भिलाई से लेह और लद्दाख तक पर्यावरण-जल संरक्षण का मंत्र देंगे सेल के चार कर्मचारी, बंजर क्षेत्रों में बिखेरेंगे 2200 पौधों के बीज, ढाबों पर बांटेंगे कपड़े के थैले

सूचनाजी न्यूज, भिलाई। जल संरक्षण एवं पर्यावरण का संदेश देशभर में देने के लिए भिलाई स्टील प्लांट के चार कर्मचारी रवाना हो चुके हैं। लेह से लेकर लद्दाख तक ये चारों कर्मचारी पर्यावरण से होने वाले लाभ के बारे में बताएंगे। 24 जून से 24 जुलाई तक ये 2200 पौधों का भी रोपेंगे। 1100 जामुन और 1100 आम की बीज लेकर गए थे। जहां भीड़-भाड़ दिखेगी, वहां ठहरेंगे और पर्यावरण का मंत्र देंगे।

ये खबर भी पढ़ें: लंबित मुद्दों पर तिलमिलाए नेताजी बोले-1985 में चेयरमैन-जीएम को करा चुके सस्पेंड, न्याय नहीं मिला तो सेल चेयरमैन के चेंबर पर करेंगे चढ़ाई

दो रायल इनफील्ड से चार कर्मचारियों के जत्थे को रवाना किया गया है। सेल-भिलाई इस्पात संयंत्र द्वारा भिलाई से लेह-लद्दाख तक मोटरबाइक अभियान को निदेशक प्रभारी अनिर्बान दासगुप्ता ने झंडा दिखाकर बाइकर्स को रवाना किया। इस अभियान में भिलाई इस्पात संयंत्र के तीन नियमित कर्मचारी और एक सेवानिवृत्त कर्मचारी सहित चार बाइक सवार शामिल हैं। बाइकर्स लेह-लद्दाख जाने और वापस आने के दौरान ग्रामीण आबादी के बीच पर्यावरण बचाव और संरक्षण का संदेश फैलाएंगे।

ये खबर भी पढ़ें: हुबली-बनारस एक्सप्रेस में बढ़े थर्ड एसी व शयनयान के स्थाई कोच, छत्तीसगढ़-मध्य प्रदेश में ये चार जोड़ी ट्रेनें 9 जुलाई तक कैंसिल

मोटरबाइक अभियान में संयंत्र के यूनिवर्सल रेल मिल के मास्टर ऑपरेटर कम टेक्नीशियन देवेंद्र कुमार सिंह, जल प्रबंधन विभाग के ऑपरेटर राजेश शर्मा, मशीन शॉप-3 में वरिष्ठ तकनीशियन टेकराम साहू और स्टील मेल्टिंग शॉप-1 से मास्टर तकनीशियन के रूप में सेवानिवृत्त नवीन कुमार सिंह द्वारा भिलाई से लेह-लद्दाख और वापस भिलाई आने तक 6663 किलोमीटर की दूरी तय की जाएगी। यह दूरी एक महीने की अवधि में आज 24 जून से शुरू होकर 24 जुलाई 2022 को पूरी होगी।

ये खबर भी पढ़ें: क्रेडिट सोसाइटी के आप भी बन सकते हैं मालिए, बस करना होगा ये काम

बाइकर्स कपड़े के थैले बाटेंगे ढाबों पर

अभियान के लिए विशेष रूप से डिजाइन किए गए लोगो के साथ टी-शर्ट पहने बाइकर्स अपने साथ जल संरक्षण, वृक्षारोपण, सिंगल-यूज में आने वाले प्लास्टिक बैग द्वारा पर्यावरण के लिए खतरों के संदेशों के पोस्टर लोगों को जागरूक करने हेतु ले जा रहे हैं, जिसे वे रास्ते में आने वाले गांवों में लगाएंगे। बाइकर्स टीम अपने साथ बड़ी संख्या में विभिन्न पेड़ों के बीज भी ले जा रहे हैं जिन्हें वे रास्ते में बंजर क्षेत्रों में बिखेरते जाएंगे। बाइकर्स कपड़े के थैले भी लेकर जा रहे हैं, जिसे उन्होंने रास्ते में पड़ने वाले ढाबों पर देने की योजना बनाई हैं।

ये खबर भी पढ़ें: IISCO Burnpur Football Tournament: डब्ल्यूआरएम ने टाई ब्रेकर से बीओएफ की जीत पर ब्रेक लगाकर जीता फाइनल

बाइकर्स की उम्र 50 पार

उल्लेखनीय है कि सेवानिवृत्त कर्मचारी नवीन कुमार सिंह के अलावा, 4 सदस्यीय टीम के तीन नियमित कर्मचारी, सभी की आयु 50 वर्ष से अधिक हैं। भिलाई इस्पात संयंत्र के निदेशक प्रभारी अनिर्बान दासगुप्ता ने मोटरबाइक अभियान को रवाना करते हुए उन्हें सुरक्षित यात्रा के लिए शुभकामनाएं दी। इस अवसर पर कार्यपालक निदेशक (चिकित्सा एवं स्वास्थ्य सेवाएं) डाक्टर एसके इस्सर, कार्यपालक निदेशक प्रभारी (कार्मिक एवं प्रशासन) केके सिंह, कार्यपालक निदेशक (सामग्री प्रबंधन) एके भट्टा, कार्यपालक निदेशक (वर्क्स) अंजनी कुमार, कार्यपालक निदेशक (माइंस) तपन सूत्रधार, कार्यपालक निदेशक (परियोजना) एस. मुखोपाध्याय और मुख्य महाप्रबंधक (पर्यावरण प्रबंधन विभाग) डीएल मोइत्रा सहित पर्यावरण प्रबंधन विभाग, खेल, मनोरंजन और नागरिक सुविधा विभाग, कार्मिक और प्रशासन विभाग, एचएमएस अध्यक्ष एचएस मिश्र उपस्थित थे। इस मौके पर बाइकर्स के परिवार के सदस्य भी मौजूद थे।

ये खबर भी पढ़ें: भिलाई की बेटियों ने पॉवर लिफ़्टिंग में जीते स्वर्ण और रजत पदक, दुर्ग स्टेशन से घर तक होता रहा स्वागत

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!