मोदीजी की घोषणा-अगले डेढ़ साल में मिशन मोड में देंगे 10 लाख नौकरी

सूचनाजी न्यूज, भिलाई। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने सभी विभागों और मंत्रालयों में मानव संसाधन की स्थिति की समीक्षा की है। उन्होंने यह निर्देश भी दिया है कि अगले डेढ़ साल में सरकार द्वारा मिशन मोड में 10 लाख लोगों की भर्ती की जाए। इस बात की पुष्टि प्रधानमंत्री कार्यालय ने ट्वीट कर की है। पीएम मोदी के कार्यालय की तरफ से किए गए ट्वीट में स्पष्ट शब्दों में लिखा गया कि नरेन्द्र मोदी ने सभी विभागों और मंत्रालयों में मानव संसाधन की स्थिति की समीक्षा की और निर्देश दिया कि अगले डेढ़ साल में सरकार द्वारा मिशन मोड में 10 लाख लोगों की भर्ती की जाए।

केंद्रीय गृह एवं सहकारिता मंत्री अमित शाह ने सभी सरकारी विभागों व मंत्रालयों में 1.5 साल में मिशन मोड में 10 लाख भर्तियां करने के लिए प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी द्वारा दिए गए निर्देश के लिए उनका धन्यवाद किया। एक ट्वीट के ज़रिए केंद्रीय गृह मंत्री ने कहा कि नए भारत का आधार उसकी युवा शक्ति है, जिसको सशक्त बनाने के लिए मोदी जी निरंतर कार्यरत है। मोदी जी द्वारा सभी सरकारी विभागों व मंत्रालयों में 1.5 साल में मिशन मोड में 10 लाख भर्ती करने का निर्देश युवाओं में नयी आशा और विश्वास लायेगा। 1.5 साल में सभी सरकारी विभागों और मंत्रालयों में 10 लाख भर्तियां करने के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के निर्देशानुसार केन्द्रीय गृह मंत्रालय ने मिशन मोड में रिक्तियों को भरने के लिए कदम उठाए हैं।

ये खबर भी पढ़ें: SAIL ED Interview: बीएसपी के 7 सीजीएम का ईडी बनना लगभग तय, बर्नपुर जाएंगे तापस दास, बोकारो, राउरकेला, दुर्गापुर को मिलेगा नया ईडी

पीएमओ के इस ट्वीट पर कोई भविष्य की संभावनाओं और सरकार के फैसले पर खुशी जाहिर कर रहा है तो कोई विरोध में कमेंट कर रहा है। कई लोगों ने लिखा-पीएम साहब हमारी नौकरी चली गई है, उसी को वापस दिला दीजिए। इसी तरह एक महिला ने कटाक्ष करते हुए लिखा कि हर साल दो करोड़ नौकरी देने की बात सरकार कर रही थी। अब अगले डेढ़ साल में महज 10 लाख नौकरी देने की बात सामने आ रही है। कृष्ण कुमार ने लिखा-टू करोड़ टू डायरेक्ट 10 लाख…।

ये खबर भी पढ़ें:  इस्पात राज्यमंत्री से अधिकारियों ने कहा-एफएसएनएल को बेचने से बचाइए, मंत्री का जवाब-मामला आगे बढ़ चुका…दिल्ली में करेंगे चर्चा

एआइएमआइएम के सुहैल अहमद ने लिखा-इससे साफ पता चलता है कि देश की अर्थ व्यवस्था कहां पहुंच गई है। जब सत्ता में आए तो 2 करोड़ रोजगार देने का वादा किया था, लेकीन वही 2 करोड़ से अब डेढ़ साल में 10 लाख पहुंच गया है। मुजफ्फरपुर के अर्जुन ओबेराय ने कटाक्ष करते हुए लिखा-ये सटीक जुगाड़ है। चुनाव प्रचार का खर्च निकालने के लिए…। सरकार वैकेंसी तो देगी, मगर क्लियर नहीं करेगी और लोग इस वजह से इन्हें वोट करेंगे कि सरकार बदली तो भर्ती लटक जाएगी! अच्छा गेम खेल रहे हैं ये लोग…। पीएमओ के ट्वीट पर प्रतिक्रिया देते हुए हिंमाशु सिंह ने लिखा-जब नजदीक चुनाव आता है, भात मांगों पुलाव आता है…।

ये खबर भी पढ़ें:   BSP Task Force: 22 करोड़ खर्च करने के बाद भी नहीं थमे हादसे, आफिसर्स एसोसिएशन-यूनियन प्रतिनिधि देंगे दस दिनों में रिपोर्ट, बताएंगे समाधान

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!