सेल में दनादन बनते जा रहे रिकॉर्ड, कर्मचारियों को नहीं मिल रहा रिवॉर्ड, कर्मियों ने एनएमडीसी से सीखने का दिया मंत्र

39 माह के बकाया एरियर और प्रोत्साहन राशि न देने पर कर्मचारियों में है खासा नाराजगी।

सूचनाजी न्यूज, भिलाई। स्टील अथॉरिटी ऑफ इंडिया लिमिटेड-सेल के कर्मचारियों का दर्द एक बार फिर सोशल मीडिया पर छलक आया। वित्तीय वर्ष का रिजल्ट आते ही सेल कर्मचारी पुराने आंकड़ों को परोसना शुरू कर चुके हैं। कंपनी को आइना दिखा रहे हैं। एमएमडीसी से तुलना की जा रही है। सेल को बेहतर नतीजे देने वाले कर्मचारियों की झोली खाली होने पर तंज कसा जा रहा है।

ये खबर भी पढ़ें: सेल कर्मचारी को एक घंटे तक बदमाशों ने किया टॉर्चर, हॉकी से की पिटाई, ब्लैकमेल करने जबरन बोलवा रहे थे छेड़खानी की बात

एनएमडीसी ने 40 एमटी आयरन ओर प्रोडक्शन का रिकॉर्ड बनाते ही 40 हजार रुपए प्रोत्साहन राशि देने की घोषणा कर दी थी। यूनियन नेताओं को सिर्फ आभार जताने का मौका मिला था। इधर-सेल में 12015 करोड़ा शुरू मुनाफा होने से पहले और बाद तक यूनियन नेताओं ने मुंह खोलकर मांग की, लेकिन प्रबंधन के कान पर जूं तक नहीं रेंगा। प्रोत्साहन राशि व बकाया एरियर को लेकर अधिकारिक बयान तक नहीं आया है।

ये खबर भी पढ़ें: चेयरमैन के सामने नेताजी ने निकाली भड़ास, कहा-एग्रीमेंट पर साइन करके गुनाह किया, गाली हम खा रहे, ईडी बोले-जून में होगी फुल एनजेसीएस बैठक

सेल के उत्पादन, प्रॉफिट और कम होते कर्ज का आंकड़ा पेश करने वाले कर्मचारियों ने सोशल मीडिया पर लिखा कि अब इतना बढ़िया रिकॉर्ड प्रोडक्शन, बिक्री, टर्नओवर के बावजूद कंपनी कर्मचारियों को प्रोत्साहन राशि देना तो दूर 39 माह का फिटमेंट एरियरऔर 58 माह का पर्क्स एरियर तक नहीं दे रही है। वहीं, वेज रीविजन में 2% एमजीबी व 8.5% पर्क्स में डकैती हो गई। दूसरी ओर अधिकारी वर्ग को बकाया सहित सभी लाभ दिया गया।

ये खबर भी पढ़ें: वाह! चीन की चाल को सेल-बीएसपी ने किया चित, थाईलैंड, नेपाल, यूएई तक भेजा एक लाख टन से ज्यादा स्टील

कर्मचारियों ने लिखा कि एनएमडीसी मैनेजमेंट में सेल तथा आरआइएनएल से गए दो अधिकारी हैं। वहीं, वहां के यूनियनों को डिमांड करने का भी मौका नहीं दिया। बाद मे यूनियनों ने मैनेजमेंट को सिर्फ साधुवाद दिया। इस घोषणा से एनएमडीसी को फायदा यह हुआ कि कर्मियो ने माह के अंतिम तीन दिनों में 2.19 मिलियन टन और आयरन ओर का प्रोडक्शन कर दिया। अपने कार्मिकों को प्रोत्साहित करने का तरीका एनएमडीसी मैनेजमेंट से सीखना चाहिए।

ये खबर भी पढ़ें: एनजेसीएस सब-कमेटी बैठक के बाद एटक नेता पहुंचे चेयरमैन के पास, निलंबन व ट्रांसफर की मार झेल रहे कर्मियों की वापसी का उठाया मुद्दा

कार्मिकों ने पेश किया सेल का आंकड़ा, सोशल मीडिया पर हो रहा वायरल

क्रूड स्टील प्रोडक्शन
2021-22: 17.36 मिलियन टन
2020-21: 15.21 मिलियन टन
इस्पात उत्पादों की बिक्री
2021-22: 16.15 मिलियन टन
2020-21: 14.94 मिलियन टन
रेवेन्यू की प्राप्ति
2021-22: 103473 करोड़
2020-21: 69110 करोड़
कर पूर्व लाभ
2021-22: 16039 करोड़
2020-21: 6879 करोड़
कर पश्चात लाभ
2021-22: 12015 करोड़
2020-21: 3850 करोड़
सेल ने कम किया कर्ज
2021-22: 13,400 करोड़
2020-21: 35,350 करोड़
एक वर्ष: कर्ज में कमी 21950 करोड़

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!