सेल प्रबंधन को खुली चुनौती, 39 महीने का एरियर देना है तो दीजिए, वरना कोर्ट में निपटेंगे

अज़मत अली, भिलाई। स्टील अथॉरिटी ऑफ इंडिया लिमिटेड-सेल के कर्मचारियों का बकाया एरियर विवाद कानूनी रूप ले सकता है। 39 माह के बकाया एरियर की मांग की जा रही है, जिस पर प्रबंधन की ओर से अब तक खुलकर कोई जवाब नहीं दिया गया है। सेल की हर इकाइयों के ट्रेड यूनियन नेताओं ने अपने-अपने स्तर पर आवाज उठाई है। लेकिन कहीं से कोई सुराग नहीं मिलने से गुस्सा भड़कता जा रहा है।

सेल के ही कर्मचारियों में भेदभाव, लोइमू ने प्रबंधन को झकझोरा, नहीं संभले तो उत्पादन पर पड़ेगा असर

अधिकारी वर्ग को पीआरपी का भुगतान होने के बाद तिलमिलाए कर्मचारियों ने सोशल मीडिया पर सेल प्रबंधन को कोसने का ग्राफ तेज कर दिया है। इसी बीच राउरकेला इस्पात कारखाना कर्मचारी संघ ने सेल चेयरमैन सोमा मंडल को चेतावनी पत्र के रूप में रिमांडर भेजकर जून तक भुगतान करने की मांग की है। साथ ही यह भी चेतावनी दी गई है कि एरियर देना है तो दीजिए, वरना कोर्ट में निपटा जाएगा।

राउरकेला स्टील प्लांट ने देशभर के 100 बड़े ग्राहकों संग बुना कारोबारी ताना-बानाhttps://suchnaji.com/rourkela-steel-plant-with-100-big-customers-across-the-country-has-woven-business-fabric/

राउरकेला इस्पात कारखाना कर्मचारी संघ के अध्यक्ष हिमांशु शेखर बल ने सूचनाजी.कॉम को बताया कि कर्मचारियों के सब्र का बांध अब टूट रहा है। प्रबंधन लगातार इम्तिहान ही ले रहा है। मुनाफे के दौर में कर्मचारियों को प्रताड़ित किया जा रहा है। बकाया एरियर कर्मचारियों का हक है। कर्मचारी अपना हक मांग रहे हैं, किसी की दया और कृपा नहीं।

हिमांशु बल ने बताया कि सेल चेयरमैन को संबोधित एक पत्र पूर्व में भेजा जा चुका है। बकाया एरियर भुगतान की गुहार लगाई गई। लेकिन इस पत्र पर कोई कार्रवाई नहीं की गई है। इस वजह से सेल चेयरमैन सोमा मंडल को रिमांडर भेजा गया है।

Exclusive News: सेल चेयरमैन सोमा मंडल और डायरेक्टर इंचार्ज अनिर्बान दासगुप्ता को नहीं मिला पीआरपी, बोकारो के अमरेंदु प्रकाश व दुर्गापुर के बीपी सिंह को मिली कम राशि

दूसरी ओर यह भी दावा किया जा रहा है कि सेल प्रबंधन अगर, एरियर भुगतान नहीं करती है तो उसके खिलाफ हाईकोर्ट का दरवाजा खटखटाया जाएगा। ग्रीष्मकालीन अवकाश के बाद जैसे ही कोर्ट खुलेगा, मुकदमा दायर कर दिया जाएगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!