सेल के ठेका मजदूरों को दोयम दर्ज का समझने की भूल न करे प्रबंधन, बोकारो में क्रमिक अनशन जारी

0
citu bokaro anshan
कोक ओवन, स्लैग डम्प, ब्लास्ट फर्नेस, हॉट स्ट्रीप मिल और सीआरएम के कर्मचारी गुरुवार को अनशन पर बैठे।सीटू द्वारा ठेका मजदूरों का अनशन जारी रहा।
AD DESCRIPTION

यूनियन के संयुक्त महामंत्री बीडी.प्रसाद ने प्रबंधन को अगाह करते हुए कहा कि ठेका मजदूरों को प्लांट का दोयम दर्जे का मजदूर समझने की भूल न करे।

सूचनाजी न्यूज, बोकारो। बोकारो स्टील प्लांट के मजदूरों का क्रमिक अनशन जारी है। दीपावली के पहले ठेका मजदूरों को बोनस के साथ-साथ 5000 स्पेशल रिवार्ड और ठेका मजदूरों के लिए ग्रेच्युटी का प्रवधान करने की मांग की जा रही है। दूसरे दिन भी सीटू द्वारा ठेका मजदूरों का अनशन जारी रहा। कोक ओवन, स्लैग डम्प, ब्लास्ट फर्नेस, हॉट स्ट्रीप मिल और सीआरएम के सतीश कुमार, मोतीलाल मांझी, त्रिलोकी साव, प्रेमचन्द मांझी, विनोद बिहारी मुर्मू, बोझा मांझी और मुन्नी बाला ठेका मजदूरों ने अनशन में भाग लिया। ठेका मजदूर काफी उत्साहित हैं।

ये खबर भी पढ़े …दुर्ग-भिलाई की सड़कों पर अब नहीं खाने पड़ेंगे हिचकोले, 44 करोड़ में 288 सड़कों की सुधरेगी सेहत

AD DESCRIPTION AD DESCRIPTION

यूनियन के संयुक्त महामंत्री बीडी.प्रसाद ने प्रबंधन को अगाह करते हुए कहा कि ठेका मजदूरों को प्लांट का दोयम दर्जे का मजदूर समझने की भूल न करे। ठेका मजदूर भी पढ़ा-लिखा मजदूर है। लोहा ढोने से लेकर मशीन ऑपरेटर तक का काम करते हैं। उनके भी बच्चे और परिवार है। ठेका मजदूरों के साथ प्रबंधन भेद भाव न करे। दीपावली से पूर्व ठेका मजदूरों को बोनस के साथ-साथ 5000 स्पेशल रिवार्ड का भुगतान अविलंब करें।

ये खबर भी पढ़े …Share Market Updates: बैंकिंग सेक्टर टॉप लूजर, सेल-ओएनजीसी, कोल इंडिया और अडानी कमाई में निकले आगे

उन्होंने जोर देकर कहा कि सच्चाई है बीस हजार से भी ज्यादा ठेका मजदूर बोकारो स्टील प्लांट में काम करते हैं, जो स्थाई मजदूरों से दो गुणा है। ठेका मजदूरों के लिए भी एक सिस्टम बनाया जाए,जिसके तहत उनकी मजदूरी, भुगतान, स्थाई काम करने वाले मजदूरों को स्थाई करने, छूट्टी, ग्रेच्युटी, कम्पनी हॉस्पिटल में चिकित्सा सुविधा,आवास, ग्रुप इंश्योरेंस पॉलिसी,दूर्घटना से मौत के बाद परिवार को मदद एवं सुविधा, सुरक्षा की पुख्ता व्यवस्था, अन्य भत्ते तथा सुविधाओं आदि की स्पष्ट उल्लेख हो, ताकि ठेका मजदूरों का शोषण बंद हो सके। ठेका मजदूर भी सेल के मजदूर हैं। कार्यक्रम की अध्यक्षता के.एन.सिंह ने किया।

ये खबर भी पढ़े …आधी से भी कम कीमत में मिल रही धन्वतंरी स्टोर्स की दवाओं ने सुधार दी आर्थिक सेहत भी

AD DESCRIPTION AD DESCRIPTION

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here