दुर्गापुर स्टील प्लांट हादसा: एक मजदूर जिंदा जला, तीन जख्मी, देखें फोटो

0
durgapur steel plant accident
ब्लास्ट फर्नेस-2 स्लैग पुशर लाइन से स्लैग लोड निकालते समय एक स्लैग लैडल से स्लैग का रिसाव हुआ।
AD DESCRIPTION

-दुर्गापुर इस्पात संयंत्र के ब्लास्ट फर्नेस में गंभीर दुर्घटना हुई है।

-मृतक का नाम पल्टू बाउरी है। घायलों में प्रशांत बनर्जी, गोपीराम, प्रशांत गोप शामिल हैं।

-वे परमानेंट वे इंजीनियरिंग (PWE) विभाग में काम कर रहे थे।

AD DESCRIPTION AD DESCRIPTION

-मॉडर्न टेक्नोलॉजी नाम की कंपनी के तहत काम कर रहे थे।

-पीडब्ल्यूई विभाग का काम रेलवे लाइनों की मरम्मत करना है।

-दुर्घटना ब्लास्ट फर्नेस-2 में Ladle के पलटने से हुई।

सूचनाजी न्यूज, दुर्गापुर। सेल की यूनिट दुर्गापुर स्टील प्लांट में भीषण हादसा हो गया है। दर्दनाक हादसे की चपेट में एक मजदूर की मौत हो गई, जबकि तीन मजदूर जख्मी हैं। दहकते हुए स्लैग की चपेट में आने से मजदूर की हडिडयां तक गल गईं। नजरों के सामने जिंदा इंसान जलता रहा, लेकिन कोई कुछ कर नहीं सका। फायर ब्रिगेड पहुंचने के बाद अधजली लाश को बाहर निकाला जा सका।

ये खबर भी पढ़ें: महिला कार्मिकों ने बढ़ाया हौसला, टीम ने हासिल की जीत

दुर्गापुर इस्पात संयंत्र के ब्लास्ट फर्नेस में गंभीर दुर्घटना हुई है। मृतक का नाम पल्टू बाउरी है। घायलों में प्रशांत बनर्जी, गोपीराम, प्रशांत गोप शामिल हैं। वे परमानेंट वे इंजीनियरिंग (PWE) विभाग में काम कर रहे थे। मॉडर्न टेक्नोलॉजी नाम की कंपनी के तहत काम कर रहे थे। पीडब्ल्यूई विभाग का काम रेलवे लाइनों की मरम्मत करना है। दुर्घटना ब्लास्ट फर्नेस-2 में Ladle के पलटने से हुई।

ये खबर भी पढ़ें: जूनियर स्टेट बॉल बैडमिंटन चैंपियनशिप में बीएसपी की टीम हावी

दुर्गापुर स्टील प्लांट के जनसंपर्क विभाग के मुताबिक ब्लास्ट फर्नेस-2 स्लैग पुशर लाइन से स्लैग लोड निकालते समय एक स्लैग लैडल से स्लैग का रिसाव हुआ। डीएसपी के पीडब्ल्यूई विभाग के तहत ट्रैक मेंटेनेंस का काम कर रहे चार ठेका कर्मचारी प्रभावित हुए। पोल्टू बौरी नाम के एक संविदा कर्मचारी ने जलने से दम तोड़ दिया। घायल संविदा कर्मियों को इलाज के लिए अस्पताल में भर्ती कराया गया है।

ये खबर भी पढ़ें: भिलाई टाउनिशप के कब्जेदारों पर कसी नकेल, दलालों से बचें

घटना की जांच और मूल कारण का पता लगाने के लिए तत्काल एक उच्च स्तरीय जांच समिति का भी गठन किया गया है ताकि, भविष्य में ऐसी घटनाओं से बचा जा सके। इस दुर्भाग्यपूर्ण घटना से प्रबंधन बेहद दुखी है और प्रभावित परिवारों को हर संभव सहायता प्रदान कर रहा है। सेल की पूरी टीम इस घटना से दुखी है और इस कठिन समय में शोक संतप्त परिवारों के साथ खड़ी है।

ये खबर भी पढ़ें: सेक्टर-9 अस्पताल में बीएसपी कर्मी के बेटे के गले में टूटा शीशे का इंस्ट्रूमेंट, पेट से निकाला बाहर

दूसरी ओर यूनियन नेताओं का कहना है कि लैडल की घटिया क्वालिटी की वजह से यह हादसा हुआ है। सेल की अन्य इकाइयों में भी लैडल का लेकर सवाल उठता रहा है। बीएसपी में लैडल फटने की वजह से पूर्व में कई हादसे हो चुके हैं। करोड़ों का नुकसान हो चुका है।

ये खबर भी पढ़ें: राउरकेला स्टील प्लांट 35,000 बच्चों की मिटाएगा भूख

AD DESCRIPTION AD DESCRIPTION

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here