प्रभु जगन्नाथ की बीमारी दूर, नेत्र उत्सव के बाद मौसी के घर जाने को तैयार, एक जुलाई को रथयात्रा, प्रेम प्रकाश पांडेय करेंगे छेरा पंहरा का अनुष्ठान

सूचनाजी न्यूज, भिलाई। श्री जगन्नाथ मंदिर सेक्टर-4 में प्रतिवर्षानुसार इस वर्ष भी महाप्रभु श्री जगन्नाथ जी की 53 वें रथयात्रा महोत्सव 2022 मनाने जा रही है। 29 जून को महाप्रभु का नेत्र उत्सव कार्यक्रम धूमधाम से मनाया गया। जगन्नाथ मंदिर सेक्टर-4 में नेत्र उत्सव का आयोजन परंपरा अनुसार किया गया। देव स्नान पूर्णिमा के पश्चात लंबी बीमारी के बाद महाप्रभु श्री जगन्नाथ जी के मंदिर के पट खोले गए। नेत्र उत्सव के पारम्परिक पूजा अर्चना हवन-पूजन के पश्चात् मंगलध्वनि व घंटावादन के साथ श्रद्धालुओं ने प्रभु का प्रथम दर्शन किया। नेत्र उत्सव के दौरान उपस्थित श्रद्धालुओं ने महाप्रभु के नवयौवन रूप का दर्शन किया। भारी भीड़ के मध्य सम्पन्न नेत्र उत्सव के बाद महाप्रभु मौसी के घर जाने के लिए तैयार हुए।

ये खबर भी पढ़ें: सेक्टर-1 से 6 तक 30 जून को घरों में नहीं आएगा पानी, कर लीजिए इंतजाम

जगन्नाथ समिति सेक्टर-4 के महासचिव सत्यवान नायक ने बताया कि महाप्रभु श्री जगन्नाथ की रथयात्रा एक जुलाई दिन शुक्रवार को दोपहर 1 बजे सेक्टर-4, सड़क-15 स्थित श्री जगन्नाथ मंदिर से प्रारंभ होकर सेंट्रल ऐवेन्यु होते हुए सेक्टर- 10 में निर्मित गुंण्डिचा मंडप में पंहुचेगी। इसमें मुख्य अतिथि के रुप में प्रदेश के पूर्व उच्च शिक्षा मंत्री प्रेम प्रकाश पांडेय के करकमलों से छेरा पंहरा का धार्मिक अनुष्ठान संपंन्न किया जाएगा। पुरी में यह परम्परा पुरी के महाराज सम्पन्न करते है। अतः सभी श्रद्धालुओं से अनुरोध है कि इस पवित्र व महत्वपूर्ण कार्यक्रम को सम्पन्न करने हेतु मंदिर प्रांगण में दोपहर 12-30 बजे उपस्थित होकर महाप्रभु श्री जगन्नाथ जी का पुण्य दर्शन प्राप्त करें।

ये खबर भी पढ़ें: भिलाई स्टील प्लांट से जून में रिटायर होने वाले अधिकारियों को डायरेक्टर इंचार्ज ने दी विदाई

इस उत्सव को सफल बनाने में जगन्नाथ समिति के अध्यक्ष वीरेन्द्र सतपथी व महासचिव सत्यवान नायक सहित समिति के पदाधिकारी बसंत प्रधान, डी त्रिनाथ, अनाम नाहक, भीम स्वांई, त्रिनाथ साहू, सुषांत सतपथी, बीसी बिस्वाल, वृंदावन स्वांई, प्रकाष दास, कालू बेहरा, निरंजन महाराणा, रंजन महापात्र, एस सी पात्रो, बीस केषन साहू, कवि बिस्वाल, रमेष कुमार नायक, सीमांचल बेहरा, सुदर्षन शांती, संतोष दलाई, शंकर दलाई, प्रकाष स्वांई,कैलाश पात्रो ने महत्वपूर्ण योगदान दिया। इस उत्सव में बड़ी संख्या में श्रद्धालु उपस्थित थे।

ये खबर भी पढ़ें: भिलाई स्टील प्लांट में 57 साल के एचएसएलटी मजदूर की मौत, मचा हड़कंप

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!