BSP के अधिकारियों-कर्मचारियों को फर्जी मुकदमों में फंसाने, परिवार वालों को अपाहिज करने की कब्जेदार ने दी धमकी, मामला पहुंचा थाने

0
The encroacher threatened the BSP Enforcement Department
सिविक सेंटर चौपाटी में नन्हें टी स्टॉल के आसपास के कब्जेदारों ने धमकी दी। बीएसपी ने मामले को गंभीरता से लिया।
AD DESCRIPTION

बीएसपी एनफोर्समेंट डिपार्टमेंट के अधिकारियों और कर्मियों के परिवार को अपाहिज करने की धमकी की शिकायत कोतवाली थाना में की गई।


सूचनाजी न्यूज, भिलाई। भिलाई टाउनशिप सिविक सेंटर के कब्जेदारों की गुंडई हद से ज्यादा बढ़ चुकी है। सरकारी जमीन पर पहले कब्जा किया। दुकानें लगाई। कारोबार शुरू किया। अब उसे अपनी जायदाद समझ चुके हैं। सड़क चौड़ीकरण के लिए कुछ दुकानों को रास्ते से हटाया जा रहा है। इससे बौखलाए एक अतिक्रमणकारी ने बीएसपी के इंफोर्समेंट डिपार्टमेंट के अधिकारियों-कर्मचारियों को फर्जी मुकदमों में फंसाने और परिवार वालों को अपाहिज करने की खुलेआम धमकी दे दी है। इससे आक्रोशित अधिकारियों-कर्मचारियों की टीम नगर सेवाएं विभाग पहुंची और पूरी जानकीर वरिष्ठ अधिकारियों को दी गई। जिला प्रशासन को भी सूचित किया गया है। कोतवाली थाना में लिखित में शिकायत दर्ज कराई गई है।

भिलाई इस्पात संयंत्र के नगर सेवा विभाग द्वारा सिविक सेंटर दो प्रमुख पहुंच मार्ग रोड नंबर-4 का चौड़ीकरण का कार्य किया जा रहा है। इस चौड़ीकरण के कार्य में बाधित अवैध कब्जों को प्रवर्तन विभाग द्वारा समुचित समय देकर हटने की समझाइस दी गई। परन्तु कुछ कब्जाधारियों के हठ औऱ राजनैतिक प्रभाव के चलते जन सुविधा विकास कार्य लगातार बाधित रहा। इसके फलस्वरूप आधे-अधूरे कार्य की वजह से आम जनता को त्योहारी सीजन में अत्यंत कष्ट का सामना करना पड़ा। आए दिन इस क्षेत्र में ट्रैफिक जाम हो रहा।

AD DESCRIPTION AD DESCRIPTION

विशेष रूप से नन्हें टी-स्टॉल के पास सैकड़ों की संख्या में दो पहिया, चार पहिया वाहन से युवाओं का जमावड़ा रहता था। जन आक्रोश को देखते हुए प्रवर्तन विभाग द्वारा सभी बाधित कब्जेदारों को 30 सितम्बर तक अंतिम अवसर का दिया गया, जिसमें प्रमुखतः नन्हें टी को प्रवर्तन विभाग द्वारा शनिवार को पूरे विभागीय अमला के साथ प्रातः 11 बजे हटाने की कार्यवाही की गई। इस कार्यवाही के दौरान कब्जेदारो का रवैया आंशिक रूप से सहयोगात्मक रहा। परन्तु कुछ राजनैतिक पहुंच रखने वाले तत्व कार्य में बाधा उत्पन्न कर रहे थे।

कार्यरत लोगों को चेतावनी भरे अंदाज में इस कार्यवाही के दुष्परिणाम भुगतने की धमकी दी जा रही थी। “परिवार जनो को अपाहिज कर देंगे “जैसे शब्दों का प्रयोग किया गया। इससे भयभीत होकर प्रवर्तन विभाग के अधिकारी-कर्मचारी कार्य को बीच में ही छोड़कर आ गए। जानकारी के अनुसार धमकी देने वाले व्यक्ति का नाम शरद मिश्रा बताया गया हैं।

कब्जाधारी नन्हें टी के संचालक ने बीएसपी के प्रवर्तन विभाग में लिखित आवेदन दी कि धमकी देने वाले व्यक्ति से स्वयं संचालक औऱ ना ही उसके कर्मचारियों का कोई संबंध है, जिसकी शिकायत भिलाई इस्पात संयंत्र के उच्च अधिकारियों को दे दी गई हैं। जिला प्रशासन, पुलिस प्रशासन को लिखित आवेदन में इस घटना की सूचना दी गई है।

AD DESCRIPTION AD DESCRIPTION

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here