BSP Summer Camp Concluding: 39 सेंटरों पर 25 खेलों में 2812 बच्चों की खेल प्रतिभा को तराशा 132 कोचों ने, जश्न में झूमे खिलाड़ी, 150 को गोद लेगा बीएसपी

सूचनाजी न्यूज, भिलाई। गुरुवार का दिन खेल और भिलाई स्टील प्लांट के लिए खास रहा। देश के तीसरे सबसे बड़े समर कैंप का गवाह भिलाई स्टील प्लांट बना। 39 सेंटरों पर 2812 बच्चों को 25 खेलों का हूनर सिखाने वाले 132 कोचों ने समर कैंप को ही यादगार बना दिया। छह मई से नौ जून तक समर कैंप में बच्चे मशगूल रहे। समापन पर बच्चों ने खेल की प्रतिभा का प्रदर्शन भी किया। जिम्नास्टिक, बॉक्सिंग, कराते का डेमा भी किया गया। स्पोर्ट्स समर कैंप का समापन समारोह सेक्टर-1 पंत स्टेडियम में शाम छह बजे से शुरू हुआ। पहली बार समर कैंप में 2812 बच्चों ने हिस्सा लिया। इन्हें बारी-बारी से सर्टिफिकेट भेंट किए गए।

बीएसपी हादसे की वजह से डायरेक्टर इंचार्ज अनिर्बान दासगुप्ता कार्यक्रम में नहीं पहुंच सके। डायरेक्टर इंचार्ज की गैर मौजूदगी में ईडी पीएंडए केके सिंह बतौर मुख्य अतिथि शामिल हुए। कार्यक्रम में रामकृष्ण मिशन आश्रम नारायणपुर के याप्तानंद महाराज ने खिलाड़ियों का हौसला बढ़ाया। महाराज ने पिछले दिनों नारायणपुर में हुए खेल मेला के बेहतरीन फोटोग्राफ का एलबम ईडी पीएंडए को भेंट किया।

समापन समारोह की शुरुआत शॉर्ट फिल्म दिखाकर की गई। 15 मिनट की इस फिल्म में बीएसपी के खेल मैदान और समर कैंप में शामिल खिलाड़ियों की प्रतिभाओं का संगम दिखा। प्रोटेक्टर के माध्यम से फिल्म को बच्चे निहारते रहे। शॉर्ट फिल्म में अपना-अपना चेहरा देख उत्साहित बच्चों तालियां बजाते रहे। बीएसपी स्थापना काल से अब तक के खेल सफर को वीडियो में दिखाया गया। हर कोचिंग की झलक को अतिथि भी निहारते रहे।

ईडी पीएंडए केके सिंह ने कहा कि यह समर कैंप बच्चों को सही मार्गदर्शन देने के लिए आयोजित की गई है। बच्चों को सही समय पर ही सही मार्गदर्शन दिया जाए तो वे अच्छे खिलाड़ी बनकर उभरते हैं। सही प्रैक्टिस से खेल की प्रतिभा निखरती है। बीएसपी खेल को बढ़ावा देने के लिए किसी तरह की कोई कमी नहीं करेगा। खेल मैदानों को संवारने की दिशा में फंड की व्यवस्था की गई है। जल्द ही इस पर कार्य भी शुरू हो जाएगा। वहीं, व्याप्तानंद महाराज ने कहा कि स्पोर्ट्स को इंडस्ट्री के रूप में लें। भविष्य की बहुत संभावनाएं हैं। इसे रोजगार के नजरिए से लें ताकि खिलाड़ियों में प्रतिस्पर्धा बनी रहे।

खेल अधिकारी एसआर जाखड़ के संयोजन में सभी 2812 बच्चों को समर कैंप का सर्टिफिकेट भेंट किया जाएगा। समापन अवसर पर सीजीएम पर्सनल निशा सोनी, जीएम लॉ संजय द्विवेदी, सेफी चेयरमैन नरेंद्र कुमार बंछोर, ओए महासचिव परविंदर सिंह आदि मौजूद हैं। बता दें कि समर कैंप में सबसे ज्यादा बच्चे फुटबॉल, एथलेटिक्स, बास्केटबॉल और क्रिकेट में थे। हर ग्राउंड पर सुबह छह बजे से खेल का मेला लगता था। अलग-अलग खेलों के कोच बारीकी से बच्चों को सिखाते थे। इन्हीं बच्चों में से बीएसपी खिलाड़ियां का चयन करेगी, जिनहें डे-बोर्डिंग में रखकर नेशनल प्लेयर बनाने की कोशिश की जाएगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!