कोल इंडिया की 20 बंद भूमिगत खदानों में निजी क्षेत्र की सहभागिता से उत्पादन होगा शुरू

कोल इंडिया की 20 बंद या परित्यक्त भूमिगत कोयला खदानों से निजी क्षेत्र की सहभागिता से रेवेन्यू शेयरिंग मॉडल पर फिर से कोयला उत्पादन शुरू किए जाने के कोल इंडिया के प्रयासों के बारे में भी बैठक में चर्चा हुई।

सूचनाजी न्यूज, भिलाई। देश की बढ़ती ऊर्जा जरूरतों के मददेनजर कोल इंडिया द्वारा आगामी समय में कोयला उत्पादन और बढ़ाए जाने के प्रयासों की कड़ी में कोल इंडिया के अध्यक्ष प्रमोद अग्रवाल ने शनिवार को माइन डेवलपर एंड ऑपरेटर (एमडीओ) के साथ बैठक की। बैठक में कोल इंडिया के निदेशक (तकनीकी) बी. वीरारेड्डी एवं सीएमपीडीआई के सीएमडी मनोज कुमार सहित कोल इंडिया के आला अधिकारी उपस्थित रहे। इस ऑनलाइन बैठक में 24 एमडीओ ने हिस्सा लिया। आगामी समय में कोल इंडिया द्वारा खोली जाने वाली नई कोयला खदानों में से कुछ खदानों से एमडीओ मोड के जरिये कोयला उत्पादन करने की कोल इंडिया की योजना है। इसी कड़ी में आयोजित इस बैठक में एमडीओ ने कोल इंडिया की इस योजना पर अपने विचार एवं सुझाव दिए।

ये खबर भी पढ़ें: हेल्थ इंश्योरेंस प्लान बचत को प्रभावित किए बिना मेडिकल खर्चों को करता है पूरा, तो प्लान नहीं है बुरा

साथ ही, कोल इंडिया की 20 बंद या परित्यक्त भूमिगत कोयला खदानों से निजी क्षेत्र की सहभागिता से रेवेन्यू शेयरिंग मॉडल पर फिर से कोयला उत्पादन शुरू किए जाने के कोल इंडिया के प्रयासों के बारे में भी बैठक में चर्चा हुई। ईसीएल, बीसीसीएल, सीसीएल, एसईसीएल एवं डब्ल्यूसीएल में स्थित इन बंद या परित्यक्त खदानों के लिए निविदा प्रक्रिया में शामिल होने वाले संभावित बोलीदाताओं ने भी बैठक में हिस्सा लिया और कोल इंडिया प्रबंधन से संबंधित जानकारी हासिल की।

ये खबर भी पढ़ें:  World Environment Day 2022: राउरकेला स्टील प्लांट का हॉट स्ट्रिप मिल-2 जीरो लिक्विड डिस्चार्ज कॉन्सेप्ट पर, नदी के पानी की जरूरत नहीं, 52 लाख पेड़ों ने बिछाई है हरियाली की चादर

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!