सेल कर्मचारियों के ताउम्र टेक्नीशियन रहने से कॅरियर तबाह…!

0
intuc bsp worker union
बीएसपी वर्कर्स यूनियन और इंटक के बीच बयानबाजी का दौर जारी। बीडब्ल्यूयू ने कहा-NEPP का इंटक ना करे बचाव। बीडब्ल्यूयू ने जुबानी हमला बोल दिया।
AD DESCRIPTION

उज्जवल दत्ता बोले-कर्मचारियों पर ये दोनों प्रोमोशन पॉलिसी क्यों थोपी जा रही है? एक पॉलिसी को मोहरा बनाकर प्रोमोशन रोका जा रहा है।

सूचनाजी न्यूज, भिलाई। बीएसपी वर्कर्स यूनियन और इंटक के बीच बयानबाजी थम नहीं रही है। एक बार फिर इंटक पर बीडब्ल्यूयू ने जुबानी हमला बोल दिया है। बीएसपी कर्मचारियों के लिए बनाई गई विवादित प्रमोशन पॉलिसी NEPP पर बवाल मचा हुआ है और आरोप प्रत्यारोप भी चरम पर है। बीएसपी वर्कर्स यूनियन के अध्यक्ष उज्जवल दत्ता ने कहा कि इंटक अपने कुठाराघाती NEPP का बचाव ना करे। जब इन्हे पता था कि हड़ताल में शामिल होने पर क्वालिफिकेशन बेस कैरियर ग्रोथ-2016 के तहत प्रमोशन नहीं मिलेगा, तो फिर इन्होंने इसमें सुधार क्यों नहीं किया?

ये खबर भी पढ़े …बोकारो स्टील प्लांट में गैस लगने से ठेका मजदूर की मौत…! कर्मचारियों ने कोक ओवन बैटरी में कामकाज किया ठप

AD DESCRIPTION AD DESCRIPTION

अगर कर्मचारियों को प्रोमोशन क्वालिफिकेशन बेस कैरियर ग्रोथ 2016 के आधार पर ही दिया जा रहा है, तो उन कर्मचारियों के लिए NEPP का क्या महत्व है? जब इनके NEPP के तहत भी S-2 में 3 साल होने पर कर्मचारी को S-3 ग्रेड में प्रोमोशन करा जा सकता है, तो फिर उनका प्रमोशन रोकने के लिए क्वालिफिकेशन बेस कैरियर ग्रोथ का सहारा क्यों लिया जा रहा हैं?

ये खबर भी पढ़े …भिलाई स्टील प्लांट के अधिकारियों और कर्मचारियों ने जुटाई रकम, पत्नी के इलाज के लिए ठेका मजदूर का गम हुआ कम

उज्जवल दत्ता ने आगे कि कर्मचारियों पर ये दोनों प्रोमोशन पॉलिसी क्यों थोपी जा रही है? एक पॉलिसी को मोहरा बनाकर प्रोमोशन रोका जा रहा है, तो दूसरे पॉलिसी से बीएसपी वर्कर्स को जिंदगी भर टेक्नीशियन बना कर रखने और उनके पूरे कैरियर में उनकों सम्मानजनक पदनाम ना देकर उनके कॅरियर को दूषित करने का काम किया जा रहा है। NEPP से चार्जमैन पद को हटा कर 25-30 साल के अनुभव के बाद भी टेक्नीशियन पद को ही बरकरार रखा गया है।

ये खबर भी पढ़े …Share Market Update: शेयर मार्केट में पैसा लगाने और कमाने के बेहतर संकेत, कोल इंडिया, आइटी, बैंकिंग और स्टील सेक्टर पर खास नजर

ये खबर भी पढ़े …SAIL में 30 जून की हड़ताल बन रही तरक्की में रोड़ा, कारपोरेट आफिस के नियम में फंसे कर्मचारी

