NMDC में लखपति बोनस कर्मचारियों के खाते में आने शुरू, घर-परिवार में आया खुशियों का सैलाब

0
nmdc bonus payment
एक लाख 50 हजार 800 रुपए कर्मचारियों के खाते में आते ही जश्न का माहौल है। एनएमडीसी के कर्मचारी ने सूचनाजी.कॉम को जानकारी दी।
AD DESCRIPTION

NMDC में एक लाख 50 हजार 800 रुपए बोनस आया।

सूचनाजी न्यूज, छत्तीसगढ़। बोनस को लेकर हर तरफ बवाल मचा हुआ है। कोल इंडिया, टाटा स्टील, बालको, एनएमडीसी में बोनस तय हो चुका है। अब एनएमडीसी में भुगतान भी शुरू हो गया है। लखपति बोनस की राशि कर्मचारियों के खातों में आना शुरू हो चुकी है। एक लाख 50 हजार 800 रुपए कर्मचारियों के खाते में आते ही जश्न का माहौल है। एनएमडीसी के कर्मचारी ने सूचनाजी.कॉम को बताया कि बोनस की राशि देखते ही परिवार में हर कोई खुश है।

त्योहार के मौसम में बोनस की रकम आते ही घर की कई जरूरतें पूरी हो जाएंगी। साथ ही भविष्य के लिए भी इंवेस्टमेंट किया जा सकेगा। दूसरी ओर स्टील अथॉरिटी ऑफ इंडिया लिमिटेड-सेल के कर्मचारियों का बोनस अब तक तय नहीं हो सका है। 10 अक्टूबर को तीसरी बार बैठक होनी है। यूनियन ने 45 हजार रुपए बोनस की मांग की है। जबकि प्रबंधन 26 हजार से ज्यादा देने को तैयार नहीं है।

AD DESCRIPTION AD DESCRIPTION

एनएमडीसी के कर्मचारियों के लिए अच्छी खबर है। टाटा स्टील के बाद सबसे ज्यादा से बोनस की राशि एनएमडीसी के कर्मचारियों को मिल गई है। करीब 6 हजार कर्मचारियों को एक अक्टूबर तक बोनस की राशि दिए जाने की बात सामने आई थी, जिस पर अमल कर दिया गया है। वर्ष 2021-22 के लिए एक लाख 50 हजार 800 रुपए बोनस की राशि तय की गई है।

ये खबर भी पढ़ें…. SAIL Bonus: बोकारो स्टील प्लांट के प्रदर्शनकारी डटे रहे मेन गेट पर, प्रबंधन पिछले रास्ते से कर्मियों को ले गया ड्यूटी, देखें तस्वीरें

वार्षिक प्रदर्शन प्रोत्साहन योजना के तहत कंपनी के प्रत्येक पात्र कामगार को प्रबंधन 1, 50,800 की राशि का भुगतान करने करने जा रही है। नियमित वेतनमान में वेतन/मजदूरी प्राप्त करने वाली कंपनी (अपरेंटिस अधिनियम के तहत लगे अपरेंटिस को छोड़कर) के नियमित रोल पर कार्यरत सभी कामगारों को लाभ मिलेगा। इसके अलावा ऐसे कामगारों के लिए जिन्होंने पूरे वर्ष 2021-22 के लिए कंपनी की सेवा नहीं की थी या जो ‘वेतन की हानि’ पर बने रहे और, तदनुसार, ऐसी अवधि के लिए मजदूरी नहीं लेते थे, देय राशि की गणना आनुपातिक आधार पर की जाएगी आधार। गणना वास्तविक उपस्थिति और अधिकृत अवकाश आदि के आधार पर की जाएगी। प्रबंधन का कहना है कि 1.10.2022 को या उससे पहले पात्र कामगार जो ऑनरोल हैं, उन्हें राशि दी जाएगी।

ये खबर भी पढ़ें….:डाक विभाग के स्पेशल कवर पर सेल-राउरकेला स्टील प्लांट की विकास गाथा

AD DESCRIPTION AD DESCRIPTION

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here