बीएसपी का नॉन वर्क्स-2 पर्सनल आफिस एक्सपांशन बिल्डिंग से इस्पात भवन नॉन वर्क्स-1 में मर्ज, एक टेबल पर मिलेगी सारी सुविधा

कार्मिक कार्यालय (गैर संकार्य-2) एक्सपांशन भवन में संचालित हो रहा था, जहां से प्रोजेक्ट्स, अग्निशमन सेवाएं तथा मानव संसाधन विकास विभाग को कार्मिक सेवाएं प्रदान की जा रही थी। इस कार्यालय के गैर संकार्य-1 में विलय हो जाने से अब यह इस्पात भवन के चौथे माले से संचालित होगा।

सूचनाजी न्यूज, भिलाई। भिलाई इस्पात संयंत्र के कार्मिक विभाग द्वारा कार्मिकों की सेवाओं में बेहतरी के लिए किए जा रहे प्रयासों के क्रम में कार्मिक कार्यालय (गैर संकार्य-2) का विलय कार्मिक कार्यालय (गैर संकार्य-1) के साथ किया गया। उल्लेखनीय है कि कार्मिक कार्यालय (गैर संकार्य-2) एक्सपांशन भवन में संचालित हो रहा था, जहां से प्रोजेक्ट्स, अग्निशमन सेवाएं तथा मानव संसाधन विकास विभाग को कार्मिक सेवाएं प्रदान की जा रही थी। इस कार्यालय के गैर संकार्य-1 में विलय हो जाने से अब यह इस्पात भवन के चौथे माले से संचालित होगा। दोनों कार्यालय (गैर संकार्य-1 एवं 2) को कार्मिक गैर संकार्य (पर्सनल नॉन-वर्क्स) के रूप में जाना एवं पहचाना जाएगा।

ये खबर भी पढ़ें: सेल-बोकारो स्टील प्लांट ने 169% मुनाफ के साथ सबसे ज्यादा रिकॉर्ड बनाया और तोड़ा 2021-22 में, आप भी जानिए आंकड़े


इस विलय से कार्मिकों को त्वरित रूप से सेवाएं प्रदान करने में सहुलियत होगी। आंतरिक विभागीय वर्गीकरण को समाप्त करने से सामूहिक उत्तरदायित्व के साथ सेवाएं उपलब्ध कराना संभव हो सकेगा। औपचारिक रूप से दोनों कार्मिक कार्यालय (गैर संकार्य-1 एवं 2) के विलय का उद्घाटन शनिवार को मुख्य महाप्रबंधक (कार्मिक) निशा सोनी के हाथों हुआ। इस अवसर पर महाप्रबंधक (कार्मिक-खदान एवं गैर संकार्य) सूरज कुमार सोनी, उप महाप्रबंधक (कार्मिक- गैर संकार्य) लक्ष्मण बावने एवं गैर संकार्य के कार्मिक अधिकारी बीएल साहू, उषा साजी तथा विभाग के समस्त कार्मिक उपस्थित थे।

ये खबर भी पढ़ें: ड्यूटी जा रहा सेल कर्मचारी सड़क हादसे का शिकार, वाहन ने मारी ठोकर, मौके पर मौत, दो साल बचा था रिटायरमेंट

मुख्य महाप्रबंधक (कार्मिक) निशा सोनी ने कहा कि इस विलय से कार्मिकों को बेहतर सेवाएं प्रदान करना और आसान होगा। उन्होंने आगे कहा कि वैसे तो कार्मिकों को पहले ही ऑनलाइन सुविधाओं से जोड़ा जा चुका है पर फिर भी किसी विषेश कार्य हेतु व्यक्तिगत रूप से कार्मिक कार्यालय आने पर कार्मिकों को एक ही टेबल-एक ही कार्यालय से त्वरित सुविधा प्रदान करना संभव होगा।

ये खबर भी पढ़ें: Bhilai Steel Plant Incident: स्टील मेल्टिंग शॉप-2 में धमाका, क्रेन से छुटा 120 टन हॉट मेटल के लेडल का हुक, चार कर्मी झुलसे, देखें तस्वीरें

इस अवसर पर सूरज कुमार सोनी ने भी ऐसे विलय से होने वाले फायदों के बारे में अपने अनुभव साझा किए। इस विलय में सक्रिय भूमिका निभाने वाले विभागों जैसे डिस्पोजल स्टोर्स, संपर्क एवं प्रशासन, इस्पात भवन-नगर सेवाएं विद्युत, इनकॉस तथा गैर संकार्य विभाग के अभिवादन के साथ कार्यक्रम का समापन हुआ।

ये खबर भी पढ़ें: सेक्टर-9 हॉस्पिटल में डायबिटीज क्लीनिक शुरू, इंसुलिन लगाने और ग्लूकोमीटर से शूगर को नापने का मिलेगा प्रशिक्षण

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!