बीएसपी वर्कर्स यूनियन के अध्यक्ष सहित 5 पदाधिकारियों को चार्जशीट, यूनियन बोली-जितने को नोटिस देना है दें, कोई डरने वाला नहीं…

सूचनाजी न्यूज, भिलाई। भिलाई स्टील प्लांट-बीएसपी में मान्यता प्राप्त यूनियन चुनाव से पहले प्रबंधन और यूनियन में ठन गई है। बीएसपी वर्कर्स यूनियन के अध्यक्ष सहित 5 पदाधिकारियों के लिए चार्जशीट जारी कर दी गई है। साथ ही यह चेतावनी दी गई है कि अगर, अब भी नहीं संभले तो आगे सख्त कार्रवाई करने से प्रबंधन गुरेज नहीं करेगा। इसे शुरुआती कार्रवाई मानकर बीएसपी वर्कर्स यूनियन संभल जाए। प्रबंधन के इस दांव पर यूनियन ने ललकार दिया है। अध्यक्ष का कहना है कि प्रबंधन के चापलूस एनजेसीएस यूनियन वालों के दवाब में प्रबंधन जितने को कारण बताओ नोटिस या चार्ज शीट देना है दें, अब कोई डरने वाला नहीं…।

ये खबर भी पढ़ें: इस्पात क्षेत्र में सर्कुलर इकोनॉमी के लिए रोडमैप तैयार, संसदीय सलाहकार समिति के सदस्यों ने साझा किए सुझाव

इधर-अध्यक्ष उज्ज्वल दत्ता का कहना है कि 19 जुलाई को नेशनल ज्वाइंट कमेटी फॉर स्टील इंडस्ट्री-एनजेसीएस की बैठक होनी है। जब भी सेल के किसी यूनिट में चुनाव होता है तो ये एनजेसीएस के लोग इसी तरह का छलावा करने के लिए बैठकें करते हैं। ये मात्र कर्मियों को लॉलीपॉप देने का प्रयास करते हैं। पर बार इनका ये फॉर्मूला नहीं चलेगा…। अब सेल के कर्मचारी जाग चुके हैं, अब नॉन-एनजेसीएस समिति का गठन हो चुका है…जिसका बीएसपी वर्कर्स यूनियन (BWU) सदस्य है…।

ये खबर भी पढ़ें:इस्पात मंत्रालय मना रहा आईकॉनिक वीक, सेल इकाइयों में 10 जुलाई तक होंगे इवेंट

अपने ही चाल में अब एनजेसीएस समिति फंस चुकी है, क्योंकि यदि 19 तारीख की बैठक में सेल कर्मियों के हित में कोई फैसला नहीं हुआ तो नॉन एनजेसीएस यूनियन देश भर में एक साथ प्रदर्शन करेगी। कर्मचारियों के हित में फैसला तो अब करना पड़ेगा…। सेल के कर्मचारी 39 माह के बकाया एरियर की मांग कर रहे हैं। ग्रेच्युटी सिलिंग से कर्मचारियों को लाखों रुपए का नुकसान हो रहा है। बता दें कि बीएसपी गेट के सामने बिना अनुमति प्रदर्शन करने, प्रबंधन विरोधी नारेबाजी, रास्ता जाम करने का आरोप लगाकर नोटिस दिया गया है।

ये खबर भी पढ़ें: Bhilai Steel Plant: टीएंडडी के 192 कर्मचारियों को मिला प्रमोशन, जानिए किस पॉलिसी से मिली तरक्की, इंटक ले रहा श्रेय

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!