बीएसपी आवास आवंटन पॉलिसी में करें बदलाव, कर्मियों को चाहिए बड़ा मकान

-एचएमएस यूनियन के महामंत्री प्रमोद कुमार ने आवास आवंटन नीति में परिवर्तन की मांग की है।
-सन 1998 से 2008 तक भर्ती न होने के कारण S-6 में बहुत कम कर्मचारी रह गए हैं।
-आवास आवंटन नीति में एस-6 ग्रेड में कार्यरत कर्मचारी को ही एनक्यू-4 का आवास सब्जेक्ट-टू-वेकेशन में लेने की पात्रता है।
-एस-4-5 ग्रेड में कार्यरत कर्मचारियों को एनक्यू 4 के आवास आवंटन के लिए पात्र किया जाए।

सूचनाजी न्यूज, भिलाई। भिलाई इस्पात प्रबंधन द्वारा 400 वर्ग फीट के आवासों को लाइसेंस पद्धति से भिलाई इस्पात संयंत्र से सेवानिवृत्त होने वाले कर्मचारियों को आवंटित करने का नियम बनाया है। संयंत्र के पास ऐसे कई आवास हैं, जो 200 वर्ग फीट से कम के हैं, जिसे ट्विन अलॉटमेंट के अंतर्गत कर्मचारियों ने आवंटित कराया है। ऐसे आवास सामान्यतः ऐसे कर्मचारी जो पूर्व में कैंटीन में थे अथवा अनुकंपा नियुक्ति के द्वारा बीएसपी की सेवा में आए हुए हैं, उनके नाम आवंटित है। सेवानिवृत्त होते समय ऐसे कर्मचारी ग्रेड S-5-6 में सेवानिवृत्त हो रहे हैं, जिनको अंतिम भुगतान के रूप में 20 से 25 लाख रुपए प्राप्त होता है।

ये खबर भी पढ़ें: BSP की 10 करोड़ की जमीन पर BEC संग कब्जेदार ने बनाया बगीचा, हो रहा था आम का व्यापार

यदि कर्मचारी ने ट्विन अलॉटमेंट के अंतर्गत आवास आवंटित कराया है तो उसे आवास को लाइसेंस पद्धति से आवंटित कराने पर 10 लाख रुपए अमानत राशि बीएसपी में जमा करनी पड़ रही है, जो इन कर्मचारियों के लिए संभव नहीं है। इस कारण आवास अवैध कब्जे में भी जा रहा है।

ये खबर भी पढ़ें:  Christmas Celebrations In Bhilai: प्रभु यीशु के आगमन का संदेश देने निकली महारैली

इसी संबंध में यूनियन ने डायरेक्टर इंचार्ज अनिर्बान दासगुप्ता के नाम संबोधित मांग पत्र आईआर विभाग को सौंप दिया है। ऐसे आवास जो 200 स्क्वायर फीट से कम के हैं एवं कर्मचारी ने ट्विन एलॉटमेंट के तहत 2 आवास आवंटित कराये हैं तो ऐसे दो आवासों को एक मानते हुए लाइसेंस पर देने की मांग की गई है। 10 लाख के स्थान पर 5 लाख की की अमानत राशि ली जाए।

ये खबर भी पढ़ें: SFI के राज्य स्तरीय कन्वेंशन में इन्हें मिली नई जिम्मेदारी, जानें नाम

एचएमएस यूनियन के महामंत्री प्रमोद कुमार ने पत्र में आवास आवंटन नीति में परिवर्तन की मांग की है। सन 1998 से 2008 तक भर्ती न होने के कारण S-6 में बहुत कम कर्मचारी रह गए हैं। आवास आवंटन नीति में एस-6 ग्रेड में कार्यरत कर्मचारी को ही एनक्यू-4 का आवास सब्जेक्ट-टू-वेकेशन में लेने की पात्रता है। इसे बदलने की आवश्यकता है, क्योंकि आवास खाली हो रहे हैं। लेकिन पात्र कर्मचारी नहीं है। इसलिए एस-4-5 ग्रेड में कार्यरत कर्मचारियों को एनक्यू 4 के आवास आवंटन के लिए पात्र किया जाए।

ये खबर भी पढ़ें: SAIL के अधूरे वेतन समझौते की खत्म होती जा रही मियाद, अब तो बुलाइए एनजेसीएस मीटिंग…

इस संबंध में नगर प्रशासन विभाग को पहले भी ज्ञापन देकर चर्चा की गई थी। लेकिन कोई पहल नहीं हुई है। ज्ञापन देते समय हरिराम यादव, प्रमोद कुमार मिश्र, साजिद हुसैन, वीके सिंह, विनोद वासनिक, अक्षय वर्मा, देव सिंह चौहान, कृष्ण बलराम यादव, सुनील सिंह कुशवाहा आदि मौजूद थे।

ये खबर भी पढ़ें: Senior Citizen Income Tax Act: आयकर से जुड़े सवालों के जवाब पढ़ें

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!