निर्वाचित यूनियन ही बोनस मीटिंग से बाहर, जानिए विश्वेश्वरैया और सेलम स्टील प्लांट का दर्द, एक लाख बोनस की मांग

0
visl j jagdisha, selam lpf perumal
विश्वेश्वरैया आयरन स्टील प्लांट वर्कर्स एसोसिएशन और सेलम स्टील प्लांट की मान्यता प्राप्त यूनियन लेबर प्रोग्रेसिव फेडरेशन-एलपीएफ ने उठाए सवाल।
AD DESCRIPTION

एलपीएफ के जनरल सेक्रेटरी जी.पेरुमल ने एक लाख रुपए बोनस की मांग की है।

सूचनाजी न्यूज, भिलाई। स्टील अथॉरिटी ऑफ इंडिया लिमिटेड-सेल (SAIL) के कर्मचारियों की नजर बोनस पर टिकी हुई है। सेल के इंटीग्रेटेड प्लांट के कर्मचारियों की बातें सबके सामने आ रही है। वहीं, सेल की दो ऐसी यूनिट भी है, जहां मान्यता प्राप्त यूनियन बोनस मीटिंग से दूर है। कोर कमेटी का सदस्य न होने की वजह से बोनस मीटिंग से बाहर रखा गया है। इस बात की तकलीफ सेलम स्टील प्लांट और विश्वेश्वरैया स्टील प्लांट की निर्वाचित यूनियन को है।

BWU ने चलाया शब्द बाण, कहा-प्लांट के गेट पर नहीं, 7-स्टार होटल के बाहर कीजिए प्रदर्शन, जहां बोनस के लिए जुटेंगे NJCS नेता

AD DESCRIPTION AD DESCRIPTION

विश्वेश्वरैया आयरन स्टील प्लांट वर्कर्स एसोसिएशन के अध्यक्ष जे. जगदीशा ने सूचनाजी.कॉम को बताया कि बहुत अफसोस की बात है कि हम लोग निर्वाचित हैं, लेकिन बोनस मीटिंग से बाहर रखा गया है। प्रबंधन से मांग करने के बाद भी कोई सुनवाई नहीं हुई। हमारी मांग है कि बोनस फॉर्मूला तय होना चाहिए। पीआरपी के तर्ज पर बात करनी चाहिए।

ये खबर भी पढ़ें:…SAIL-SEFI Meeting: सेल का कर्ज 13000 करोड़ से बढ़कर 28000 करोड़ हुआ, कंपनी ने कुछ में भरी हामी, बाकी में आश्वासन देने से इन्कार

बोनस मीटिंग में जो लोग राशि तय करते हैं, उसमें से ज्यादातर रिटायर्ड हैं। राष्ट्रीय यूनियन के नाम पर बैठते हैं। कर्मचारियों की भावनाओं को नहीं समझ पाते हैं। यही वजह है कि हड़ताल सफल नहीं होती है। इसी का फायदा उठाकर प्रबंधन अपनी मनमानी करती है। पांचों यूनियन अपनी-अपनी विचारधारा की वजह से एकजुट नहीं हो पाती हैं। सीधा फायदा प्रबंधन को मिलता है।

ये खबर भी पढ़ें: …कम बोनस पर सेल से समझौता नहीं स्वीकार, वैसे-हड़ताल और कोर्ट का खुला है द्वार

दूसरी ओर सेलम स्टील प्लांट की मान्यता प्राप्त यूनियन लेबर प्रोग्रेसिव फेडरेशन-एलपीएफ के जनरल सेक्रेटरी जी.पेरुमल ने एक लाख रुपए बोनस की मांग की है। राष्ट्रीय नेताओं को इससे सूचित भी कर दिया है। एनजेसीएस मीटिंग में एलपीएफ को शामिल न करने पर आपत्ति दर्ज करा चुके हैं।

ये खबर भी पढ़ें:…SAIL-BSP ने सरिया उत्पादन में रचा कीर्तिमान, कर्मचारियों-अधिकारियों के हाथ आया 62.5 ग्राम चांदी का सिक्का, ठेका मजदूरों को भी मिला गिफ्ट

AD DESCRIPTION AD DESCRIPTION

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here