सेल वेतन समझौते का असर, ग्रेच्युटी का मॉड्यूल बंद होते कर्मियों में मचा हड़कंप

सूचनाजी न्यूज, भिलाई। बीएसपी वर्कर्स यूनियन का आरोप है कि कंपनी ने ग्रेच्युटी मॉड्यूल को बंद कर दिया है। इससे कर्मचारी ग्रेच्युटी आदि की जानकारी नहीं ले पा रहे हैं। इस बात को लेकर कर्मचारियों में हड़कंप मचा हुआ है। अध्यक्ष उज्ज्वल दत्ता ने बताया कि भिलाई इस्पात संयंत्र द्वारा कर्मियों को सारी जानकारी ई-सहयोग के माध्यम से प्राप्त होती है। ई-सहयोग नाम से एक प्रोग्राम कंप्यूटर में प्रोग्रामिंग कर के रखा गया है, जिसके माध्यम से कर्मचारी अपनी सारी जानकारी प्राप्त कर सकते हैं।

ये खबर भी पढ़ें:सेल कर्मचारियों को लगी एक और चपत, एसईएसबीएफ की ब्याज दर 8.65% से घटकर हुई 8.30%

ई-सहयोग के माध्यम से कर्मी को रिटायरमेंट पर ग्रेच्युटी की राशि की जानकारी मिलती थी। संयंत्र कर्मी ई-सहयोग के माध्यम से अपनी ग्रेच्युटी राशि की जानकारी कभी भी ले सकते थे। परंतु वेज रीविजन होने के बाद से कर्मियों को अपने ग्रेच्युटी में कमी नजर आने लगी थी। जिस कारण कर्मियों में हड़कंप मच गया था। इसे देखते हुए प्रबंधन ने ई-सहयोग से ग्रेच्युटी का मॉड्यूल ही हटा दिया। जिससे कर्मियों को अब अपनी ग्रेच्युटी में मिलने वाली राशि का पता नहीं चल पा रहा है।

ये खबर भी पढ़ें: एनजेसीएस सब-कमेटी बैठक से पहले प्रबंधन पर दबाव, वेतन समझौते को लेकर ठेका मजदूर संग सड़क पर उतरे नियमित कर्मी

संयंत्र कर्मी शिकायत लेकर पहुंचे बीएसपी वर्कर्स यूनियन कार्यालय

संयंत्र कर्मियों ने यूनियन ऑफिस में पहुंच का बताया कि वेज रिवीजन के बाद से कर्मियों के ग्रेच्युटी पुराने बेसिक पर सीलिंग की बातें सामने आ रही थी, जो अब स्पष्ट होने लगा है। यादि वेज रीवीजन के बाद ग्रेच्युटी में कैलकुलेशन में अंतर आया है तो प्रबंधन उसे स्पष्ट करे। और बताए कि वर्तमान में जो कर्मी रिटायर हो रहे हैं, उनको किस कैलकुलेशन से ग्रेट्यूटी भुगतान किया जा रहा है।

एनजेसीएस भंग करने की मांग

नए वेज रीविजन से संयंत्र कर्मियों को वेज रीविजन के बाद से बहुत नुकसान हो रहा है। इसके लिए एनजेसीएस यूनियन जिम्मेदार है। अब संयंत्र कर्मी चाहते हैं कि एनजेसीएस समिति को तत्काल भंग किया जाए। जिससे एनजेसीएस समिति के कारण संयंत्र कर्मियों को रहे नुकसान पर रोक लग सके। बीएसपी वर्कर्स यूनियन की कार्यकारिणी ने कर्मियों को आश्वस्त किया कि कर्मियों के भावना के अनुरूप उच्च प्रबंधन से चर्चा करेंगे। जरूरत हुई तो ग्रेच्यूटी के लिए बीएसपी वर्कर्स यूनियन न्यायालय भी जाएगी, जिससे संयंत्र कर्मियों को राहत दिया जा सके।

यूनियन दफ्तर में ये पदाधिकारी रहे मौजूद

बैठक में अध्यक्ष उज्जवल दत्ता, महासचिव खूबचंद वर्मा, अतिरिक्त महासचिव दिल्लेश्वर राव, कार्यकारी महासचिव शिवबहादुर सिंह, उपाध्यक्ष अमित बर्मन, उप महासचिव सुरेश सिंह, वरिष्ठ उपाध्यक्ष नोहर सिंह गजेंद्र, आलोक सिंह, सहायक महासचिव प्रदीप सिंह, सचिव मनोज डडडेना, कन्हैया लाल अहिर्रे, संदीप सिंह, विमल पांडे, सुभाष महाराणा, मंगेश गिरी, राजेश यादव, धनंजय गिरी, उमेश गोस्वामी, रवि शंकर सिंह प्रमुख रूप से उपस्थित थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!