BSP Task Force: भिलाई स्टील प्लांट की चहारदीवारी में सुरक्षा नियमों का हो रहा उल्लंघन तो इन नंबरों पर दें जानकारी, टास्क फोर्स को मिलेगी मदद

आफिसर्स एसोसिएशन-यूनियन प्रतिनिधि देंगे दस दिनों में रिपोर्ट, बताएंगे समाधान। टास्क फोर्स में जीपी सिंह-जीएम सेफ्टी एंड एफएस, शीजा मैथ्यू-जीएम पर्सनल वर्क्स और एनके बंछोर-जीएम मार्स-3 व अध्यक्ष-बीएसपी आफिसर्स एसोसिएशन शामिल हैं।

सूचनाजी न्यूज, भिलाई। भिलाई स्टील प्लांट के इतिहास में पहली बार हादसों को रोकने के लिए स्पेशल टास्क फोर्स का गठन किया गया है। तीन जीएम और बीएसपी के ट्रेड यूनियन नेताओं को साथ इसका गठन किया गया है। टास्क फोर्स के सदस्यों का नाम और फोन नंबर आप भी जान लें। बीएसपी में सुरक्षा से संबंधित कहीं कोई लापरवाही हो रही है तो इसकी जानकारी दे सकते हैं। कार्यस्थल पर कोई जानलेवा हरकत की जा रही है या कोई सुनवाई नहीं हो रही तो भी जानकारी साझा कर सकते हैं। इससे टास्क फोर्स को अपना काम करने में सुविधा होगी। दस दिन के भीतर रिपोर्ट बनाने की जिम्मेदारी सदस्यों पर है। बता दें कि मंगलवार को जीएम सेफ्टी जीपी सिंह की अध्यक्षता में टास्क फोर्स की पहली बैठक हो चुकी है। आफिससर्स एसोसिएशन और यूनियन के प्रतिनिधियों ने हिस्सा लिया था।

ये खबर भी पढ़ें: सेल के एकमात्र अधिकारी वीबी सिंह भारत नहीं अफ्रीकी देश मोजाम्बिक से हो रहे रिटायर, आयरन ओर और कोयला खदान में छोड़ी छाप

ग्रुप-1 में जीएम सेफ्टी संग ये शामिल

9407981822-जीपी सिंह-जीएम, सेफ्टी एंड एफएस
9407984982-सुनील कुमार रामटेके-चार्जमैन सीईडी एवं चेयरमैन एससी-एसटी फेडेशन
9407986010-संजय साहू-मास्टर ऑपरेटर कोक ओवन एवं अतिरिक्त महासचिव-इंटक
9425556340- रवि शंकर सिंह-चीफ मास्टर ऑपरेटर-फर्नेस एंड एसजीपी एवं जनरल सेक्रेटरी, भिलाई इस्पात मजदूर संघ-बीएमएस
9300793286-उज्ज्वल दत्ता-मास्टर ऑपरेटर कम टेक्नीशियन, अध्यक्ष-बीएसपी वर्कर्स यूनियन

जानिए ग्रुप-2 में शामिल सदस्यों का नाम

9407982108-शीजा मैथ्यू-जीएम पर्सनल वर्क्स
9407980330-एनके बंछोर-जीएम मार्स-3, अध्यक्ष-बीएसपी आफिसर्स एसोसिएशन
9407902351-राजेश अग्रवाल-सीनियर टेक्नीशियन मर्चेंट मिल एवं महासचिव इस्पात श्रमिक मंच
9407986567-एसपी डे-मास्टर ऑपरेटर कोक ओवन, महासचिव-सीटू
9407985173-विनोद कुमार सोनी-चार्जमैन कम मास्टर टेक्नीशियन टीएंडडी एवं जनरल सेक्रेटरी-एटक

