बीएसपी ने जीता सेल स्तरीय चेयरमैन ट्रॉफी फॉर यंग मैनेजर्स का खिताब

सूचनाजी न्यूज, भिलाई। सेल के प्रबंधन प्रशिक्षण संस्थान (एमटीआई) में चेयरमैन ट्रॉफी फॉर यंग मैनेजर्स (सीटीवाईएम) 2021-22 का सेल स्तरीय आयोजन किया गया। प्रबंधन प्रशिक्षण संस्थान (एमटीआई) में सेल के एकीकृत इस्पात संयंत्रों एवं सेल की अन्य सर्विसेस यूनिटों का प्रतिनिधित्व करने वाली विभिन्न इकाइयों के फाइनलिस्ट टीमों द्वारा तकनीकी पेपर प्रस्तुत किए गए। जिसमें भिलाई इस्पात संयंत्र का प्रतिनिधित्व करने वाली टीम ने इस प्रतिष्ठित सेल स्तरीय प्रतियोगिता चेयरमैन ट्रॉफी फॉर यंग मैनेजर्स (सीटीवाईएम) 2021-22 का खिताब अपने नाम कर भिलाई का नाम रोशन किया।

ये खबर भी पढ़ें:बोकारो स्टील प्लांट ने अपनाया सीएनजी और पीएनजी, डायरेक्टर इंचार्ज के घर में पीएनजी का लगा पहला कनेक्शन

इस विजयी व ऊर्जावान टीम के सदस्यों में एपी पंसारी-एजीएम (वित्त), एमडी नौशाद आलम-एजीएम (सतर्कता) और मनोज कुमार श्रीवास्तव-एजीएम (प्रोजेक्ट्स)। लगातार दूसरे वर्ष भिलाई की टीम ने इस प्रतिष्ठित प्रतियोगिता में जीत हासिल कर भिलाई का परचम लहराया है। इस सेल स्तरीय प्रतियोगिता में पात्रता हासिल करने के लिए संयंत्र स्तरीय प्रतियोगिता का आयोजन किया जाता है। संयंत्र स्तर पर प्रथम आने वाली टीम को एमटीआई, रांची में होने वाले सेल स्तरीय प्रतियोगिता में भाग लेने हेतु पात्रता प्राप्त होती है।

ये खबर भी पढ़ें:ठेका मजदूरों का प्रदर्शन सेल की हर इकाइयों में, लेकिन बवाल सिर्फ भिलाई में, धक्का-मुक्की से बिगड़े हालात, देखिए तस्वीरें

बीएसपी स्तर पर आयोजित चेयरमैन ट्रॉफी फॉर यंग मैनेजर्स (सीटीवाईएम) 2021-22 में एपी पंसारी-एजीएम (वित्त), एमडी नौशाद आलम-एजीएम (सतर्कता) और मनोज कुमार श्रीवास्तव, एजीएम (प्रोजेक्ट्स) की टीम को विजेता घोषित किया गया था। इस वर्ष की प्रतियोगिता का विषय “सेल में विश्व स्तरीय परियोजना प्रबंधन प्राप्त करने हेतु मुद्दे और चुनौतियां” है।

प्रत्येक सदस्य को 25,000 नकद पुरस्कार और विदेशी इस्पात संयंत्र का 3 दिन का विजिट फ्री

उल्लेखनीय है कि इस प्रतियोगिता में सेल में 45 वर्ष की आयु तक के सभी कार्यपालक भाग लेने के पात्र होते हैं। प्रतियोगिता का उद्देश्य युवा प्रबंधकों में रीडिंग और प्रबंधन अवधारणाओं द्वारा उनके आत्म-विकास को प्रोत्साहित करना है। सेल स्तर पर विजेता टीम के प्रत्येक सदस्य को 25,000 रुपए के नकद पुरस्कार के साथ एक विदेशी इस्पात संयंत्र का 3 दिवसीय दौरा करने का अवसर प्राप्त होता है। सेल स्तर पर प्रथम उपविजेता टीम के प्रत्येक सदस्य को 15,000 रुपए के नकद पुरस्कार के साथ एक विदेशी इस्पात संयंत्र का 3 दिवसीय दौरा करने का अवसर प्राप्त होता है। विजयी टीम को बीएसपी उच्च प्रबंधन ने बधाई दी है।

ये खबर भी पढ़ें:दुलकी खदान में पहले नक्सलियों की थी धमक, अब बीएसपी के लौह अयस्क की चमक

बीएसपी की टीमों ने अब तक 8 बार जीता पुरस्कार

बीएसपी की टीमों ने अब तक 8 बार (2004-05, 2007-08, 2009-10, 2013-14, 2014-15, 2016-17, 2020-21 और 2021-22) इस प्रतिष्ठित ट्रॉफी को जीतने में सफल रही है। इसके अतिरिक्त बीएसपी की टीमें 5 बार (2006-07, 2008-09, 2010-11, 2015-16 और 2018-19) उपविजेता का खिताब भी प्राप्त कर चुकी हैं। इस प्रकार 2004-05 में प्रतियोगिता की शुरुआत के बाद से 18 प्रतियोगिताओं में से, बीएसपी की टीमों ने कुल 13 बार शीर्ष दो स्थानों पर अपना कब्जा जमाया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!