुहिम चलाई जा रही है। अनेक जगहों पर की जा रही कार्यवाही से नगर सेवाएं विभाग के अधिकारियों एवं कर्मचारियों के साथ कुछ स्थानीय ठेकेदार एवं स्थानीय नेताओं के द्वारा अत्यंत ही आपत्तिजनक व्यवहार किया जा रहा है, जो बेहद निंदनीय है। ओए-बीएसपी ने अपनी कार्यकारिणी की बैठक में भिलाई टाउनशिप में इस प्रकार की अराजकता पर तथा भिलाई के नागरिकों की सुरक्षा पर आघात पहुंचाने वाले स्थानीय नेताओं के कृत्यों पर घोर आपत्ति जताते हुए इसकी पुरजोर निंदा की है।

ये खबर भी पढ़ें: JBCCI की बैठक बेनतीजा रहने पर भड़के सीटू, एचएमएस, बीएमएस और एटक, कोयला मंत्री प्रह्लाद जोशी से मांगा मुलाकात का समय

चौपाटी व बोरिया है सबसे बड़ा अवैध बाजार, टैक्स देने वाले हो रहे परेशान

-ओए बीएसपी ने नगर सेवा विभाग द्वारा अवैध कब्जों को हटाने हेतु जो प्रयास किया जा रहा है उसकी प्रशंसा की है।
-इंफोर्समेंट डिपार्टमेंट के अधिकारियों एवं कर्मचारियों को मिलकर बधाई दी है।
-ओए-बीएसपी की एक समिति इस विषय में सहयोग प्रदान करने के लिए गठित कर दी गई है।
-अवैध कब्जों के खिलाफ न्यायालय के निर्णय के फैसले के अनुरूप कार्य होना चाहिए।
-चौपाटी एवं बोरिया बाजार शहर का सबसे बड़ा अवैध बाजार है, जहां राजनीतिक संरक्षण में व्यापार चल रहा है।
-एक ओर वह आवंटित दुकानदार हैं, जो बीएसपी प्रबंधन एवं सरकारों को राजस्व व टैक्स देते हैं। और व्यापार करते हैं।
-दूसरी ओर वो अवैध कब्जेधारी हैं, जो राष्ट्रीय सम्पत्ति पर अवैध कब्जा करते हैं। वो न टैक्स देते हैं, न राजस्व देते हैं और इन अवैध कब्जेधारियों की दादागिरी से भिलाई के नागरिकों की सुरक्षा भी खतरे में पड़ चुकी है।

ये खबर भी पढ़ें: पुरई गांव के तालाब में तैरने वाले बच्चे भी उतरे स्विमिंग पूल में, पानी में मिटी अमीरी-गरीबी, नेशनल चैंपियनशिप के लिए 200 बच्चे दिखा रहे प्रतिभा

कब्जे का समर्थन करने वालों पर हो एफआइआर

विदित हो कि बीएसपी द्वारा एक सर्कुलर जारी किया गया था जिसमें यह उल्लेखित किया गया था कि जो भी व्यक्ति अवैध कब्जों को रोकने की दिशा में हस्तक्षेप करेगा, उनके खिलाफ एफआईआर दर्ज कराई जाएगी। भिलाई के नागरिकों की सुरक्षा को देखते हुए ओए-बीएसपी इस सर्कुलर के क्रियान्वयन में अपना पूर्ण सहयोग एवं समर्थन देगा। सेल राष्ट्र की एक महत्वपूर्ण सावर्जनिक उपक्रम है, जिसकी संपत्तियों की रक्षा करना हर नागरिक का कर्तव्य है। भिलाई इस्पात संयंत्र जो सेल की ध्वजवाहक इकाई है। पिछले 6 दशकों से भिलाई शहर ने अपने सौंदर्य और योजनाबद्ध विकास के चलते देश में अपनी अलग पहचान बनाई है।

ये खबर भी पढ़ें: CITU Election Campaign: भिलाई स्टील प्लांट में होती थी सीपीएफ लोन और आवास आवंटन में दलाली, जानिए कर्मियों ने क्या खोले राज…

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!