ये खबर भी पढ़ें: SAIL ED Interview: बीएसपी के 7 सीजीएम का ईडी बनना लगभग तय, बर्नपुर जाएंगे तापस दास, बोकारो, राउरकेला, दुर्गापुर को मिलेगा नया ईडी

टास्क फोर्स को दो ग्रुपों में बांट दिया गया है

बीएसपी के टास्क फोर्स को दो ग्रुपों में बांट दिया गया है। ग्रुप-ए के सदस्य रेल मिल, मर्चेंट मिल, वॉयर रॉड मिल, एसएमएस-3, ब्लास्ट फर्नेस-1 से 7 तक, डब्ल्यूएमडी, पीबीएस, ईएमडी, ओपी-2 और प्रोपेन प्लांट-2 का सर्वे करेंगे। इसी तरह ग्रुप-बी के सदस्य प्लेटमिल, एसएमएस-2, आरएमपी-2, एसपी-3, कोक ओवन, प्रोपेन प्लांट-1 का दौरा करेंगे। कार्यस्थल पर सुरक्षा के मापदंड, इक्यूपमेंट आदि का सर्वे करने के बाद दस दिनों के भीतर रिपोर्ट देगी। खास यह है कि सेफ्टी की पहली बार में बड़े फैसले लिए गए। अब तक सेफ्टी मद में 4 करोड़ रुपए खर्च किए जाते थे। हादसों को रोकने के लिए सेफ्टी इक्यूपमेंट आदि का बजट दोगुना कर दिया गया है। अब 7.30 करोड़ का समान खरीदा जाएगा।

ये खबर भी पढ़ें:  मोदीजी की घोषणा-अगले डेढ़ साल में मिशन मोड में देंगे 10 लाख नौकरी

ग्रुप-1 में जीएफ सेफ्टी संग ये शामिल

जीपी सिंह-जीएम, सेफ्टी एंड एफएस
सुनील कुमार रामटेके-चार्जमैन सीईडी एवं चेयरमैन एससी-एसटी फेडेशन
संजय साहू-मास्टर ऑपरेटर कोक ओवन एवं अतिरिक्त महासचिव-इंटक
रवि शंकर सिंह-चीफ मास्टर ऑपरेटर-फर्नेस एंड एसजीपी एवं जनरल सेक्रेटरी, भिलाई इस्पात मजदूर संघ-बीएमएस
उज्ज्वल दत्ता-मास्टर ऑपरेटर कम टेक्नीशियन, अध्यक्ष-बीएसपी वर्कर्स यूनियन

ये खबर भी पढ़ें:  इस्पात राज्यमंत्री से अधिकारियों ने कहा-एफएसएनएल को बेचने से बचाइए, मंत्री का जवाब-मामला आगे बढ़ चुका…दिल्ली में करेंगे चर्चा

जानिए ग्रुप-2 में शामिल सदस्यों का नाम

-शीजा मैथ्यू-जीएम पर्सनल वर्क्स
-एनके बंछोर-जीएम मार्स-3, अध्यक्ष-बीएसपी आफिसर्स एसोसिएशन
-राजेश अग्रवाल-सीनियर टेक्नीशियन मर्चेंट मिल एवं महासचिव इस्पात श्रमिक मंच
-एसपी डे-मास्टर ऑपरेटर कोक ओवन, महासचिव-सीटू
-विनोद कुमार सोनी-चार्जमैन कम मास्टर टेक्नीशियन टीएंडडी एवं जनरल सेक्रेटरी-एटक

बीएसपी प्रबंधन ने साल 2018 के बाद से अब तक करीब 22 करोड़ रुपए खर्च कर दिया

बता दें कि हादसों को रोकने के लिए बीएसपी प्रबंधन ने साल 2018 के बाद से अब तक करीब 22 करोड़ रुपए खर्च कर दिया है। बावजूद, हादसों पर लगाम नहीं लग सकी। इसलिए आफिसर्स एसोसिएशन व कर्मचारी यूनियन को साथ लेकर टास्क फोर्स का गठन किया गया है।

