बोनस फॉर्मूला बनने से ही नूरा कुश्ती होगी बंद, दान नहीं पीबीटी के 5% का दें अधिकार

0
bsl diplomadhari
बोकारो इस्पात डिप्लोमाधारी कामगार यूनियन के विभागीय प्रतिनिधियों द्वारा बोनस समीक्षा बैठक की गई। बोनस कर्मचारियों का अधिकार है।
AD DESCRIPTION

अध्यक्ष संदीप कुमार ने कहा-बोनस कर्मचारियों का अधिकार है। इसे दान के रूप में नहीं, अधिकार के रूप में ही दिया जाना चाहिए।

सूचनाजी न्यूज, बोकारो। सेल बोनस को लेकर बोकारो स्टील प्लांट (BSL) के बोकारो इस्पात डिप्लोमाधारी कामगार यूनियन ने समीक्षा बैठक की। सेक्टर-4G स्थित कार्यालय में सभी विभागीय प्रतिनिधियों द्वारा बोनस समीक्षा बैठक की गई। बैठक को संबोधित करते हुए यूनियन के महामंत्री एम. तिवारी ने कहा कि कर्मचारियों को मिलने वाला बोनस/एक्सग्रेसिया कर्मचारियों द्वारा किए गए मेहनत का प्रतिफल होता है।

ये खबर भी पढ़े …ए जी सुनते हो…! बोनस से रानी-हार की बनवाई का खर्च आया, 50 ग्राम सोना क्यों नहीं दिलाया

AD DESCRIPTION AD DESCRIPTION

कंपनी को हुए मुनाफे में कर्मचारी और अधिकारी दोनों का योगदान है। इस वर्ष कम्पनी के मुनाफे को देखते हुए दुर्गा पूजा से पहले बहुत अच्छा बोनस मिलने की उम्मीद थी। लेकिन ऐसा नही हो सका। और अब जब बोनस फाइनल हुआ तो वो भी दो किस्तों में। और मुद्दों की तरह ये भी लंबित ना रह जाए।
ये खबर भी पढ़े …दिव्यांग कर्मचारी से रिसाली मेंटेनेंस आफिस का लगवाया चक्कर, मरम्मत न होने से मासूम बच्चे के पास गिरा छत का प्लास्टर, बची जान

अध्यक्ष संदीप कुमार ने कहा-बोनस कर्मचारियों का अधिकार है। इसे दान के रूप में नहीं, अधिकार के रूप में ही दिया जाना चाहिए। ये तभी संभव हो सकता है, जब बोनस के लिए कर्मचारियों के हितों को ध्यान में रखते हुए पीबीटी के 5 % के साथ बोनस के लिए फॉर्मूला बनाया जाए।

ये खबर भी पढ़े …RINL को बिकने से बचाने की लड़ाई पहुंची भारत जोड़ो यात्रा तक, आधे घंटे तक Rahul Gandhi ने सुनी दास्तां, कहा-बचाएंगे PSU

पदाधिकारियों ने कहा कि इसलिए एनजेसीएस और प्रबंधन को इस बात को अच्छी तरह समझ लेना चाहिए कि हर वर्ष बोनस के समय पर फैसला लेने के लिए प्रबंधन और एनजेसीएस के बीच नूरा कुश्ती खेलने की परंपरा को समाप्त करते हुए बोनस के लिए एक सही स्किम बनाई जाए। जिससे कि कर्मचारी भी अपने आप को कंपनी के मुनाफे में भागीदार समझ सकें।

ये खबर भी पढ़े …सेल के ठेका मजदूरों को दोयम दर्ज का समझने की भूल न करे प्रबंधन, बोकारो में क्रमिक अनशन जारी

इसके साथ ही साथ सभी लंबित मुद्दों जिसमे सम्मानजनक पदनाम, बकाया एरियर का भुगतान, नाइट अलाउंस इन सभी मुद्दों को जल्द से जल्द समाधान करवाया जाए। बैठक में कार्यकारी सदस्य रविशंकर, पप्पू यादव, सोनू शाह, आनंद रजक, नितेश कुमार, सिद्धार्थ सेन, सूरज कंसारी, नरेंद्र दास, रितेश कुमार, प्रेमनाथ, शैलेन्द्र तिवारी, राहुल सिंह, चंदन द्विवेदी, राहुल दुबे, शिवनाथ,अमन बास्की आदि सभी प्रतिनिधि शामिल थे।

ये खबर भी पढ़े …सीटू की चुनावी नैय्या पहुंची सेक्टर-9 हॉस्पिटल, मेडिकल ज़ोन के सम्मेलन में चुने गए सदस्यों की सूची घोषित

AD DESCRIPTION AD DESCRIPTION

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here