दुर्गापुर स्टील प्लांट का प्रोजेक्ट कैंसिल होने से भड़के कर्मचारी, सेल प्रबंधन को बताया प्लांट विरोधी

पिछले दिनों ईडी पीएंडए को बंधक बनाने वाले एचएमएस ने ईडी वर्क्स को अब घेरा। आधुनिकीकरण, विस्तारीकरण और नई भर्ती की मांग की।


सूचनाजी न्यूज, दुर्गापुर। दुर्गापुर स्टील प्लांट के कर्मचारी एक बार फिर भड़क गए हैं। 39 माह के एरियर की मांग को लेकर पिछले दिनों सात घंटे तक ईडी पीएंडए के दफ्तर के बाहर हंगामा किया गया था। अब ईडी वर्क्स को घेर लिया।

दुर्गापुर स्टील प्लांट के आधुनिकीकरण, विस्तारीकरण और नई भर्ती प्रक्रिया शुरू करने की मांग को लेकर ईडी वर्क्स कार्यालय के सामने प्रदर्शन किया गया। सेल प्रबंधन द्वारा दुर्गापुर के स्टैंप चार्जर बैटरी प्रोजेक्ट को निरस्त करने पर नाराजगी जाहिर की गई।

ये खबर भी पढ़ें:39 माह के एरियर की मांग और बायाेमेट्रिक्स के खिलाफ वर्कर्स यूनियन उतरा सड़क पर, प्रबंधन होश में आओ के लगे नारे, देखिए तस्वीरें

सेल प्रबंधन की पॉलिसी को प्लांट विरोधी बताया गया। एचएमएस के महासचिव सुशांत रक्षित का कहना है कि करीब 200 कर्मचारियों ने प्लांट के हित में प्रदर्शन किया है। प्रबंधन का ध्यान आकृष्ट कराने के लिए ऐसा किया गया है।

100 प्रतिशत से ज्यादा उत्पादन करने वाले प्लांट के साथ सेल प्रबंधन का इस तरह का बर्ताव अच्छा नहीं है। इसे संवारने की जरूरत है, उजाड़ने की नहीं है। इसलिए सेल प्रबंधन दुर्गापुर स्टील प्लांट को आधुनिकीकरण और विस्तारीकरण परियोजना के जरिए बचाए।

ये खबर भी पढ़ें:अगले तीन साल में देश में चलेगी 400 नई वंदेभारत ट्रेन, स्पेशल क्वालिटी का पहिया तैयार कर रहा दुर्गापुर स्टील प्लांट


महासचिव का कहना है कि स्टील अथॉरिटी ऑफ इंडिया-सेल प्रबंधन की पॉलिसी पर हैरानी होती है। कमाऊ प्लांट पर ध्यान तक नहीं दिया जा रहा है। प्रोजेक्ट के बंटवारे पर भी हैरानी होती है। स्टैंप चार्जर बैटरी प्रोजेक्ट के निरस्त होने पर भड़के यूनियन नेताओं ने ईडी वर्क्स से आपत्ति दर्ज कराई है।

प्रबंधन ने भी यूनियन नेताओं से इस बात को स्वीकारा कि हम सब बेहतर उत्पादन कर सकते हैं। दुर्गापुर स्टील प्लांट में क्षमता है। लेकिन सेल कारपोरेट आफिस ने एक मिलियन टन का एक ही फर्नेस दिया है, जो उत्पादन की रफ्तार को बढ़ाने में पर्याप्त नहीं है।

ये खबर भी पढ़ें:जूनियर इंजीनियर पदनाम देने की मांग पर प्रबंधन मौन, बीएसपी, दुर्गापुर, बोकारो, राउरकेला और बर्नपुर में आज गांधीगिरी, निकलेगा शांति मार्च

मैनपॉवर समस्या को लेकर यूनियन नेताओं ने ईडी वर्क्स से चर्चा की। नियमित कर्मचारियों की भर्ती की मांग की गई, आउट सोर्सिंग को प्लांट के लिए नुकसानदायक बताया गया। प्रबंधन को सलाह दी गई कि समय रहते नई भर्ती की जाए। साल 2024 से 2027 के बीच बड़ी संख्या में कर्मचारी रिटायर होने जा रहे हैं। ऐसे में प्लांट को चलाने के लिए अनुभवी कर्मचारी की दरकार होगी। ठेका प्रथा से इस कमी को कभी दूर नहीं किया जा सकता है।

सेल चेयरमैन के नाम संबोधित मांग पत्र प्रबंधन को सौंपा गया। इस दौरान एचएमएस के अध्यक्ष तॉपस रे, सेक्रेटरी परितोष मंडल, अरूप दास, सौरव दास अधिकारी, गौतम चटर्जी, कंचन मुहंता, मनाज मंडल आदि मौजूद रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!