कैंटीन संचालक का BMS पर आरोप, कहा-21 हजार चंदा न देने पर बीएमएस को मिल रही खाने में इल्ली और खामियां

0
BMS Bhilai accused of extortion money
बीएमएस के कार्यकारी अध्यक्ष चन्ना केशवलू और महामंत्री रविशंकर सिंह पर चंदा के लिए दबाव बनाने का आरोप।ठेकेदारों के खिलाफ शिकायत का मामला
AD DESCRIPTION

बीएमएस ने प्लांट की सभी कैंटीनों का ठेका निरस्त करने और संचालकों को प्रतिबंधित करने की मांग की। इस आरोप पर बीएसपी के कैंटीन संचालक ने बीएमएस नेताओं की पोल खोल दी।

सूचनाजी न्यूज, भिलाई। भिलाई स्टील प्लांट की मान्यता प्राप्त यूनियन बीएमएस पर ठेकेदारों ने गंभीर आरोप लगाए हैं। जबरन चंदा वसूली का आरोप लगाया गया है। पैसा न देने पर ठेकेदारों के खिलाफ बीएसपी में शिकायत का मामला सामने आया है। दहशरा पर्व के आयोजन के लिए 21-21 हजार रुपए की रसीद काटी गई थी, जिसका विरोध करने पर बीएमएस ने ठेका निरस्त करने की मांग तक कर दी है।

ये खबर भी पढ़े… Bhilai Steel Plant: कैंटीनों के खाने में मिल रही इल्ली, सभी ठेका निरस्त कर कैंटीन संचालकों पर बैन लगाने की मांग

AD DESCRIPTION AD DESCRIPTION

प्रबंधन पर दबाव बनाया जा रहा है कि कार्रवाई की जाए। यह मामला तब सामने आया, जब बीएमएस ने प्लांट और अस्पताल की कैंटीन के खाने में इल्ली मिलने और घटिया सामान इस्तेमाल करने का आरोप लगाते हुए विज्ञप्ति जारी कर दी।

सूचनाजी.कॉम में बीएमएस की खबर प्रसारित होते ही बीएसपी कैंटीन के संचालक सामने आ गए। उन्होंने सबूत पेश करते हुए बीएमएस के कार्यकारी अध्यक्ष चन्ना केशवलू और महामंत्री रवि शंकर सिंह पर गंभीर आरोप लगा दिए। कहा-जबरन चंदा की रसीद थमाई गई थी। 21-21 हजार रुपए न देने का बदला लिया जा रहा है। पंकज/मुस्कान कैटरर्स के संचालक ज्ञानेंद्र सिंह ने सूचनाजी.कॉम को बताया कि बीएमएस के महामंत्री रविशंकर सिंह से पुरानी जान-पहचान है।

ये खबर भी पढ़े… SAIL Bonus: तो क्या अन्ना हजारे की तरह दिल्ली में अनशन पर बैठेंगे संजीवा रेड्‌डी

वह बीएमएस के कार्यकारी अध्यक्ष चन्ना केशवलू को लेकर मेरे पास आए थे। सेक्टर-7 मैदान में दशहरा पर्व के लिए 21-21 हजार रुपए की रसीद काट दी। राजा कैटरर्स के संचालक शशांक सिंह की रसीद भी ज्ञानेंद्र को थमाई गई, क्योंकि दोनों दोस्त हैं। ज्ञानेंद्र ने बताया कि रवि अंकल ही चन्ना जी से परिचय कराया। चंदे की रसीद थमाने के बाद कहा गया कि पैसा पहुंचा देना…।

ये खबर भी पढ़े… Share Market की पाठशाला है Intraday स्टॉक, नए निवेशक करें कमाई की शुरुआत

इस बारे में ज्ञानेंद्र ने शशांक से बात की। दोनों ने तय किया कि 5100 रुपए चंदा दे दिया जाएगा। इसकी जानकारी रविशंकर सिंह को दी गई। लेकिन वह तैयार नहीं हुए और कहा था कि 21 हजार ही देना पड़ेगा। पैसा नहीं दिए तो कैंटीन चलाना मुश्किल हो जाएगा। 3 तारीख को दोपहर में बोकारो हॉस्टल के मेस में बातचीत हुई थी।

जानिए बीएमएस के कार्यकारी अध्यक्ष व महामंत्री ने क्या कहा…

कार्यकारी अध्यक्ष चन्ना केशवलू ने कहा कि कैंटीन में सब चोर है। कर्मचारियों का स्वास्थ्य खराब हो रहा है। सुबह शुगर-बीपी वालों को नाश्ता नहीं मिल रहा है। सेक्टर-9 कैंटीन वाला भी चोर है। बीएमएस पदाधिकारियों ने दौरा कर सर्वे किया है। जबरन चंदा किसी से नहीं लिए हैं। सहयोग राशि मांगी गई थी। कोई भी कार्यक्रम होता है। सहयोग लेते हैं। रशीद दिए हैं। कोई अवैध वसूली नहीं कर रहे हैं। देना या न देना उनका अधिकार है। अवैध वसूली नहीं कर रहे हैं। सार्वजनिक काम के लिए लाखों रुपए खर्च होते हें, सभी लोग करते हैं।

ये खबर भी पढ़े… भिलाई स्टील प्लांट के ईडी वर्क्स और सीजीएम में टकराव, छुट्‌टी पर गए CGM, इस्तीफे की चर्चा…!

महामंत्री रविशंकर सिंह ने भी चन्ना केशवलू की बात को दोहराया। कहा- बीएमएस का स्वास्थ्य से मतलब है। ये चंदा के लिए नहीं है। सहयोग करना न करना उनका अधिकार है। हर कोई सहयाग मांगता है, हमने भी मांगा है। कैंटीन की खामियों को उजागर करना हमारा अधिकार है। बेहतर व्यवस्था के लिए ऐसा किया गया है।

ये खबर भी पढ़े…सेल-भिलाई स्टील प्लांट में दुनिया की सबसे लंबी रेल पटरी बनाते समय हादसा, बाल-बाल बचे कर्मचारी

AD DESCRIPTION AD DESCRIPTION

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here