इंटक ने चलाया सियासी तीर, कहा-श्रमिक विरोधी यूनियन रेल मिल में 229 कर्मचारियों का प्रमोशन रोकने में जुटीं

सूचनाजी न्यूज, भिलाई। भिलाई स्टील प्लांट में मान्यता प्राप्त यूनियन इंटक ने जनसंवाद में कर्मचारियों से संपर्क साधा। फीडबैक लेकर विरोधी यूनियनों पर जुबानी हमला बोला। कहा-श्रमिक विरोधी यूनियन रेल मिल में नए प्रमोशन पॉलिसी का विरोध कर रहे हैं और अपने विभागों में उस पॉलिसी को लागू करवा कर अपना फायदा ले लिए हैं। रेल मिल में दिसंबर 2020 से डीपीसी नहीं हुआ है और जून 2021 दिसंबर 2021 तीन डीपीसी रुका हुआ है।

ये खबर भी पढ़ें: सेक्टर-1 में सुबह छह से सात बजे तक गुल रहेगी बिजली, गंदा आ रहा पानी तो डायल करें 9109169759

अतिरिक्त महासचिव संजय साहू का कहना है कि नॉन एक्जीक्यूटिव प्रमोशन पॉलिसी में रेल मिल के 856 कर्मचारियों में दिसंबर 2020 में 229 लोगों का प्रमोशन होना है, जिसमें डी कलस्टर में 88 कर्मचारियों का प्रमोशन होगा। सी कलस्टर में 132 कर्मचारियों का प्रमोशन होगा और बी कलस्टर में 9 कर्मचारियों का प्रमोशन होगा। कुल 229 लोगों को प्रमोशन का लाभ मिलेगा।

ये खबर भी पढ़ें: कामकाज छोड़ चुनावी प्रचार में मगन रहने वालों पर होगा एक्शन, ‘काम नहीं तो वेतन नहीं’

रेल मिल में प्रमोशन पूर्व वरिष्ठता सूची प्रकाशन करने के पश्चात सिर्फ 10 लोगों ने शिकायत दर्ज की है, जिसका प्रबंधन ने उचित जवाब दे दिया है। प्रबंधन ने अवगत कराया है कि नए प्रमोशन पॉलिसी मे चार्जमैन का पद सुरक्षित रहेगा। कर्मचारियों का कहना है कि श्रमिक विरोधी यूनियनें भविष्य में चुनाव को देखते हुए अपने अस्तित्व को प्रदर्शित करने के लिए विरोध कर रही हैं। इससे कर्मचारियों को नुकसान हो रहा है। 38 विभागों में नई प्रमोशन पॉलिसी लागू हुई है। वहां जाकर देखें कि किसी को नुकसान हुआ है क्या, सभी विभागों में अधिक से अधिक कर्मचारियों को लाभ हुआ है।

ये खबर भी पढ़ें: सेल चेयरमैन सोमा मंडल को चिट्‌ठी लिखकर कहा-सौतेली मां जैसा न करें व्यवहार…

कर्मचारियों ने कहा जल्द नॉन फाइनेंसियल मोटिवेशन स्कीम का गिफ्ट दिया जाए। जो श्रमिक विरोधी यूनियन इसका विरोध कर रही हैं, जिसके कारण प्रबंधन अप्रैल एवं मई का नान फाइनेंसियल मोटिवेशन स्कीम को लागू नहीं किया है, इसे जल्द से जल्द लागू करवाने का इंटक यूनियन प्रयास करें। प्रतिनिधिमंडल में अतिरिक्त महासचिव संजय साहू, उप महासचिव चंद्रशेखर सिंह, कोषाध्यक्ष दीनानाथ सिंह सार्वा, वरिष्ठ सचिव सीपी वर्मा, सचिव बाल सिंह, उपसचिव प्रदीप पाठक, कौशलेंद्र सिंह, विनय पिल्ले उपस्थित थे।

ये खबर भी पढ़ें:   बीएसपी के प्रयासों से बदली भावेश की जिंदगी, एजुकेशन मेरिट में बनाया स्थान

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!