बीएसपी में हादसा रोकने शॉप स्तर पर बनाएं सुरक्षा समिति, सवालों से बचने के लिए टास्क फोर्स बना मोहरा

सूचनाजी न्यूज, भिलाई। भिलाई श्रमिक सभा-एचएमएस ने भिलाई इस्पात संयंत्र के विभिन्न विभागों का दौरा कर दुर्घटनाओं को रोकने पर विभागीय कर्मचारियों से मुलाकात कर चर्चा की। हॉट शॉप में कोक ओवन, ब्लास्ट फर्नेस, एसएमएस-2 एवं तीन विभागों के कर्मियों से मुलाकात की। लगभग सभी विभागों के कर्मियों का कहना है कि शॉप स्तर पर विभागीय सुरक्षा समिति बनाई जानी चाहिए

ये खबर भी पढ़ें: BSP Task Force: भिलाई स्टील प्लांट की चहारदीवारी में सुरक्षा नियमों का हो रहा उल्लंघन तो इन नंबरों पर दें जानकारी, टास्क फोर्स को मिलेगी मदद

समिति में ऐसे वरिष्ठ कर्मचारियों एवं अधिकारियों को शामिल किया जाना चाहिए,जिन्हें वहां के कार्य का अनुभव हो। ऐसी दुर्घटना जिसमें कोई हताहत ना हुआ हो, ऐसी दुर्घटनाओं को कैसे रोका जाए, इस पर विचार-विमर्श कर निर्णय लिया जाना चाहिए। एसएमएस-2 के कर्मचारियों का कहना है कि जिस चेन से घायल होने पर ठेका श्रमिक की मृत्यु हुई है। वह दुर्घटना के कुछ दिन पूर्व भी लांस निकालते समय टूट कर गिरा था, लेकिन इस दुर्घटना में कोई घायल नहीं हुआ।

ये खबर भी पढ़ें:बीएसपी के एक ईडी, 2 सीजीएम, 8 जीएम संग 31 अधिकारी होंगे इसी माह रिटायर, जानिए सबके नाम

13 जून को भी हुआ था धमाका

एक कर्मचारी ने कहा कि ऐसा प्रतीत होता है कि दुर्घटनाएं और भी होंगी। उन्होंने 13 जून शाम 7:00 बजे की दुर्घटना का जिक्र करते हुए कहा कि स्लैग में ब्लास्टिंग होने के कारण जबरदस्त धमाका हुआ। कई जगह के शीशे टूट गए, लेकिन सौभाग्य की बात यह है कि कोई घायल नहीं हुआ। एक कर्मचारी ने टास्क फोर्स पर प्रश्नचिन्ह लगाते हुए कहा कि इस कमेटी में एसएमएस-2 या स्टील मेकिंग का कोई कर्मचारी या अधिकारी शामिल नहीं है, जो लोग इस कमेटी में है, उनमें से कुछ को छोड़कर बाकी ऐसे लोग हैं जिन्होंने हॉट शॉप में 10 दिन भी कार्य नहीं किया होगा। वह घटना की जांच क्या करेंगे, यह समझ से परे है।

ये खबर भी पढ़ें: सेल के एकमात्र अधिकारी वीबी सिंह भारत नहीं अफ्रीकी देश मोजाम्बिक से हो रहे रिटायर, आयरन ओर और कोयला खदान में छोड़ी छाप

हमें स्किल सिखाने वाला कोई नहीं

एक कर्मचारी ने कहा कि मेरा ट्रांसफर एसएमएस-1 से एसएमएस-2 में हुआ है। लेकिन वर्क स्पॉट पर कार्य करने की ट्रेनिंग एवं सुरक्षा की जानकारी किसी को नहीं दी गई है। वरिष्ठ कर्मचारी सेवानिवृत्त हो चुके हैं। हमें स्किल सिखाने वाला कोई नहीं है। देखो, सीखो, समझो और कार्य करो की नीति पर कार्य करना पड़ रहा है। एक कर्मचारी का कहना है कि वर्तमान विभागाध्यक्ष हर कार्य को सूक्ष्मता से निगरानी कर रहे हैं, जो एक अच्छा संकेत है।

ये खबर भी पढ़ें:महिला नेता का ठेकेदार ने पकड़ा हाथ, मामला पहुंचा थाने, बदतमीजी और श्रमिक नेताओं पर बीएसपी कार्रवाई के खिलाफ सीटू खोलने जा रहा मोर्चा

कार्यस्थल पर सुरक्षा की जिम्मेदारी किसकी

कोक ओवन के कर्मचारियों ने चर्चा में कहा कि हमारा वर्क कल्चर बहुत अच्छा है। लेकिन हमारे चार्जमैन के सेवानिवृत्त होने पर नया चार्जमैन की भर्ती नहीं हो रही है। ऐसे में कार्य के दौरान हमारी सुरक्षा की जिम्मेदारी किसकी होगी, अधिकारियों को कई कार्य होते हैं और एक साथ कई स्थानों पर उपस्थित कैसे रह सकेंगे।

ये खबर भी पढ़ें:बीएसपी हादसे में 85% झुलसे मजदूर के दोनों पैर-हाथ की सड़ी और जली स्किन का हुआ ऑपरेशन, मरीज को चाहिए खून, कीजिए रक्तदान

यूनियन के सवालों से बचने के लिए बना टास्क फोर्स

यूनियन के महासचिव प्रमोद कुमार मिश्र ने कहा कि जो टास्क फोर्स बनाया गया है। वह दुर्घटना की जांच या दुर्घटनाओं को रोकने के लिए नहीं, बल्कि यूनियन दुर्घटनाओं पर सवाल न खड़ा करें, इसलिए बनाया गया है। संयंत्र के भीतर बढ़ती हुई दुर्घटनाओं को देखते हुए यह मात्र एक औपचारिकता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!