चेयरमैन सोमा मंडल बोलीं-सेल में कोई मुद्दा पेंडिंग नहीं, दुर्गापुर के कर्मी भड़के, एक घंटे तक अधिकारियों को खड़ा किया सड़क पर, कहा-एकमुश्त लेंगे एरियर

सेल का वित्तीय परिणाम घोषित होने के बाद बकाया एरियर मद पर कोई फैसला नहीं होने पर दुर्गापुर के कर्मचारी उतरे सड़क पर।

सूचनाजी न्यूज, दुर्गापुर। बकाया एरियर भुगतान की मांग को लेकर नाराज सेल कर्मचारियों का गुस्सा फिर भड़क गया है। सोमवार को बोर्ड ऑफ डारेक्टर्स की मीटिंग में चेयरमैन सोमा मंडल ने सेल में कोई भी पेंडिंग इश्यू नहीं होने की बात बोली। चेयरमैन की इस बात को दुर्गापुर के कर्मचारियों ने दिल पर ले लिया। कहा-39 माह का एरियर बकाया है। कर्मचारियों की सुविधाओं में लगातार कटौती हो रही है।

ये खबर भी पढ़ें:गौतम अडानी के बेटे करण ने छत्तीसगढ़ में रखा कदम, एसीसी जामुल सीमेंट प्लांट का किया दौरा

ऐसे में चेयरमैन बोल रही हैं कि कोई मुद्दा लंबित नहीं है। चेयरमैन को चैलेंज करने के लिए मंगलवार सुबह आठ से साढ़े नौ बजे तक कर्मचारियों ने मेन गेट को जाम कर दिया। कर्मचारियों को ड्यूटी जाने दिया गया, लेकिन अधिकारियों को रोक दिया। वर्चुअल मीटिंग के समय ऐसा किया गया ताकि दिल्ली तक यह मैसेज पहुंच जाए कि चेयरमैन की बात में दम नहीं है।

ये खबर भी पढ़ें: SAIL Financial Result 2022 Updates: सेल के इतिहास में पहली बार छप्पर फाड़कर 12015 करोड़ का शुद्ध मुनाफा, पिछले सभी रिकॉर्ड ध्वस्त

दुर्गापुर एचएमएस के महासचिव सुशांत रक्षित ने सूचनाजी.कॉम का बताया कि चेयरमैन सोमा मंडल ने गलत जानकारी बोर्ड मीटिंग में दी है। उन्होंने कंपनी में पेंडिंग इश्यू नहीं होने की बात बोली है, तो क्या सेल के कर्मचारी कंपनी के दायरे में नहीं है। बकाया एरियर कंपनी के दायरे में नहीं आता है।

ये खबर भी पढ़ें: सेल कर्मी के बेटे को भारत सरकार ने एक लाख, ओडिशा सरकार ने 75 हजार का दिया पुरस्कार, अब चीन में करेगा चमत्कार

सोमवार शाम को यह बात यूनियन नेताओं का पता चली। इसके बाद आपात बैठक बुलाई गई और मंगलवार सुबह अधिकारियों को ही रोकने का फैसला लिया गया। इसका मकसद यह है कि चेयरमैन तक विरोध दर्ज करा दिया जाए। गेट जाम होते ही वाहनों में सीजीएम, जीएम सहित वरिष्ठ अधिकारी अपने वाहनों में ही फंसे रहे। इस वजह से वर्चुअल मीटिंग में वे नहीं जुड़ पाए।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!