भिलाई स्टील प्लांट के कर्मचारी सेल प्रबंधन से परेशान, सांसद से की पहल की मांग, प्लांट का दौरा करेंगे विजय बघेल

सूचनाजी न्यूज, भिलाई। भिलाई इस्पात संयंत्र के कर्मचारियों की समस्याओं के समाधान के लिए भिलाई इस्पात मजदूर संघ-बीएमएस के पदाधिकारी सांसद विजय बघेल के पास पहुंचे। सेल प्रबंधन पर दबाव बनाने के लिए गुहार लगाई गई। पदाधिकारियों ने कर्मचारीयों की समस्याओं को सुलझाने तथा प्रबंधन पर दबाव बनाने के लिए एक मांग पत्र सांसद विजय बघेल को सौंपा। उन्हें बताया गया कि यहां के कर्मी रात-दिन भिलाई इस्पात संयंत्र में अपनी सेवा देते हैं, जिसके कारण भिलाई हमेशा सेल की ध्वजवाहक रहा है, पर कर्मियों की सुविधाओं के मामले में भिलाई हमेशा पिछड़ा रहता है।

ये खबर भी पढ़ें: बोकारो के ईडी वर्क्स होंगे बीके तिवारी, बीएसपी के ईडी प्रोजेक्ट बने एस.मुखोपाध्याय, ईडी प्रोजेक्ट एके भट्‌टा संभालेंगे ईडी एमएम का कामकाज, ये सीजीएम बने सीजीएम इंचार्ज, कार्यक्षेत्र भी बदला

सांसद विजय बघेल ने कहा कि जल्द ही प्रबंधन से मिलकर बीएमएस के मांग पत्र पर चर्चा कर समस्याओं को सुलझाने का प्रयास करेंगे। संयंत्र में दुर्घटनाएं बहुत बढ़ गई है, उसके लिए वह संयंत्र का विजिट करेंगे। मांग पत्र सौंपने वालों में अध्यक्ष आईपी मिश्रा, कार्यकारी अध्यक्ष चन्ना केशवलू, महामंत्री रवि शंकर सिंह, हरिशंकर चतुर्वेदी, शारदा गुप्ता, एविसन वर्गीस, उमेश मिश्रा, कैलाश सिंह, अशोक माहौर, वशिष्ठ वर्मा, प्रदीप पाल, संजय प्रताप सिंह, अरविंद पांडे, मोहनदास, आरके पांडे आदि शामिल थे।

ये खबर भी पढ़ें:  बीएसपी के पांच सीजीएम बने ईडी, छह महीने के लिए तपन सूत्रधार है ईडी माइंस, फिर होगी नए की तलाश, नए ईडी पीएंडए गद्रे की चुनौतियां बढ़ी

समस्याओं के संदर्भ में सांसद के माध्यम से प्रबंधन से मांग

  1. वेज रिवीजन में बचे हुए 39 महीने के एरियर्स का बकाया शीघ्र दिया जाए।
  2. कर्मचारियों की ग्रेच्युटी सीलिंग के आदेश को तत्काल निरस्त किया जाए।
  3. सेल में डिप्लोमा इंजीनियर की बहुप्रतीक्षित मांग को पूरा कर जूनियर इंजीनियर पदनाम दिया जाए।
  4. भिलाई के क्वार्टर पुराने हो चुके हैं, नए अलॉटी को वेलकम स्कीम के तहत पूरा क्वार्टर रिनोवेट करवा कर दिया जाए।
  5. छतों की टार फेल्टिंग कई वर्षों से लंबित है और बारिश में रहने वालों के घरों में पानी गिरता है, उसे प्राथमिकता के आधार पर सर्वे करवाकर हर सेक्टर में अलग-अलग एजेंसियों से पूरा करवाया जाए।
  6. भिलाई टाउनशिप के नलों में पीने का पानी गंदा एवं गुणवत्ता विहीन आ रहा है। इससे आने वाले समय में गंभीर बीमारियों का खतरा बढ़ रहा है, उसमें सुधार कर पीने योग्य पानी की सप्लाई की जाए।
    7.रिटेंशन में क्वार्टर लेने वालों के आवेदन रद्द किए जा रहे हैं। उन्हें सुविधा युक्त बनाए जाए जिससे किसी का आवेदन रद्द ना हो।
  7. रिटेंशन में जमा राशि जो कि अधिकतम 900000 है उसे कम कर 500000 किया जाए तथा उस पर बैंक ब्याज दिया जाए।
    9.टूल डाउन में सस्पेंड कर्मियों को बहाली के बाद अन्य संयंत्रों में ट्रांसफर कर दिया गया है, उन्हें वापस भिलाई लाया जाए।
  8. बीआरएम में एक कर्मचारी नीरज का सस्पेंशन अभी भी खत्म नहीं किया है, उसे तत्काल बहाल किया जाए।
  9. मुख्य चिकित्सालय सेक्टर-9 मे डॉक्टर तथा पैरामेडिकल स्टाफ की बहुत कमी है। उन्हें जल्द से जल्द भरा जाए। इंजेक्शन जीवन रक्षक दवाइयां की उपलब्धता सुनिश्चित की जाए।
  10. हॉस्पिटल स्टाफ हमेशा विभिन्न गंभीर बीमारियों वाली मरीजों के बीच अपनी सेवा देता रहा है। इसलिए उन्हें रिस्क एलाउंस किया जाए।
  11. सभी कर्मियों का बेसिक ओपन एंडेड होना चाहिए।
  12. उच्च श्रेणी आवास आवंटन में 3 वर्ष सेवा शेष रहने की अनिवार्यता समाप्त की जाए।
  13. ठेका श्रमिकों के शोषण को रोका जाए तथा शासन द्वारा निर्धारित वेतन का भुगतान करवाया जाए।

ये खबर भी पढ़ें: कब्जेदारों को उखाड़ फेंकने बीएसपी करता रहा सुबह का इंतजार, साढ़े 5 बजे किया प्रहार, सुपेला रेलवे फाटक तक 70 दुकानें ध्वस्त

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!