HSLT श्रमिकों की समस्याएं नहीं हो रही कम, अब ईडी से मिलकर सुनाएंगे गम

0
hslt
एचएसएलटी श्रमिकों को एनजेसीएस के दायरे में लाने और मूल पेमेंट का एलाउंस में मर्ज, दल्ली राजहरा के समकक्ष वेतन वृद्धि की मांग की गई है।
AD DESCRIPTION

भिलाई इस्पात औद्योगिक संबंध विभाग में HSLT श्रमिकों का वर्षों से लंबित मांगों को लेकर भिलाई इस्पात मजदूर संघ (बीएमएस) के नेतृत्व में चर्चा की गई।

सूचनाजी न्यूज, भिलाई। भिलाई स्टील प्लांट-बीएसपी में वर्षों से कार्यरत एचएसएलटी श्रमिकों को स्थाई करने की मांग एक बार फिर तेज हो गई है। दल्ली राजहरा के समकक्ष वेतन वृद्धि की मांग की जा रही है। साथ ही एचएसएलटी श्रमिकों के गेटपास के प्रारूप में बदलाव की आवाज उठाई गई है। इसके अलावा वेज रिवीजन के मामले में एचएसएलटी श्रमिकों को एनजेसीएस के दायरे में लाने और मूल पेमेंट का एलाउंस में मर्ज करने की मांग गई है। कैंटीन श्रमिकों का 95 प्रतिशत पेमेंट बीएसपी द्वारा दिया जाता था, उसी प्रकार एचएसएलटी श्रमिकों के पेमेंट की मांग की गई है।

ये खबर भी पढ़ें…सेल बोनस फॉर्मूला अब आया टेबल पर, ईडी पीएंडए ने सात यूनियन नेताओं को थमाई कॉपी, दुर्गापुर में बगावत

AD DESCRIPTION AD DESCRIPTION

भिलाई इस्पात औद्योगिक संबंध विभाग में HSLT श्रमिकों का वर्षों से लंबित मांगों को लेकर भिलाई इस्पात मजदूर संघ (बीएमएस) के नेतृत्व में चर्चा की गई। बीएमएस द्वारा HSLT श्रमिकों का भिलाई इस्पात संयंत्र DPR के तहत स्थाई स्थापना के लिए अपनी मांग रखी।

ये खबर भी पढ़ें…Share Market News: कम समय में ज्यादा पैसा कमाने का फॉर्मूला, शेयर मार्केट में तरक्की की कुंजी ग्राफ रीडिंग और पैटर्न

इस विषय पर भिलाई इस्पात संयंत्र प्रबंधन के औद्योगिक संबंध विभाग के महाप्रबंधक जेएल.ठाकुर द्वारा उच्च प्रबंधन के साथ विचार-विमर्श कर जल्द से जल्द फैसला लेने की बात कही गई। जल्द ही ईडी स्तर के अधिकारियों के साथ बैठक करने का आश्वासन दिया गया है। चर्चा में चन्ना केशवलू-कार्यकारी अध्यक्ष, रविशंकर सिंह-महासचिव बीएमएस एवं एचएसएलटी की ओर से श्याम सुंदर राव, वीनस साईमन-संयोजक एचएसएलटी श्रमिक संघ, रमेश, भुनेशवर, टी. सूरी, बंसत चेलक आदि उपस्थित रहे।

ये खबर भी पढ़ें… मुख्यमंत्री बघेल छत्तीसगढ़वासियों को देंगे एक बड़ी सौगात

AD DESCRIPTION AD DESCRIPTION

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here