प्रोमोशन को रेटिंग को आधार बनाकर भी रोका जा रहा है…

बीएसपी वर्कर्स यूनियन अध्यक्ष ने कहा कि NEPP में कर्मचारियों के प्रोमोशन को रेटिंग को आधार बनाकर भी रोका जा रहा है। NEPP के अनुसार पिछले 3 अपरेजल ईयर में अगर कर्मचारी को एक बार भी अगर C रेटिंग मिला है या उसे तीनों साल में सिर्फ B रेटिंग ही मिला है, तो वह कर्मचारी प्रमोशन का हकदार नहीं होगा।*2016 में सीटू प्रतिनिधि यूनियन था उसने भी हड़ताल में शामिल कर्मियों का प्रमोशन रोका जाएगा। इस क्लॉज का विरोध नहीं किया और 2018 में इंटक सत्ता में आने के बाद इंटक ने भी इस क्लॉज पर आपत्ति नहीं किया और आज अनजान बनने का ढोंग करते नजर आ रहे हैं। इस तरह से अपनी मौन स्वीकृति प्रबंधन को दे दिया, जिससे युवा कर्मियों के कॅरियर को तबाह करने में इनका ही योगदान है।

ये खबर भी पढ़े …SAIL अपने वादे पर कायम नहीं, 3 महीने में वेतन समझौता पूर्ण करने का लिखित आश्वासन हवा-हवाई, न हो सकी कोर कमेटी की बैठक, इधर-प्रमोशन वापसी पर बवाल शुरू…

डिग्रेडेशन की मार झेल रहे युवा कर्मी

डिग्रेडेशन की मार झेल रहे युवा कर्मियों को NEPP में कोई भी राहत ना देने का आरोप लगाते हुए उज्ज्वल दत्ता ने कहा कि नए युवा कर्मियों के लिए NEPP में अलग से सम्मानजनक पदनाम या शीघ्र प्रोमोशन देने की कोई व्यवस्था नहीं है। डिग्रेडेशन के कारण डिप्लोमा इंजीनियर 12 साल पीछे तो आईटीआई वाले कर्मचारी 8 साल अपने कैरियर में पीछे हो गए थे, फिर क्वालिफिकेशन बेस कैरियर ग्रोथ-2016 से इन कर्मचारियों का ट्रेनिंग काल सेवा काल में जोड़कर एवं क्लस्टर प्रोमोशन 3 साल में देकर 1 साल नुकसान कम किया गया। लेकिन इसके बाद बने NEPP में डिग्रेडेड युवा कर्मियों को फास्ट-ट्रैक प्रोमोशन देकर इनके कैरियर में हुए 11 और 7 साल के नुकसान की भरपाई किया जाना चाहिए था।

ये खबर भी पढ़े … NTPC ने 27 किलोमीटर कोटिंग पाइप का राउरकेला को दिया ऑर्डर, आरएसपी ने तोड़ा प्रोडक्शन रिकॉर्ड

जूनियर इंजीनियर पदनाम नहीं मिल पा रहा…

युवा कर्मचारियों को NEPP में फास्ट-ट्रैक प्रोमोशन का कोई लाभ नहीं दिया गया है। इसके अलावा डिप्लोमा इंजीनियर को जूनियर इंजीनियर पदनाम देने संबंधी इस्पात मंत्रालय के आदेश आने के 5 साल बाद बने इस NEPP में इस आदेश की भी उपेक्षा की गई, जिसके कारण डिप्लोमा इंजीनियर को जूनियर इंजीनियर पदनाम नहीं मिल पा रहा है।

ये खबर भी पढ़े …सरकारी दफ्तर का चक्कर लगाने की जरूरत नहीं, आपके मुहल्ले में विधायक देवेंद्र ने लगवाया शिविर, 200 से ज्यादा लोगों ने किया जाति प्रमाण पत्र का आवेदन

AD DESCRIPTION AD DESCRIPTION

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here