ये खबर भी पढ़ें:   बीएसपी-जिला प्रशासन की ढिलाई, कर्मचारियों की जान खतरें में आई

हादसों की आशंकाओं और कार्यस्थल की सच्चाई को कलमबंद किया जाएगा ताकि व्यवस्था सुधार की जा सके। खासतौर से खतरनाक कार्यस्थलों पर टास्क फोर्स का फोकस होगा। बीएसपी प्रबंधन ने स्पष्ट कर दिया है कि टास्क फोर्स को इस आदेश के जारी होने की तारीख से 10 दिनों की अवधि के भीतर सिफारिशों पर विचार-विमर्श और अंतिम रूप देना और एक रिपोर्ट प्रस्तुत करना आवश्यक है।

ये खबर भी पढ़ें:   बीआरएम के कर्मचारी कर रहे चांदी के सिक्के का इंतजार, आरईडी के 357 कार्मिकों को मिला ट्रॉली बैग

डायरेक्टर इंचार्ज अनिर्बान दासगुप्ता ने हादसों पर लगाम लगाने यूनियन-ओए को किया एक मंच पर

सीजीएम पर्सनल निशा सोनी की ओर से जारी आदेश में टास्क फोर्स के सदस्यों के नाम घोषित किए गए हैं। बीएसपी में लगातार हो रहे हादसों से सबक लेते हुए पिछले दिनों डायरेक्टर इंचार्ज अनिर्बान दासगुप्ता, ईडी पीएंडए केके सिंह, ईडी वर्क्स अंजनी कुमार ने ट्रेड यूनियन और बीएसपी आफिसर्स एसोसिएशन के पदाधिकारियों के साथ बैठक की थी। कर्मचारियों और अधिकारियों के तरफ से संयुक्त रूप से कार्य करने पर सहमति बनी थी। पदाधिकारियों ने प्रबंधन से आग्रह किया था कि मीटिंग में जो सुझाव आते हैं, उस पर अमल किया जाए। कार्यस्थलों का निरीक्षण नियमित रूप से किया जाए ताकि हादसों को रोकने में मदद मिल सके। इसी को संज्ञान में लेकर डायरेक्टर इंचार्ज के निर्देश पर स्पेशल टास्क फोर्स गठित कर दिया गया है।

ये खबर भी पढ़ें:   आरआईएनएल, सेल, नगरनार, एनएमडीसी, मेकॉन का रणनीतिक विलय कर बनाएं एक मेगा स्टील पीएसयू

ये खबर भी पढ़ें:   एक बार फिर केके सिंह जा रहे दिल्ली, डायरेक्टर पर्सनल बनते वापसी पर विराम, सेल चेयरमैन की कुर्सी पर हो सकते हैं विराजमान

इन बिंदुओं पर टास्क फोर्स करेगा कार्य

  1. भिलाई स्टील प्लांट की पंजीकृत फैक्ट्रियों, विशेष रूप से पुरानी 4 एमटी के शॉपों का दौरा करना।
    2.विभिन्न क्षेत्रों में काम करने की मौजूदा प्रणाली का निरीक्षण, पहचान और विश्लेषण करना।
  2. उन कार्य बिंदुओं का अध्ययन और सुझाव देना, जिनके द्वारा समग्र सुरक्षित कार्यस्थल वातावरण में सुधार किया जा सकता है।
  3. रिपोर्ट में कार्रवाई बिंदुओं को तत्काल, मध्य-अवधि और दीर्घकालिक के रूप में वर्गीकृत किया जाना है।

ये खबर भी पढ़ें:    SAIL Education News: बोकारो स्टील प्लांट में नवंबर तक इंजीनियरिंग, मैनेजमेंट, मेडिकल में कोई भी ले प्रशिक्षण, आवेदन, प्रशिक्षण प्रक्रिया और सर्टिफिकेट डिजिटलाइज्ड

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!