भिलाई चौपाटी की तरफ बढ़ा बुलडोजर, 17 दुकानें ध्वस्त, कब्जेदार पस्त, 18 करोड़ की जमीन कब्जामुक्त, देखें तस्वीरें…

सूचनाजी न्यूज, भिलाई। भिलाई टाउनशिप के हृदयस्थल सिविक सेन्टर से कब्जेदारों को उखाड़ने का सिलसिला जारी है। सोमवार को बीएसपी द्वारा कब्जेदारों के खिलाफ बड़ी कार्रवाई की गई। प्रबंधन का कहना है कि टाउनशिप की खोई सुंदरता को वापस लाने का अभिनव प्रयास किया जा रहा है।
भिलाई इस्पात संयंत्र के नगर सेवा विभाग द्वारा सोमवार को संपदा न्यायालय के बेदखली आदेश के परिपालन में सिविक सेंटर में करोड़ों की बेशकीमती जमीन पर अवैध रूप से संचालित बाजार को हटाने का दौर तेज कर दिया गया है। 17 अवैध दुकानों को कार्यपालिक मजिस्ट्रेट और जिला पुलिस बल की उपस्थिति में हटाया गया। बेदखली की कार्यवाही की गई। बीएसपी की करीब लगभग बीस हजार स्क्वायर फ़ीट की भूमि पर बाजार लगाया जा रहा है। इसकी कीमत करीब 18 करोड़ रुपये बताई जा रही है। कार्रवाई के दौरान जेसीबी की मदद से बांस-बल्लियों से घिरे अवैध कब्जों को हटाया गया। इस कार्यवाही के दौरान बड़ी संख्या में पुलिसबल उपस्थित थी। प्रवर्तन विभाग द्वारा लगातार बेशकीमती जमीन को अवैध कब्जों से छुड़ाने की कार्यवाही लगातार जारी है।

वहीं, अवैध कब्जेदारों में हड़कंप मचा हुआ है। अधिकारियों का कहना है कि बारी-बारी से सभी कब्जेदारों की बारी आ रही है। कब्जेदार विभिन्न राजनीतिक दलों और राजनेताओं के पास दौड़ लगा रहें कि उनका कब्जा बच जाए।

शहर के प्रबुद्धजन भिलाई इस्पात संयंत्र की जमीन से कब्जेदारों को बेदखल करने की कार्रवाई का समर्थन कर रहे हैं। कार्यवाही से खुश हैं और नगर प्रशासन विभाग आकर इस बात का आश्वासन दिया जा रहा है कि जो भी लोग अवैध कब्जेदारों की शिफारिश करेंगे, उनका पुरजोर विरोध किया जाएगा।

प्रवर्तन विभाग ने सभी संबंधित लोगों से निवेदन किया है कि भिलाई शहर की खोई गरिमा और प्रतिष्ठा जो अवैध कब्जे की वजह से खो गई है, उसे वापस मूल रूप में लाने का समर्थन करें।इस अभियान और महायज्ञ में सभी राजनीतिक दल,व्यक्ति, ट्रेड यूनियन, ऑफिसर्स एशोसिएशन के सहयोग से ही संभव हो पाएगा। इस कार्यवाही में नगर सेवा विभाग के प्रवर्तन विभाग, राजस्व विभाग, आवास विभाग, जनरल सेक्शन,भूमि विभाग, प्रवर्तन विभाग व बिजली विभाग शामिल है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!