Suchnaji

EPS 95 Pension: पेंशनर्स की मांग, सियासी पैतरा, राजनाथ सिंह और घोषणा पत्र पर बड़ा अपडेट

EPS 95 Pension: पेंशनर्स की मांग, सियासी पैतरा, राजनाथ सिंह और घोषणा पत्र पर बड़ा अपडेट
  • महंगाई और वेतन में वृद्धि को देखते हुए पेंशनभोगी वेतन को 21,000 या उससे अधिक कर देना चाहिए था, जिससे भावी पेंशनभोगी को बेहतर पेंशन मिले।

सूचनाजी न्यूज, छत्तीसगढ़। जिस तरह से कर्मचारी भविष्य निधि संगठन (Employees Provident Fund Organisation) और सरकार पर पेंशनर्स ने घेराबंदी की है। इससे लगता है कि आने वाले समय में कोई अच्छी खबर जरूर मिल सकती है। Eps 95 न्यूनतम पेंशन संशोधन की मांग लगातार की जा रही है। 1000 रुपए मिलने वाली पेंशन की राशि को 7500 रुपए करने की मांग हो रही है।

AD DESCRIPTION

ये खबर भी पढ़ें : SAIL Biometric: बोकारो स्टील प्लांट के ब्लास्ट फर्नेस में बायोमेट्रिक पर बवाल

सोशल मीडिया पर पेंशनर्स अपने मन की बात कर रहे हैं। पेंशनभोगियों के फेसबुक पेज पर तरह-तरह की बातें सामने आ रही है। एक पेंशनर्स ने लिखा-श्रम मंत्री श्रमिक कल्याण में प्रारंभिक बिंदु है। वर्तमान श्रम मंत्री एक बहुत ही राजनयिक और परिष्कृत व्यक्ति हैं।

ये खबर भी पढ़ें : Lok Sabha Elections 2024: राजनांदगांव, महासमुंद और कांकेर में वोटिंग का समय तय

वह योजना को संशोधित करने के लिए आगे बढ़ सकते थे। अंतिम संशोधन कुछ दस साल पहले 1.9.2014 में हुआ था। महंगाई और वेतन में वृद्धि को देखते हुए पेंशनभोगी वेतन को 21,000 या उससे अधिक कर देना चाहिए था, जिससे भावी पेंशनभोगी को बेहतर पेंशन मिले। उस स्थिति में न्यूनतम पेंशन 3000 या उससे अधिक तय की जा सकती है।

ये खबर भी पढ़ें : Bhilai Steel Plant: प्लेट मिल का 41वां हैप्पी बर्थ-डे, कटा केक, मना जश्न

पेंशनर्स ने दिया फॉर्मूला

इससे 21,000*10/70= 3,000 पेंशन योग्य सेवा वालों को अधिक पेंशन मिल सकती है। सरकार वर्तमान स्तर पर पेंशन योग्य वेतन के 1.16% के योगदान को प्रतिबंधित कर सकती है और अंतर लाभार्थी द्वारा उठाया जाएगा। न्यूनतम पेंशन पर सब्सिडी देने के लिए G०vt की देनदारी कम पेंशन योग्य वेतन और पेंशन योग्य सेवा वाले पुराने कर्मचारियों तक ही सीमित होगी।

ये खबर भी पढ़ें : इस्पात सुरक्षा दिवस: SAIL Rourkela Steel Plant में सेफ्टी पर खास इवेंट, DIC बने गवाह

राजनाथ सिंह से मुलाकात और आश्वासन

पेंशनर्स Vilas Ramchandra Gogawale ने जानकारी साझा की है कि दिल्ली में NAC की राष्ट्रीय कार्यकारिणी की मीटिंग के दौरान एक संदेश प्राप्त हुआ कि भाजपा के घोषणा पत्र हेतु 27 लोगों की समिति का गठन हुआ है। इसके प्रमुख रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह हैं।

ये खबर भी पढ़ें : इस्पात सुरक्षा दिवस: SAIL Rourkela Steel Plant में सेफ्टी पर खास इवेंट, DIC बने गवाह

कमांडर अशोक राउत के निर्देशानुसार उत्तर प्रदेश के  वरिष्ठ पदाधिकारी जिन्हें दि. 31.03.2024 को मथुरा सभा में जाना था, उनमें से राष्ट्रीय सचिव राजीव भटनागर, समन्वयक जयरूप सिंह परिहार, मुख्य समन्वयक (मुख्यालय) उमाकांत सिंह के साथ एक प्रतिनिधित्व मंडल बनाकर रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह से मिले।

ये खबर भी पढ़ें : गणेश शंकर विद्यार्थी याद आए, BMS के प्रदेश महामंत्री दिनेश पांडेय बोले-सर्वपंथ समादर समाज की चिर आवश्यकता

भाजपा के घोषणा पत्र में न्यूनतम पेंशन 7500 करने तथा फ्री मेडिकल सुविधा पर बात

उन्हें पत्र देकर भाजपा के घोषणा पत्र में न्यूनतम पेंशन 7500 करने तथा फ्री मेडिकल सुविधा प्रदान करना सम्मिलित करने को कहा।
राजनाथ सिंह द्वारा कहा गया की घोषणा पत्र समिति में यह मसला निश्चित रूप से चर्चा कर सम्मिलित करने का पूर्ण प्रयास किया जाएगा। अगले दो दिनों में एनएसी के राष्ट्रीय नेता  दिल्ली में घोषणा पत्र समिति के अन्य सदस्यों से भी मिलेंगे।

ये खबर भी पढ़ें : बीएमएस आज मनाएगा सर्वपंथ समादर दिवस और फूलों की होली