हड़ताली कर्मियों के प्रमोशन पर सीटू-बीएसपी वर्कर्स यूनियन आमने-सामने, बीडब्ल्यूयू बोला-सीटू नेता झूठी वाहवाही लूटने में माहिर

0
citu bwu
यूनियन का आरोप-मात्र कार्मिक विभाग के क्लर्क और छोटे अधिकारी से जानकारी लेकर झूठी वाहवाही लूटने में सीटू नेता माहिर।
AD DESCRIPTION

बीएसपी वर्कर्स यूनियन का दावा नॉन एनजेसीएस फोरम के माध्यम से लगातार सेल चेयरमैन और इस्पात मंत्री को चिट्ठी लिखी।

सूचनाजी न्यूज, भिलाई। सेल हड़ताल में शामिल होने वाले कर्मचारियों का प्रमोशन रोकने के बाद से बहाल कराने को लेकर अब श्रेय लेने वाले सामने आ रहे हैं। पहले सीटू ने दावा किया कि उसके प्रयास से प्रबंधन कर्मचारियों को प्रमोशन देने जा रहा है। चंद घंटे के भीतर ही बीएसपी वर्कर्स यूनियन ने दावा ठोक दिया कि हड़ताल में शामिल कर्मियों के प्रमोशन दिलाने में सबसे ज्यादा प्रयास बीएसपी वर्कर्स यूनियन ने किया है। मात्र कार्मिक विभाग के क्लर्क और छोटे अधिकारी से जानकारी लेकर झूठी वाहवाही लूटने में सीटू नेता माहिर हैं।

ये खबर भी पढ़े …ए जी सुनते हो…! बोनस से रानी-हार की बनवाई का खर्च आया, 50 ग्राम सोना क्यों नहीं दिलाया

AD DESCRIPTION AD DESCRIPTION

बीएसपी वर्कर्स यूनियन के महासचिव खूबचंद वर्मा ने आरोप लगाया कि सीटू नेता मात्र झूठी वाहवाही लूटने में माहिर है। इनके नेता कार्मिक विभाग के बाबू या छोटे अधिकारियों से जानकारी लेते रहते हैं और काम होने पर अपने नाम से ढोल पीटते हैं।

ये खबर भी पढ़े …दिव्यांग कर्मचारी से रिसाली मेंटेनेंस आफिस का लगवाया चक्कर, मरम्मत न होने से मासूम बच्चे के पास गिरा छत का प्लास्टर, बची जान

जबकि सच्चाई ये है कि बीएसपी वर्कर्स यूनियन ने नॉन एनजेसीएस फोरम के माध्यम से लगातार सेल चेयरमैन और इस्पात मंत्री को चिट्ठी लिख कर हड़ताल के नाम पर भिलाई में कर्मियों के प्रमोशन रोकने के प्रयास का विरोध किया। बीएसपी वर्कर्स यूनियन के अध्यक्ष उज्जवल दत्ता ने केंद्रीय श्रमायक्त और भिलाई इस्पात संयंत्र प्रबंधक पर इसके लिए लगातार दवाब बनाया,तब सीटू कहा था।

ये खबर भी पढ़े …RINL को बिकने से बचाने की लड़ाई पहुंची भारत जोड़ो यात्रा तक, आधे घंटे तक Rahul Gandhi ने सुनी दास्तां, कहा-बचाएंगे PSU

सीटू कार्मिक विभाग के मात्र जानकारी लेकर अपनी पीठ न थपथपाए। सीटू अपने दो बार के कार्यकाल में किसी प्रकार की प्रमोशन नीति ही नहीं बना पाई, जिस कारण इंटक को एनईपीपी जैसे गलत प्रमोशन नीति बना कर संयंत्र कर्मियों के अहित करने का मोका मिला। एनईपीपी लिए सीटू भी जिम्मेदार है, क्योंकि जब एनईपीपी जैसी गलत नीति बनी तो सीटू दूसरे नंबर पर थी और उसने इस नीति का विरोध नहीं किया, वरन इंटक को मौन सार्थन दिया।

ये खबर भी पढ़े … बोनस फॉर्मूला बनने से ही नूरा कुश्ती होगी बंद, दान नहीं पीबीटी के 5% का दें अधिकार

बीएसपी वर्कर्स यूनियन महासचिव खूबचंद वर्मा ने सीटू नेताओ से प्रश्न किया कि यादि इन्हे हड़ताल में शामिल भिलाई इस्पात संयंत्र कर्मियों की सच में चिंता थी तो अभी जब बोनस को लेकर एनजेसीएस की सेल में बैठक चल रही थी तो सीटू के किसी भी नेता ने एक बार भी भिलाई इस्पात संयंत्र के हड़ताली कर्मियों के प्रमोशन रोकने की चर्चा क्यों नहीं किया।

ये खबर भी पढ़े …सेल के ठेका मजदूरों को दोयम दर्ज का समझने की भूल न करे प्रबंधन, बोकारो में क्रमिक अनशन जारी

बैठक में क्या सीटू इस मुद्दे को ही भूल गई थी, उनके नेताओ को मात्र अपने टीए, डीए की चिंता थी। और अब जब बीएसपी वर्कर्स यूनियन और उसके अध्यक्ष उज्जवल दत्ता के प्रयास से कर्मियों के हित होने जा रहा है तो झूठी वाहवाही लेने आई है।

ये खबर भी पढ़े …सीटू की चुनावी नैय्या पहुंची सेक्टर-9 हॉस्पिटल, मेडिकल ज़ोन के सम्मेलन में चुने गए सदस्यों की सूची घोषित

AD DESCRIPTION AD DESCRIPTION

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here