पहली बार रेवेन्यू की माइक्रो समीक्षा, पटवारी और राजस्व निरीक्षक शामिल, कामकाज में ढिलाई बतरने वाले तहसीलदारों को नोटिस

0
durg news 1
अपर कलेक्टर पद्मिनी भोई, संयुक्त कलेक्टर प्रवीण वर्मा, एसडीएम मुकेश रावटे, विपुल गुप्ता, बृजेश क्षत्रिय भी उपस्थित रहे।
AD DESCRIPTION

अभिलेखों की दुरुस्ती का काम डेढ़ महीने में पूरा करने दिये निर्देश, बहुत से अभिलेखों में त्रुटि सुधार की है जरूरत।

सूचनाजी न्यूज, दुर्ग। रेवेन्यू आफिसर की समीक्षा बैठक में इस बार आरआई और पटवारियों को भी शामिल किया गया। कलेक्टर पुष्पेंद्र कुमार मीणा ने रेवेन्यू मीटिंग में माइक्रो लेवल पर समीक्षा की। उन्होंने इस बार तहसील स्तर पर नहीं अपितु हल्का स्तर की भी समीक्षा की।

ये खबर भी पढ़ें…West Central Railway: 48946 रेल कर्मचारियों को 85 करोड़ 6 लाख का बोनस भुगतान, 78 दिन के वेतन के बराबर मिला बोनस, खिल उठे चेहरे

AD DESCRIPTION AD DESCRIPTION

कलेक्टर ने पटवारी और आरआई से जमीनी स्तर पर समस्याएं भी पूछीं। इस दौरान यह बात सामने आई कि बहुत से अभिलेखों को दुरुस्त किये जाने की जरूरत है। कलेक्टर ने डेढ़ महीने में इसे दुरुस्त कराने निर्देश दिए। इस दौरान अपर कलेक्टर पद्मिनी भोई, संयुक्त कलेक्टर प्रवीण वर्मा, एसडीएम मुकेश रावटे, विपुल गुप्ता, बृजेश क्षत्रिय भी उपस्थित रहे।

ये खबर भी पढ़ें…SAIL बोनस: सीटू बोला-45 हजार से कम में नहीं करेंगे एग्रीमेंट पर साइन, सभी यूनियन एकजुट

जिन तहसीलदारों ने विलंब का कारण विस्तार से नहीं बताया, उन्हें नोटिस:

कलेक्टर ने पिछली समीक्षा बैठक में निर्देश दिए थे कि कोई भी प्रकरण समय सीमा से अधिक समय तक निराकृत नहीं होता तो इसके कारणों का जिक्र करना होगा। मसलन किस स्तर पर कितना समय लगा जैसे इश्तहार जारी करने में, पटवारी रिपोर्ट आने में, नोटिस देने में। कुछ तहसीलों में इसके लिए बारीक एक्सरसाइज नहीं की गई थी इस पर कलेक्टर ने नाराजगी जाहिर की और ऐसे तहसीलदारों को शो काज नोटिस जारी करने निर्देश दिए।

ये खबर भी पढ़ें…Breaking News: भिलाई स्टील प्लांट के प्लेट मिल ने तोड़ा 8 साल पुराना रिकॉर्ड, एक दिन 5900 टन रोलिंग

एनआईसी से संबंधित विषयों की समीक्षा कर कराएंगे निदान:

बैठक में पटवारियों ने बताया कि एनआईसी के साथ कुछ विषय हैं जिसकी वजह से दिक्कत आती है। जब साफ्टवेयर अपडेट होता है तो जमीनी स्तर पर कुछ समस्याएं आती हैं। कलेक्टर ने कहा कि ऐसी सभी समस्याएं एसडीएम को बता दें। एनआईसी के उच्चाधिकारियों से चर्चा कर इन्हें ठीक कर लिया जाएगा।

स्पष्ट अभिमत के साथ प्रस्तुत करें

ये खबर भी पढ़ें…दुर्गापुर स्टील प्लांट में बोनस आंदोलन चलाने वाले 3 यूनियन के 4 नेताओ पर गिरी गाज, सातों यूनियन ने प्रबंधन को ललकारा, 6 को बड़ा प्रदर्शन

बैठक में कलेक्टर ने कहा कि जो भी प्रतिवेदन पटवारियों की ओर से आए। इसमें स्पष्ट अभिमत हो। समयसीमा पर सारे प्रकरण निराकृत हो जाएं। कई हल्कों में अच्छा काम हो रहा है, लेकिन कहीं कहीं से शिकायतें भी आ रही हैं। जमीनी स्तर पर संसाधनों की जो समस्या है। उन्हें हल कर लिया जाएगा। इसके लिए सभी एसडीएम से रिपोर्ट मांगी गई है।

ये खबर भी पढ़ें…Coal India News: कोल इंडिया का प्रोडक्शन बढ़ा, कोयला आधारित बिजली उत्पादन 2021 की तुलना में सितंबर-22 में 13.40% ज्यादा

आवेदकों का काम समय पर पूरा करें:

कलेक्टर ने कहा कि रेवेन्यू मामलों में जो आवेदक आपके पास आएं। उन्हें आश्वस्त करें कि समय सीमा पर आपका आवेदन निराकृत हो जाएगा। फिर तेजी से कार्रवाई आरंभ कर दें। बेहतर व्यवहार और तेज कार्यप्रणाली से प्रशासन पर उनका भरोसा बढ़ता है। आपके पास पेंडिंग आवेदन भी घट जाएंगे।

ये खबर भी पढ़ें…Barnawapara Sanctuary: छत्तीसगढ़ में पर्यटन का मजा लेना है तो बारनवापारा अभ्यारण जरूर आइए, तेंदुआ संग देखिए वन्य प्राणी

AD DESCRIPTION AD DESCRIPTION

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here