G-20 समूह की बैठक अगले साल होगी छत्तीसगढ़ में, पीएम मोदी और सीएम भूपेश बघेल की तैयारी बैठक

मुख्यमंत्री भूपेश बघेल द्वारा शुक्रवार को अपने ट्विटर हैंडल से साझा की गई जानकारी के अनुसार जी-20 के चौथे वित्त कार्य समूह की बैठक छत्तीसगढ़ में सितंबर-2023 में होनी है।

सूचनाजी न्यूज, रायपुर। जी-20 के चौथे वित्त कार्य समूह की बैठक सितंबर 2023 में छत्तीसगढ़ में होगी। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने ट्वीट करके यह जानकारी साझा की है। जी-20 समूह की जिम्मेदारी मिलने के बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने समूह की बैठक देश के अलग-अलग राज्यों और प्रदेश में कराने की बात कही थी, ताकि समूह के दूसरे देश भारत की संस्कृति और लोककला से परिचित हों।

ये खबर भी पढ़ें: क्या भत्ता, बोनस और बीमा आता है टैक्स के दायरे में, पढ़ें स्टोरी

मुख्यमंत्री भूपेश बघेल द्वारा शुक्रवार को अपने ट्विटर हैंडल से साझा की गई जानकारी के अनुसार जी-20 के चौथे वित्त कार्य समूह की बैठक छत्तीसगढ़ में सितंबर-2023 में होनी है। इस बैठक की तैयारी के संबंध प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अध्यक्षता में शुक्रवार को ऑनलाइन बैठक आयोजित की गई। इस बैठक में मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को आगंतुकों को विश्व स्तरीय व्यवस्था उपलब्ध कराने के लिए आश्वस्त किया।

ये खबर भी पढ़ें: PF, ग्रेच्युटी और पेंशन पर क्या है TAX का नियम, पढ़ें जवाब

इधर, केन्द्रीय दूरसंचार सचिव ने मुख्य सचिव अमिताभ जैन की मुलाकात

रायपुर। दूरसंचार मंत्रालय भारत सरकार के सचिव के. राजारमन ने रायपुर प्रवास के दौरान छत्तीसगढ़ के मुख्य सचिव अमिताभ जैन के साथ बैठक की। बैठक में मुख्यमंत्री एवं इलेक्ट्रॉनिक्स एवं सूचना प्रौद्योगिकी विभाग के अपर मुख्य सचिव सुब्रत साहू शामिल हुए।

ये खबर भी पढ़ें:  Rail-SAIL के रिश्ते में आई मिठास, अब मिला भरपूर रैक, बीएसपी ने रचा कीर्तिमान

छत्तीसगढ़ के मुख्य सचिव अमिताभ जैन ने बैठक चर्चा करते हुए बीएसएनएल को प्रचार-प्रसार पर तेजी से कार्य करने को कहा है। साथ ही सोशल मीडिया जैसी नवीन टूल्स के माध्यम से प्रचार-प्रसार को प्रोत्साहित करने का निर्देश दिया है। के. राजारमन ने बैठक में भारतनेट परियोजना फेस-1 एवं फेस-2 की समीक्षा की गई। के. राजारमन ने कहा कि छत्तीसगढ़ में 574 गांवों मे कनेक्टिविटी दिया जाना शेष है, जिसे जून 2023 तक पूरा किये जाने का लक्ष्य है। बैठक के दौरान 4जी सेचुरेशन पर चर्चा करते हुए के. राजारमन ने बताया कि देश में 25 हजार से अधिक गांव में अभी नेटवर्क नहीं है। जिनमें 1431 छत्तीसगढ़ के गांव शामिल है। प्रदेश में प्राथमिकता के साथ 646 नये टॉवर लगाकर नेटवर्क का विस्तार किया जाएगा।

ये खबर भी पढ़ें:  भिलाई स्टील प्लांट के प्रोपेन प्लांट-1 में गैस रिसाव, एक कर्मी जख्मी, जानें और क्या हुआ…

राज्य में 5जी रोलआऊट के लिए वर्तमान पॉलिसी को अपग्रेट किया जा रहा है। इससे 5जी को रोल आउट की तैयारी जैसेः5जी पोर्टल में फार्म को शामिल करना, मॉडल बिल्डिंग में इनबिल्डिंग विनिमयों में सालुशन को शामिल करना प्रमुख है। बैठक में अपर मुख्य सचिव सुब्रत साहू ने सुझाव दिया कि 5जी रोलआऊट को छत्तीसगढ में गति प्रदान करने का लिए छत्तीसगढ़ के युवा मितान का उपयोग किया जा सकता है।

इस अवसर पर चिप्स के मुख्य कार्यपालन अधिकारी रितेश अग्रवाल, चिप्स के मुख्य कार्यकारी अधिकारी अमिताभ शर्मा, अतिरिक्त मुख्य कार्यपालन अधिकारी अजितेश पाण्डे, यूसोफ नई दिल्ली के डिप्टी एडमिनिस्ट्रेटर शील पी. गौतम, मुख्य महाप्रबन्धक बी.एस.एन.एल, छत्तीसगढ़ बी.बी.एन.एल. और चिप्स के अनेक अधिकारी उपस्थित थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!